BREAKING NEWS

दुनियाभर में कोरोना केस का आंकड़ा 13.58 करोड़ से अधिक, मरने वालों का आंकड़ा 29.3 लाख के पार ◾टीका उत्सव के पहले दिन 27 लाख से अधिक लोगों को लगी कोरोना वैक्सीन : स्वास्थ्य मंत्रालय◾राकेश टिकैत बोले- केंद्र सरकार आमंत्रित करती है तो किसान वार्ता के लिए तैयार◾आज का राशिफल (12 अप्रैल 2021)◾ प्रधानमंत्री मोदी ने कर्नाटक को माइक्रो कंटेनमेंट जोन पर ध्यान केंद्रित करने को कहा ◾बंगाल में बोले गृहमंत्री अमित शाह : दीदी के भाषण के कारण हुई 4 युवकों की मौत ◾मथुरा में गिरिराज परिक्रमा बंद, बिहारी जी के मंदिर के लिए ऑनलाइन पंजीकरण कराना होगा ◾राणा और त्रिपाठी के अर्धशतक, कोलकाता नाइट राइडर्स 10 रन से जीता ◾संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय के छात्रसंघ चुनाव में एनएसयूआई ने सभी पदों पर जीत हासिल की ◾महाराष्ट्र में एक दिन में कोविड-19 के रिकॉर्ड 63,294 नए मामले ◾महाराष्ट्र में लॉकडाउन पर आखरी फैसला 14 अप्रैल के बाद होगा : राजेश टोपे ◾दिल्ली में कोरोना का विस्फोट, 10 हजार से अधिक नए मामले की पुष्टि, 48 मरीजों की मौत◾कूचबिहार की घटना मतदाताओं को डराने के लिए रचे गए भाजपा के षड़यंत्र का परिणाम: CM ममता ◾अनिल विज ने कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को लिखा पत्र, प्रदर्शन कर रहे किसानों के साथ फिर से शुरू करें बातचीत◾PM लॉकडाउन पर फैसला तब लेंगे, जब बंगाल में चुनाव खत्म होंगे: संजय राउत ◾शांतिपुर में अमित शाह का रोडशो, ममता पर लगाया मृत्य पर तुष्टिकरण की राजनीति का आरोप◾सीबीएसई बोर्ड ने सर्कुलर किया जारी, प्रियंका गांधी ने शिक्षा मंत्री को लिखा पत्र◾कांग्रेस का केंद्र पर वार, कहा- सरकार की नीतियों के कारण भारतीयों पर कहर बरपा रहा है कोरोना ◾वैक्सीन उत्सव : PM मोदी ने देशवासियों को महामारी से लड़ने के लिए दिया चार सूत्रीय फॉर्मूला ◾दिल्ली में कोरोना की स्थिति चिंताजनक, अस्पतालों में बेड्स कम पड़े तो लगाना पड़ जाएगा लॉकडाउन : CM केजरीवाल◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

तमिलनाडु का व्यापार के जरिए विकास का है शानदार इतिहास: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को तमिलनाडु के काेयंबटूर में विभिन्न विकासात्मक परियोजनाओं का शुभारंभ करते हुए कहा कि तमिलनाडु के पास समुद्री व्यापार और बंदरगाह के जरिए विकास का एक शानदार इतिहास रहा है।

श्री मोदी ने महान स्वतंत्रता सेनानी वी ओ चिदंबरनर के प्रयासों को याद करते हुए वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए तूतीकोरिन स्थित चिदंबरनर बदंरगाह पर उनसे (चिदंबरनर से) जुड़ी विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन किया। 

प्रधानमंत्री ने कहा, “ एक जीवंत भारतीय शिपिंग उद्योग और समुद्री विकास के लिए उनका दृष्टिकोण हमें बहुत प्रेरित करता है।”उन्होंने कहा कि बंदरगाह के जरिए विकास के लिए केंद्र की प्रतिबद्धता को सागरमाला योजना के माध्यम से देखा जा सकता है।

श्री मोदी ने कहा,“ 2015-2035 की अवधि के दौरान कुल लागत छह लाख करोड़ रुपये से अधिक की लगभग 575 परियोजनाओं की क्रियान्वयन के लिए पहचान की गयी है। ये कार्य कवर करते हैं: पोर्ट आधुनिकीकरण, नया बंदरगाह विकास, पोर्ट कनेक्टिविटी बढ़ाने, पोर्ट-लिंक्ड औद्योगीकरण और तटीय सामुदायिक विकास। ”

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज शुरू की गई परियोजनायें पोर्ट की कार्गो हैंडलिंग को और मजबूती प्रदान करेंगी। उन्होंने कहा कि सरकार इसे ट्रांज़िशन पोर्ट बनाने और इसे व्यापार तथा रसद के लिए एक वैश्विक केंद्र के रूप में बनाने की खातिर और कदम उठाएगी। ”

श्री मोदी ने कहा कि चेन्नई के श्रीपेरंबुदूर के पास मप्पू में मल्टी-मॉडल लॉजिस्टिक्स पार्क जल्द ही लॉन्च किया जाएगा, कोरापल्लम ब्रिज और रेल ओवर ब्रिज के आठ लेन पर वीओसी पोर्ट सहज कनेक्टिविटी प्रदान करेगा और भीड़भाड़ मुक्त और बंदरगाह से यात्रा करने के लिए और भी कम कार्गो ट्रकों के आवागमन के समय में कटौती होगी।

उन्होंने कहा कि विकास के मूल में प्रत्येक व्यक्ति की गरिमा सुनिश्चित करना है। इसे सुनिश्चित करने के बुनियादी तरीकों में से एक है, सभी के लिए आश्रय प्रदान करना। सपनों को पंख देना। इसके मद्देनजर लोगों की आकांक्षाएं पूरी करने के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना आरंभ की गयी हैं।

कोयम्बटूर को उद्योग और नवाचार का शहर बताते हुए उन्होंने कहा कि तमिलनाडु भारत के औद्योगिक विकास में प्रमुख योगदान दे रहा है। उन्होंने कहा कि उद्योग को विकसित करने के लिए बुनियादी जरूरतों में से एक है, निरंतर बिजली की आपूर्ति। उन्होंने कहा, “आज मैं राष्ट्र दो को एनएलसीआईएल की दो प्रमुख बिजली परियोजनायें समर्पित करके और एक अन्य बिजली परियोजना की आधारशिला रखते हुए काफी खुश हूं।”

गौरतलब है कि करीब 709 मेगावाट की सौर ऊर्जा परियोजना एनएलसीआईएल द्वारा 3,000 करोड़ रुपये की लागत से विकसित की गई है और एनसीएल की एक और 1,000 मेगावाट की थर्मल पावर परियोजना कुल 7,800 करोड़ रुपये लागत से निर्मित होने से तमिलनाडु के लोगों को बहुत लाभ होगा। इन दोनों परियोजनाओं से राज्य में 65 प्रतिशत से अधिक बिजली पैदा होगा।