हरिद्वार : ग्रामीण विधायक स्वामी यतीश्वरानंद ने कहा कि छात्रवृत्ति घोटाले में उच्च संस्थानों पर समान रूप से कार्रवाई को सुनिश्चत किया जाना चाहिए। जनपद भर में छात्रवृत्ति घोटाले सरकार द्वारा उजागर किए गए। दोषियों पर कार्रवाई भी की गयी। लेकिन रसूखदार व उच्च संस्थानों के स्वामी छात्रवृति घोटाले की जांच से बचे हुए हैं। निष्पक्ष आधार पर जांच की जानी चाहिए।

जिससे छात्रवृत्ति घोटाला करने वाले उच्च संस्थानों पर भी नकेल लगायी जा सके। स्वामी यतीश्वरानंद ने कहा कि छात्रवृत्ति घोटाले के मुख्य आरोपियों की जांच के लिए अलग से एसआईटी गठित की जाए। जिससे जांच निष्पक्षता से हो सके। स्कूल कालेजों में छात्रवृत्ति घोटालेबाजों पर अंकुश लगाने के लिए राज्य सरकार द्वारा बड़े पैमाने पर कार्रवाई तो की गयी लेकिन अभी भी छात्रवृत्ति घोटाले के बड़े आरोपी बचे हुए हैं।

उन्होंने कहा कि किसी भी रूप में छात्रवृति घोटाले के रसूखदार व बड़े आरोपियों को बख्शा नहीं जाना चाहिए। स्कूल कालेजों में छात्र छात्रांए अपने भविष्य को बनाने के लिए पहुंचते हैं। ऐसे में शिक्षण संस्थान छात्रवृति घोटाला कर उन छात्र छात्राओं पर कुठाराघात कर रहे हैं। आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के छात्र छात्राओं की छात्रवृति के नाम पर पैसा हजम किया जा रहा था।

– संजय चौहान