BREAKING NEWS

राजधानी में फूटा कोरोना बम, 24 घंटे में आए 19,486 नये मामले और 141 कि हुई मौत◾पश्चिम बंगाल चुनाव : EC ने शाम सात से सुबह 10 बजे तक रैलियों, जनसभाओं पर लगाया प्रतिबंध ◾कोविड के बढ़ते मामलों को देखते हुए CICSE ने 10वीं,12वीं की परीक्षा टाली ◾ममता संविधान की रक्षा करने में विफल रहीं, केंद्रीय बलों पर लगा रही है आरोप : नड्डा ◾वीकेंड कर्फ्यू के दौरान ज्यादा अंतराल पर चलेंगी दिल्ली मेट्रो ट्रेनें, इन लाइन्स पर आधे घंटे का होगा इंतजार ◾भगोड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी जल्द आएगा भारत, प्रत्यर्पण की मांग को ब्रिटेन सरकार ने दी मंजूरी◾अदार पूनावाला की अमेरिका से अपील, टीका उत्पादन बढ़ाने के लिए बाइडन हटाए कच्चे माल पर लगा निर्यात प्रतिबंध◾उत्तर प्रदेश में कोविड-19 की बेकाबू रफ़्तार, रिकॉर्ड 27,426 नये मामले, 103 और मरीजों की मौत ◾बंगाल में कोरोना मामलों में बढ़ोतरी के लिए BJP जिम्मेदार, बाहरी लोगों के आने पर रोक लगाए EC : ममता बनर्जी ◾बंगाल में समाज को बांटने का रचा जाता है षड्यंत्र, ममता जी सहित TMC के सभी नेता दलित विरोधी : नड्डा ◾देश में ऑक्सीजन सप्लाई को लेकर PM मोदी ने की समीक्षा, राज्यों के साथ सहयोग सुनिश्चित करने के दिए निर्देश◾बंगाल में पांचवें चरण में 45 सीटों पर कल होगा मतदान, सुरक्षा के मद्देनजर केन्द्रीय बलों की 853 कम्पनियां तैनात◾यूपी में हर रविवार को होगा कंप्लीट लॉकडाउन, बिना मास्क पकड़े जाने पर 1000 रू जुर्माना : CM योगी ◾अमित शाह ने राहुल को बताया ‘पर्यटक राजनेता’, कहा- दीदी मतुआ समुदाय को नहीं देगी नागरिकता◾डॉ. हर्षवर्धन ने AIIMS का किया दौरा, कहा- कोरोना जंग जीतने के लिए किसी चीज की नहीं है कमी ◾कोरोना से जंग जीतने के लिए केंद्र ने निकाला उपाय, राज्यों को UK मॉडल पर काम करने की दी सलाह ◾केंद्र की कोरोना रणनीति पर राहुल का तंज, 'तुगलकी लॉकडाउन लगाओ-घंटी बजाओ-प्रभु के गुण गाओ'◾रणदीप सुरजेवाला और जिग्नेश मेवाणी कोरोना पॉजिटिव, दिग्विजय सिंह भी हुए संक्रमित◾EC की आज सर्वदलीय बैठक, चुनावी रैलियों में कोविड नियमों के पालन पर होगी चर्चा◾देश में फिर टूटे कोरोना के सारे रिकॉर्ड, पिछले 24 घंटे में 2 लाख 16 हजार केस, 1185 लोगों की मौत ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

न्यायपालिका और आरबीआई, सीबीआई, ईडी जैसी एजेंसियों को स्वतंत्र रूप से कार्य करना चाहिए : बॉम्बे HC

बम्बई हाई कोर्ट ने बृहस्पतिवार को कहा कि न्यायपालिका और आरबीआई, सीबीआई तथा ईडी जैसी एजेंसियों को स्वतंत्र रूप से कार्य करना चाहिए।

अदालत ने पूछा कि 2016 के एक कथित जमीन हड़पने के मामले में राकांपा नेता एकनाथ खडसे को कुछ दिनों के लिए अगर सख्त कार्रवाई से अंतरिम संरक्षण दे दिया जाता है, तो क्या आसमान गिर जाएगा? न्यायमूर्ति एस एस शिंदे और न्यायमूर्ति मनीष पिटाले की खंडपीठ खडसे द्वारा दायर एक याचिका की सुनवाई कर रही थी, जिसमें प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा पिछले साल अक्टूबर में दर्ज प्रवर्तन मामला सूचना रिपोर्ट (ईसीआईआर) को रद्द करने का अनुरोध किया गया है।

खडसे के वकील आबाद पोंडा ने अदालत से याचिका की सुनवाई लंबित होने तक राज्य के पूर्व राजस्व मंत्री को किसी भी सख्त कार्रवाई से अंतरिम संरक्षण देने का अनुरोध किया। ईडी के वकील अनिल सिंह ने अदालत को बताया कि एजेंसी सोमवार (25 जनवरी) तक कोई कार्रवाई नहीं करेगी।

पीठ ने यह जानने की कोशिश की कि ईडी केवल सोमवार तक संरक्षण प्रदान करने पर जोर क्यों दे रहा है। पीठ अब मामले की अगली सुनवाई सोमवार को करेगी। न्यायमूर्ति शिंदे ने कहा, अगर याचिकाकर्ता को कुछ और दिनों के लिए संरक्षण दिया जाता है, तो कौन सा आसमान गिरने वाला हैं? हम हमेशा से मानते हैं कि न्यायपालिका और आरबीआई, सीबीआई, ईडी जैसी एजेंसियों को स्वतंत्र और निष्पक्ष रूप से कार्य करना चाहिए।

अदालत ने कहा, अगर ये एजेंसियां ​​स्वतंत्र रूप से काम नहीं करती हैं तो लोकतंत्र के लिए खतरा है। गौरतलब है कि पिछले साल भाजपा छोड़कर राकांपा में शामिल होने वाले खडसे (68) कथित जमीन हड़पने के मामले में अपना बयान दर्ज कराने के लिए इस साल 15 जनवरी को मुंबई में ईडी के सामने पेश हुए थे।

ईडी ने उनके खिलाफ समन जारी किया था। पीठ ने आगे कहा कि याचिकाकर्ता जांच में सहयोग कर रहा है और पूछताछ के लिए एजेंसी के समक्ष भी उपस्थित हुआ है। अदालत ने कहा, अगर कोई व्यक्ति जांच में सहयोग करने के लिए तैयार है तो हम पूछते हैं कि ऐसे में गिरफ्तारी की क्या जरूरत है? ईडी ने आरोप लगाया कि खडसे ने 2016 में राज्य के राजस्व मंत्री के रूप में अपने आधिकारिक पद का दुरुपयोग किया। एजेंसी ने यह भी कहा कि वह मामले में धन शोधन से जुड़े पहलुओं की जांच कर रही है।