BREAKING NEWS

आज का राशिफल (06 दिसंबर 2022)◾संसदीय पैनल ने RBI गवर्नर के लिए की 6 वर्ष के कार्यकाल की सिफारिश, जाने क्या कहती है रिपोर्ट ◾UP : हिन्दू महासभा ने की शाही ईदगाह में हनुमान चालीसा का पाठ करने की घोषणा, पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा ◾दुनिया में एक शक्तिशाली देश के रूप में उभरा है भारत : प्रधानमंत्री मोदी ◾PFI पोस्टर मामला : CM बोम्मई बोले- दोषियों के खिलाफ की जाएगी कड़ी कार्रवाई, भ्रम पैदा करना सही नहीं ◾गुजरात चुनाव : दूसरे चरण में हुआ 58 प्रतिशत से अधिक मतदान, अधिकारियों ने दी जानकारी ◾J&K : उमर अब्दुल्ला बोले - लोगों को अंधेरे में नहीं रख रही नेकां, मेरा दिल कहता है बहाल होगा अनुच्छेद 370 ◾सुप्रीम कोर्ट की फटकार, कहा- पंजाब में शराब, ड्रग्स पर रोक न लगने से खत्म हो जाएंगे युवा◾Himachal Pradesh: किसका होगा हिमाचल! Exit Polls के मुताबिक- पहाड़ों में फिर खिलेगा 'कमल' ◾सुप्रीम कोर्ट की सलाह: दुनिया बदल गई, CBI को भी बदलना चाहिए, जानें क्या है पूरा मामला ◾दिल्ली हाई कोर्ट ने राघव बहल के खिलाफ धनशोधन की जांच पर रोक लगाने से किया इनकार ◾बिहार की सियासत में कांग्रेस की बढ़ी दिलचस्पी, अखिलेश प्रसाद सिंह राज्य इकाई के अध्यक्ष नियुक्त◾European Union: एयरलाइन यात्रियों के लिए खुशखबरी, जल्द अपने फोन में 5जी सर्विस का उठा पाएंगे लाभ ◾Lakhimpur Kheri case: केन्द्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे समेत 13 आरोपियों को आरोपमुक्त करने की अर्जी खारिज◾Maharashtra: नाना पटोले ने कहा- BJP कर रही है शिवाजी महाराज का अपमान करने का प्रयास◾Maharashtra: महाराष्ट्र में दरिंदगी, 5 साल की बच्ची के साथ बलात्कार, पुलिस ने आरोपी को दबोचा◾अखिलेश यादव का आरोप, कहा- उपचुनावों में लोगों को वोट देने से रोक रहा है प्रशासन◾देश के पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम G-20 शिखर सम्मेलन पर सर्वदलीय बैठक में होंगे शामिल ◾आतंक फैलाने में जुटा PAK, भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर बीएसएफ ने ड्रोन और हेरोइन बरामद की◾पिटबुल कुत्ते ने 9 साल के मासूम बच्चे पर किया हमला बच्चा गंभीर रूप से घायल, मालिक पर केस दर्ज◾

चरमपंथ से शिक्षा का मंदिर स्कूल भी अछूता नहीं, मरम्मत के पैसे से कट्टरपंथी प्राचार्य ने बनवा दी मजार

मुस्लिम चरमपंथ से शिक्षा का विकास भी अछूता नहीं रह पा रहा हैं।  मध्यप्रदेश के विदिशा जिला में एक मुस्लिम प्राथमिक प्राचार्य को इस कारण निलंबित कर दिया गया हैं।  उसने स्कूल में इस्लामिक मजार का निर्माण करा दिया हैं। निलंबित प्राचार्य का पति स्कूल में एक स्पोर्टस अध्यापक था, उसी के कार्यकाल में यह मजार बनवाई गई, लेकिन चरमपंथ के चलते प्राचार्य ने स्कूल में सरस्वती मंदिर के स्कूल को बनवाने की अनुमति प्रदान नहीं की थी। जिससे उसका कट्टरपंथ साफ तौर पर दिखाई पड़ता हैं।  इस स्कूल देश की भावना का अनादर जोरों शोरों से किया जाता हैं , निलंबित प्राचार्य स्कूल में राष्ट्रगीत व राष्ट्रगान भी नहीं होने देती थी।   
इस्लामिक शासन की तरह किया जाता हैं स्कूल की दिनचर्या
स्कूल में मुस्लिम बच्चों को जुमें के दिन की छुट्टी दी जाती थी, यहीं नहीं बल्कि यंहा पर मजार का चबूतरा बनाकर उसके पास ही नमाज पढ़ी जाती थी, जो शिक्षा विभाग के नियमविरूद्ध हैं।  इन सभी क्रिया के चलते शासन को स्कूल की प्राचार्य की शिकायत की गई, शासन में मामले की गंभीरता को देखते हुए गुप्त जांच का निर्णय किया, जिसमें लगाए गए आरोप बिल्कुल सही निकले इसी को देखते हुए  सीएम राइज स्कूल की तत्कालीन प्राचार्य शायना फिरदौस को सरकार ने निलंबित कर दिया है। गुरुवार शाम लोक शिक्षण आयुक्त अभय वर्मा ने शायना का निलंबन आदेश जारी किया। राज्य सरकार ने हाल ही में इस स्कूल का चयन सीएम राइज स्कूल के तौर पर विकसित करने के लिए किया था
मजार हटाने के लिए कलेक्टर को पत्र , कानूनगो का आरोप अनजान बने रहे अधिकारी
शिक्षा अधिकारी मृद्रल का कहना हैं कि उन्होनें स्कूल परिसर से मजार हटाने के लिए जिला कलेक्टर को पत्र लिखा था , लेकिन यह निर्माण हूबहू पर खड़ा हुआ हैं।  निलंबित प्राचार्य ने इसका निर्माण स्कूल के मरम्मत वाले पैसे किया।  यहां पर बाहरी लोग नमाज पढने के लिए एकत्रित भी होते थे। बाल संरक्षण अधिकार आयोग के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो का आरोप है कि स्कूल परिसर में लंबे समय तक धर्म विशेष पर आधारित गतिविधियां संचालित होती रही। शिक्षा विभाग के अधिकारी अनजान बने रहे।
फिल्मी गीत पर होती हैं प्रतिदिन की प्रार्थना, राष्ट्रगीत व राष्ट्गान सिर्फ विशेष अवसर पर

कुरवाई की एसडीएम अंजली शाह ने मजार को तोड़ने का आश्वासन दिया हैं ,साथ ही कार्रवाई की बात कही हैं । उन्होनें कहा कि ऐसे तत्वों पर त्वरित कार्रवाई की जाएगी । जो विकास का कट्टरपंथ की आग में लगा रहे हैं । अब आरोपी प्राचार्य को निलंबित कर दिया हैं । बताया जा रहा हैं  स्कूल को इस्लामिक स्वरूप देने के लिए वंहा प्रतिदिन की जाने वाली प्रार्थना को भी इस्लामिक रंग में रंगा गया। कूल में राष्ट्रगीत और राष्ट्रगान भी सिर्फ गणतंत्र और स्वतंत्रता दिवस पर होता था। रोजाना वहां ऐ मालिक तेरे बंदे हम... फिल्मी गीत पर प्रार्थना होती थी। इस प्रकार का कृत्य शिक्षा को गहरी चोट पहुंचाने पर उतारू हैं ।