BREAKING NEWS

चुनाव के बाद एग्जिट पोल के नतीजे, भाजपा ने राहुल को मारा ताना ◾पकिस्तान द्वारा डाक मेल सेवा पर रोक लगाने के लिए रवि शंकर प्रसाद ने की आलोचना ◾सम्राट नारुहितो के राज्याभिषेक समारोह में शामिल होने जापान पहुंचे राष्ट्रपति कोविंद ◾गृह मंत्री अमित शाह से मिले CM कमलनाथ, केंद्र से 6,600 करोड़ रुपये की सहायता मांगी ◾पाकिस्तान ने भारत के साथ डाक सेवा बंद की, भारत ने अंतरराष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन बताया ◾सरकार ने सियाचिन को पर्यटकों के लिए खोलने का फैसला किया : राजनाथ सिंह ◾TOP 20 NEWS 21 October : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बोले- अगर पाक ने घुसपैठ कराना बंद नहीं की तो सशस्त्र बल उसे मुहंतोड़ जवाब देते रहेंगे◾भारत करतारपुर पर 23 को करेगा एग्रीमेंट, आस्था के नाम पर श्रद्धालुओं से वसूली पर अड़ा पाक ◾महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग समाप्त, जानें किस-किस ने डाला वोट◾उपचुनाव : यूपी समेत 17 राज्यों में वोटिंग समाप्त, जानें कहां कितने प्रतिशत हुआ मतदान◾हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए मतदान समाप्त, जानें कितने प्रतिशत हुआ मतदान◾आरे विवाद पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा- मेट्रो कंस्ट्रक्शन पर नहीं लगाई कोई रोक ◾BJP विधायक के वीडियो पर राहुल गांधी का तंज, कहा- पार्टी में सबसे ईमानदार व्यक्ति हैं बख्शीश सिंह◾संसद का शीतकालीन सत्र 18 नवंबर से 13 दिसंबर तक चलेगा◾शरद पवार ने डाला वोट, लोगों से की लोकतांत्रिक अधिकार का इस्तेमाल करने की अपील◾संघ प्रमुख मोहन भागवत बोले- बीते 90 वर्षों से हमें निशाना बनाया जा रहा है ◾हरियाणा में मुकाबला सिर्फ BJP और कांग्रेस के बीच : भूपिंदर सिंह हुड्डा◾केजरीवाल ने BJP पर साधा निशाना - बिजली सब्सिडी खत्म कर देगी भाजपा◾पोस्ट पेमेंट बैंक ने चुनौतियों को अवसर में बदला : PM मोदी ◾

अन्य राज्य

मतपत्रों से मतदान कराने का सवाल ही नहीं उठता :सीईसी सुनील अरोड़ा

मुख्य निर्वाचन आयुक्त (सीईसी) सुनील अरोड़ा ने शुक्रवार को इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों की जगह मतपत्रों से मतदान कराने की पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मांग को खारिज करते हुए कहा कि पुरानी प्रणाली पर लौटने का कोई सवाल नहीं उठता। 

अरोड़ा ने कहा कि उच्चतम न्यायालय ने मतपत्रों से मतदान फिर शुरू करने के खिलाफ कई बार फैसले दिये हैं। उन्होंने यहां नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर पहुंचने के बाद कहा, "हम मतपत्रों के युग में वापस नहीं जाने वाले। उच्चतम न्यायालय कई बार कह चुका है कि मतपत्र अतीत की बात है।" जम्मू-कश्मीर में चुनाव की संभावनाओं पर अरोड़ा ने कहा कि गृह और विधि मंत्रालयों से औपचारिक संदेश का इंतजार है।