BREAKING NEWS

मंकीपॉक्स की चपेट में आए 20+ देश! जानें कैसे फैल रही यह बिमारी.. WHO ने दी अहम जानकारियां ◾ Ladakh News: लद्दाख दुर्घटना को लेकर देशवासियों को लगा जोरदार झटका, पीएम मोदी समेत कई बड़े नेताओं ने जताया दुख◾ UCC लागू करने की दिशा में उत्तराखंड सरकार ने बढ़ाया कदम, CM धामी बताया कब से होगा लागू◾UP News: योगी पर प्रहार करते हुए अखिलेश यादव बोले- यूपी को किया तहस नहस! शिक्षा व्यवस्था पर भी कसा तंज◾ Gyanvapi Case: सोमवार को हिंदू और मुस्लिम पक्ष को मिलेंगी सर्वे की वीडियो और फोटो◾ RR vs RCB ipl 2022: राजस्थान ने टॉस जीतकर किया गेंदबाजी का फैसला, यहां देखें दोनों टीमों की प्लेइंग XI◾नेहरू की पुण्यतिथि पर राहुल गांधी का मोदी पर प्रहार, बोले- 8 सालों में भाजपा ने लोकतंत्र को किया कमजोर◾Sri Lanka crisis: आर्थिक संकट के चलते श्रीलंका में निजी कंपनियां भी कर सकेगी तेल आयात◾ नजर नहीं है नजारों की बात करते हैं, जमीं पे चांद सितारों की बात करते...शायराना अंदाज में योगी का विपक्ष पर निशाना ◾Ladakh Accident News: लद्दाख के तुरतुक में हुआ खौफनाक हादसा, सेना की गाड़ी श्योक नदी में गिरी, 7 जवानों की हुई मौत◾ कर्नाटक में हिन्दू लड़के को मुस्लिम लड़की से प्यार करने की मिली सजा, नाराज भाईयों ने चाकू से गोदकर की हत्या◾कांग्रेस को मझदार में छोड़ अब हार्दिक पटेल कर रहे BJP के जहाज में सवारी की तैयारी? दिए यह बड़े संकेत ◾RBI ने कहा- खुदरा महंगाई पर दबाव डाल सकती है थोक मुद्रास्फीति की ऊंची दर◾ SC से सपा नेता आजम खान को राहत, जौहर यूनिवर्सिटी के हिस्सों को गिराने की कार्रवाई पर रोक◾आर्यन खान केस में पूर्व निदेशक की जांच में थी गलतियां.. NCB ने कबूली यह बात, जानें वानखेड़े की प्रतिक्रिया ◾ शेख जफर से बना चैतन्य सिंह राजपूत...,MP के मुस्लिम शख्स ने अपनाया सनातन धर्म ◾कांग्रेस में फिर दोहरा रहा इतिहास? पंजाब की तरह राजस्थान में CM गहलोत के खिलाफ बन रहा माहौल... ◾ J&K : TV एक्ट्रेस अमरीन भट्ट के परिजनों से मिलीं महबूबा मुफ्ती, बोलीं- बेगुनाहों का खून बहाना रोज का मामूल बन गया ◾गुजरात बंदरगाह पर मिली ड्रग्स को लेकर कांग्रेस ने सरकार पर साधा निशाना, कहा- देश को बताएं किसका संरक्षण है ◾Maharashtra: कोरोना ने फिर एक बार सरकार की बढ़ाई चिंता, जानें- CM ठाकरे ने जनता से क्या कहा? ◾

बीजेपी के पूर्व सांसद एवं वरिष्ठ पत्रकार मिन्ना जी की दूसरी पुण्य तिथि पर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की

हरिद्वार, संजय चौहान (पंजाब केसरी): बीजेपी के पूर्व सांसद एवं वरिष्ठ पत्रकार श्री अश्विनी कुमार मिन्ना जी की दूसरी पुण्य तिथि के अवसर पर उन्हें भावभीनी श्रद्घांजलि अर्पित की गयी और वक्ताओं ने अपने सम्बोधन में स्व. अश्विनी कुमार के चरण चिन्हों पर चलने के लिये पत्रकारों को आहवान किया। 

इस मौके पर प्रिंट एवं इलैक्ट्रोनिक्स जर्नलिस्ट एसोशिएशन के प्रदेशाध्यक्ष एवं वरिष्ठ पत्रकार वेद प्रकाश चौहान ने कहा कि दिल्ली पंजाब केसरी का प्रकाशन एक जनवरी 1983 को हुआ था और आज पूरे 39 वर्ष बीतने के बाद भी ऐसा लगता है कि मानों कल ही कि बात है। श्री अश्विनी कुमार मिन्ना जी कैंसर से जूझते हुए भी अपनी आत्मकथा लिखते रहे। वह हमेशा से ही सत्य के मार्ग पर चले, उनकी लेखनी कभी नहीं रुकी, वे कभी नहीं झुके, यह राष्ट्र की अस्मिता की संवाहक है, यह राष्ट्र को समर्पित है। 

इस मौके पर हरिद्वार पंजाब केसरी के ब्यूरो प्रमुख संजय चौहान ने कहा कि 18 जनवरी का दिन कभी भुलाया नहीं जा सकता। श्री मिन्ना जी के परिवार का इतिहास स्वतंत्रता संग्राम से जुड़ा हुआ है। श्री मिन्ना जी अक्सर अपनी लेखनी के जरिए अमर शहीद लाला जगत नारायण जी और शहीद रमेश चंद्र जी की स्वतंत्रता संग्राम से जुड़ी बाते लिखा करते थे, जिन्हें पढ़कर हमें बेहद ही गौरव महसूस होता था। जिस प्रकार स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद भी अमर शहीद लालाजी और अमर शहीद रमेश जी ने पत्रकारिता को लक्ष्य बनाया था, उसे आज भी याद किया जाता है। 

इस मौके पर पत्रकार रजत चौहान ने कहा कि श्री अश्विनी कुमार जी को मिशनरी पत्रकारिता अपनी विरासत में मिली थी। जिस प्रकार उनके दादा लाला जगत नारायण कभी ब्रिटिश हुकूमत से नहीं डरे थे व उनके पिता स्व. रमेश चन्द कभी खालिस्तानी आतंकवादियों से नहीं डरे थे। उसी प्रकार श्री अश्विनी कुमार जी भी पंजाब केसरी में बेबाक लिखते रहे। 

इस मौके पर पत्रकार ऋषभ चौहान ने कहा कि स्व. अश्विनी कुमार जी ने पत्रकारिता को उसी प्रखता के साथ जारी रखा, जिसकी नींव पूजनीय अमर शीहीद लाला जगत नारायण जी एवं अमर शहीद स्व. रमेशचंद जी ने रखी थी, साथ ही जिस जद्दोजहद को उन्होंने अपना सम्पादकीय धर्म बनाया था, उतनी ही जद्दोेजहद उन्होंने आत्मकथा लिखने में की थी, जिसके पढ़कर हम गर्व महसूस करते रहे। 

इस मौके पर वरिष्ठ छायाकार रामेश्वर गौड़ ने कहा कि अश्विनी कुमार पत्रकारिता के क्षेत्र में हर दिल अजीज पत्रकार थे। देश के अधिकांश लोग उनका सम्पादकीय लेख पढने के लिये सुबह से ही बैचैन रहते थे। स्व. अश्विनी कुमार ने अपने जीवन काल में मिशनरी पत्रकारिता के शिखर को छू लिया था। उनका लेख आने वाले समय में पाठकों को झकझोरते रहेंगे। 

इस मौके पर सबसे पहले पत्रकारों ने मिन्ना जी के चित्र पर पुष्प अर्पित करके उन्हें भावभीनी श्रद्घांजलि दी। आज उनकी पुण्यतिथि पर उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित करने वालों में मुख्य रूप से संजय चौहान, वरिष्ठ छायाकार रामेश्वर गौड़, गंगा शरण अरोड़ा, श्रवण झा, अविक्षित रमन, रामनाथ, किशोर, कपिल अरोड़ा, ऋषभ चौहान, अविनाश गुप्ता, घनश्याम, सुरेश, बलवीर सिंह चौहान, मनीष कुमार, अमित कुमार, दीपक नौटियाल आदि काफी पत्रकार मौजूद रहे।

स्व. अ‌श्विनी कुमार को श्रद्घांजलि अर्पित करते हुए व्यापारी एवं पत्रकारगण। (छाया : पंजाब केसरी)