BREAKING NEWS

पश्चिम बंगाल : नारदा मामले में गिरफ्तारी के 7 घंटे बाद चारों टीएमसी नेताओं को CBI कोर्ट से मिली जमानत◾दिल्ली को कोरोना से मिली राहत, पिछले 24 घंटे में आए 4524 नए मामले, 340 की हुई मौत◾नारदा केस : TMC का प्रदर्शन, अभिषेक बनर्जी बोले- लॉकडाउन का करें पालन, लड़ाई कानूनी तरीके से लड़ेंगे◾ऑक्सीजन एक्सप्रेस का 13 राज्यों को मिला है लाभ, रेलवे ने अब तक पहुंचाई रिकॉर्ड 10000 टन जीवनदायी गैस◾सुरजेवाला ने केंद्र को बताया ‘जन लूट सरकार’, कहा- कोरोना काल में राहत देने की बजाय लाद रही टैक्स का बोझ ◾TMC नेताओं पर हुई CBI कार्रवाई के बाद ममता ने शुरू किया धरना, कहा- ये गिरफ्तारियां राजनीति से प्रेरित और अवैध◾डीआरडीओ की एंटी कोविड दवा 2-DG की पहली खेप जारी,राजनाथ सिंह ने बताया- 'उम्मीद की किरण' ◾गुजरात की ओर बढ़ रहा Cyclone Tauktae, सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाए गए एक लाख लोग ◾PMCares के वेंटिलेटर और पीएम में कई समानताएं, दोनों का हद से ज्यादा झूठा प्रचार, काम करने में फेल : राहुल ◾तेजस्वी यादव ने CM नीतीश पर साधा निशाना, बोले- 'कुर्सी छोडें, हम बताएंगे कैसे पहुंचाई जाती है लोगों को मदद◾नारदा केस: TMC के 2 मंत्रियों समेत 4 नेता अरेस्ट, CBI के दफ्तर पहुंची CM ममता, कहा- मुझे भी करो गिरफ्तार ◾कोरोना वायरस : देश में बीते 24 घंटे में आए 3 लाख से कम नए केस, 4106 लोगों ने गंवाई जान ◾कोरोना महामारी के बीच खुले केदारनाथ के कपाट, PM मोदी की ओर से की गई पहली पूजा◾तालाबंदी का हो रहा गहरा प्रभाव, कोरोना महामारी को मात देने में असरदार, आज से कई राज्यों में बढ़ा लॉकडाउन◾विश्व में कोरोना महामारी का प्रकोप जारी, अब तक 33.7 लाख लोगों ने गंवाई जान◾गुजरात की तरफ बढ़ा चक्रवात तौकते, मुंबई में तेज हवाओं के साथ हो रही है बारिश, अब तक 8 लोगों की मौत ◾ताउते तूफान : गुजरात,दीव के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी◾ऑक्सिजन कंसंट्रेटर्स की कालाबाजारी के मामले में दिल्ली के कारोबारी नवनीत कालरा को गुरुग्राम से किया गिरफ्तार◾DRDO की कोविड-19 रोधी दवा सोमवार को होगी लॉन्च◾चक्रवात तौकते को लेकर अमित शाह ने की गोवा के मुख्यमंत्री से बात◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

ऑक्सीजन मुद्दे पर PM मोदी से संपर्क करने की कोशिश की लेकिन बंगाल चुनाव के चलते सफलता नहीं मिली : CM ठाकरे

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शनिवार को दावा किया कि उन्होंने राज्य में ऑक्सीजन की आपूर्ति के सिलसिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से फोन के जरिये संपर्क करने की कोशिश की लेकिन पश्चिम बंगाल चुनाव प्रचार की व्यस्तता से वह उपलब्ध नहीं हो सके।

उद्योगपतियों और उद्योग संगठनों जैसे फिक्की, सीआईआई के प्रतिनिधियों से वीडियो कांग्रेस के जरिये बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि केंद्र, महाराष्ट्र सरकार से सहयोग कर रहा है। इससे पहले दिन में केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने राज्य में ऑक्सीजन की उपलब्धता के मुद्दे पर उद्धव ठाकरे पर हमला किया था।

उन्होंने कहा था कि अबतक महाराष्ट्र को भारत में सबसे अधिक ऑक्सीजन मिला है और केंद्र उसकी जरूरतों का आकलन करने के लिए राज्य सरकार के नियमित संपर्क में है। केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री कहा, ‘‘ महाराष्ट्र अकुशल और भ्रष्ट सरकार की समस्या का सामना कर रहा है और केंद्र सरकार वहां के लोगों के लिए यथा संभव बेहतर कर रही है।

महाराष्ट्र के लोग ‘ माझा कुटुंब, माझी जवाबदारी’ का अनुपालन कर्तव्य की तरह कर रहे है। अब समय है कि मुख्यमंत्री भी ‘माझा राज्य, माझी जवाबदारी’ की भावना के साथ अपने कर्तव्य का अनुपालन करें।’’ इस बीच, ठाकरे ने उद्योग क्षेत्र से अपील की कि वे कोविड-19 अनुकूल कार्यशैली को विकसित करे ताकि ‘कोरोना वायरस की तीसरी लहर’ से अर्थव्यवस्था प्रभावित नहीं हो।

उन्होंने कहा कि औद्योगिक क्षेत्र और राज्य सरकार में समन्वय करने के लिए कार्यबल का गठन किया जाएगा। मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा जारी विज्ञप्ति में उनके हवाले से कहा गया, ‘‘ महाराष्ट्र को ऑक्सीजन की आपूर्ति की जरूरत है और सभी उत्पादित ऑक्सीजन का इस्तेमाल चिकित्सा जरूरतों के लिए किया जा रहा है।

मैंने ऑक्सीजन आपूर्ति की जरूरत को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से संपर्क किया लेकिन वह कल फोन पर उपलब्ध नहीं थे क्योंकि वह पश्चिम बंगाल चुनाव प्रचार में व्यस्त थे। हालांकि, केंद्र राज्य के साथ सहयोग कर रहा है।’’

ठाकरे ने कहा कि कोविड-19 की लहर का पूर्वानुमान चूंकि नहीं लगाया जा सकता, ऐसे में कारोबार जगत और उद्योगों को अगली लहर का मुकाबला करने के लिए योजना बनानी चाहिए और कोविड-19 अनुकूल कार्यशैली और जांच व टीकाकरण सुविधा से यह हो सकता है। उल्लेखनीय है कि इससे पहले ठाकरे प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर ऑक्सीजन की कमी और ढुलाई की रणनीतिक समस्या का मुद्दा उठा चुके हैं।