BREAKING NEWS

पुलवामा में हमले की बड़ी साजिश को सुरक्षाबलों ने किया नाकाम, विस्फोटक से लदी गाड़ी लेकर जा रहे थे आतंकी◾दुनिया में कोरोना से संक्रमितों का आंकड़ा 57 लाख के करीब, अब तक 3 लाख 55 हजार से अधिक की मौत ◾मौसम खराब होने की वजह से Nasa और SpaceX का ऐतिहासिक एस्ट्रोनॉट लॉन्च टला◾कोविड-19 : देश में महामारी से अब तक 4500 से अधिक लोगों की मौत, संक्रमितों की संख्या 1 लाख 58 हजार के पार ◾मुंबई के फॉर्च्यून होटल में लगी आग, 25 डॉक्टरों को बचाया गया ◾अमेरिका में कोरोना मरीजों के आंकड़ों में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी, मरने वालों की संख्या 1 लाख के पार ◾गुजरात में कोरोना के 376 नये मामले सामने आये, संक्रमितों की संख्या बढ़कर 15205 हुई ◾पड़ोसी देश नेपाल की राजनीतिक हालात पर बारीकी से नजर रख रहा है भारत◾कोरोना वायरस : आर्थिक संकट के बीच पंजाब सरकार ने केंद्र से मांगी 51,102 करोड रुपये की राजकोषीय सहायता◾चीन, भारत को अपने मतभेद बातचीत के जरिये सुलझाने चाहिए : चीनी राजदूत◾महाराष्ट्र : 24 घंटे में कोरोना से 105 लोगों की गई जान, मरीजों की संख्या 57 हजार के करीब◾उत्तर - मध्य भारत में भयंकर गर्मी का प्रकोप , लगातार दूसरे दिन दिल्ली में पारा 47 डिग्री के पार◾नक्शा विवाद में नेपाल ने अपने कदम पीछे खींचे, भारत के हिस्सों को नक्शे में दिखाने का प्रस्ताव वापस◾भारत-चीन के बीच सीमा विवाद पर अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने की मध्यस्थता की पेशकश◾चीन के साथ तनातनी पर रविशंकर प्रसाद बोले - नरेंद्र मोदी के भारत को कोई भी आंख नहीं दिखा सकता◾LAC पर भारत के साथ तनातनी के बीच चीन का बड़ा बयान , कहा - हालात ‘‘पूरी तरह स्थिर और नियंत्रण-योग्य’’ ◾बीते 24 घंटों में दिल्ली में कोरोना के 792 नए मामले आए सामने, अब तक कुल 303 लोगों की मौत ◾प्रियंका ने CM योगी से किया सवाल, क्या मजदूरों को बंधुआ बनाना चाहती है सरकार?◾राहुल के 'लॉकडाउन' को विफल बताने वाले आरोपों को केंद्रीय मंत्री रविशंकर ने बताया झूठ◾वायुसेना में शामिल हुई लड़ाकू विमान तेजस की दूसरी स्क्वाड्रन, इजरायल की मिसाइल से है लैस◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

मुर्शिदाबाद में तिहरे हत्याकांड ने राजनीतिक रंग लिया, संघ-BJP ने मृतक को अपना समर्थक बताया

10 अक्टूबर (भाषा) मुर्शिदाबाद में एक स्कूल शिक्षक और उसकी पत्नी तथा पुत्र की जघन्य हत्या के मामले ने बृहस्पतिवार को राजनीतिक रंग ले लिया और भाजपा ने ममता बनर्जी सरकार पर निशाना साधा। वहीं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने दावा किया कि शिक्षक आरएसएस से जुड़े थे।

भाजपा और संघ ने कहा कि प्राथमिक विद्यालय में शिक्षक बंधु गोपाल पाल उनके सक्रिय सदस्य जरूर नहीं थे, लेकिन वह कभी-कभी संघ के साप्ताहिक मिलन कार्यक्रमों में भाग लेते थे। 35 वर्षीय शिक्षक, उनकी गर्भवती पत्नी ब्यूटी और आठ वर्षीय बेटे आंगन के शव मंगलवार को मुर्शिदाबाद के जियागंज में उनके घर में रक्तरंजित अवस्था में मिले थे। उस समय दुर्गा पूजा चल रही थी।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बुधवार को यहां कहा कि अज्ञात उपद्रवियों ने तीनों की हत्या कर दी। भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट किया, ‘‘इससे ज्यादा जघन्य क्या हो सकता है? संघ के कार्यकर्ता बंधु प्रकाश पाल, उनकी गर्भवती पत्नी तथा उनके आठ वर्षीय पुत्र की मुर्शिदाबाद में नृशंस तरीके से हत्या कर दी गयी। किसी राज्य की कानून व्यवस्था की स्थिति को अच्छा कैसे माना जा सकता है जब आम आदमी की जान सुरक्षित नहीं है? दीदी आपके शासन में क्या हो रहा है।’’

विजयवर्गीय पश्चिम बंगाल के पार्टी मामलों के प्रभारी भी हैं। सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने इस मुद्दे पर कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया क्योंकि मामले में जांच चल रही है। विजयवर्गीय ने बुधवार को दो भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या का विषय उठाते हुए इसमें तृणमूल कार्यकर्ताओं के शामिल होने का आरोप लगाया था। 

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने ट्वीट करके घर का वीडियो साझा किया जिसमें फर्श पर खून के धब्बे देखे जा सकते हैं। पात्रा ने ट्वीट किया, ‘‘चेतावनी : नृशंस वीडियो। इसने मेरी अंतरात्मा को झकझोर दिया है। पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में संघ कार्यकर्ता बंधु प्रकाश पाल, उनकी आठ माह की गर्भवती पत्नी और बच्चे की नृशंस तरीके से हत्या कर दी गयी। उदारवादियों की तरफ से एक भी शब्द नहीं आया। 

59 उदारवादियों ने ममता को एक भी पत्र नहीं लिखा।’’ गौरतलब है कि देशभर के 49 जानेमाने लोगों ने जुलाई में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर देश में भीड़हत्या की घटनाओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। पुलिस ने मुर्शिदाबाद की घटना के मामले में जांच शुरू कर दी है और तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है। 

स्थानीय लोगों के मुताबिक पाल परिवार करीब पांच साल पहले जियागंज में आकर बस गया था। एक पुलिस अधिकारी के मुताबिक प्रथमदृष्टया ऐसा लगता है कि पाल परिवार की अज्ञात उपद्रवियों ने सोमवार रात हत्या कर दी। जब इलाके के लोगों ने मंगलवार को विजयदशमी पर स्थानीय पूजा पंडाल में उन्हें नहीं देखा तो उनके घर गये और दरवाजा अंदर से बंद मिला। तब उन्होंने पुलिस को सूचित किया। पुलिस ने दरवाजा तोड़ और तीनों के शव बरामद किए।