BREAKING NEWS

आज का राशिफल (09 दिसंबर 2022)◾गुजरात विजय पर बोले असम के सीएम शर्मा- यह तो ट्रेलर है... असली पिक्चर 2024 के लोकसभा चुनाव में दिखाएंगे◾ओडिशा उपचुनाव सीट पर बीजेपी की हार, बीजद उम्मीदवार ने भारी मतों से जीत की हासिल◾सोने की चमक में उछाल, दर्ज की गई 211 की बढ़ोत्तरी, चांदी इतने रूपए के साथ फिसली◾गुजरात में बजा 'मोदी' का डंका, जीत को लेकर जनता का आभार प्रकट किया, हिमाचल पर भी कही यह बड़ी बात◾गुजरात में 'BJP' की प्रचंड जीत, राज्य में चल पड़ा 'घर-घर मोदी' नड्डा ने कहा: भाजपा की ऐतिहासिक विजय◾खतौली सीट पर फैल हुई BJP की रणनीति, रालोद प्रत्याशी मदन भैया ने भाजपा को इतने वोटों से पछाड़ा, देखें पूरा समीकरण ◾रामपुर पर 'BJP' ने रचा इतिहास, 26 साल के चक्रव्यूह को तोड़कर एक नए युग की शुरूआत, इतने भारी मतों से हारी 'सपा'◾खतौली सीट पर फेल हुई BJP की रणनीति, रालोद प्रत्याशी मदन भैया ने भाजपा को इतने वोटों से पछाड़ा, देखें पूरा समीकरण ◾गुजरात में भाजपा की प्रचंड जीत के बाद भूपेंद्र पटेल फिर से संभालेंगे मुख्यमंत्री पद, 12 दिसंबर को लेंगे शपथ ◾HP: 'मोदी लहर' में फेल हुए 'जयराम ठाकुर', कहा- मैं जनादेश का करता हूं सम्मान...राज्यपाल को सौंप रहा हूं इस्तीफा ◾ संजय सिंह ने कहा- 10 साल में राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा हासिल किया, गुजरात के लोगों के शुक्रगुजार हैं ◾Gujarat Election: EVM में गड़बड़ी का आरोप लगाकर कांग्रेस प्रत्याशी भरत सोलंकी ने की आत्महत्या की कोशिश◾गुजरात चुनाव : AAP के मुख्यमंत्री पद के चेहरे इसुदान गढ़वी की हार, भाजपा को 18,000 मतों से मिली शिकस्त ◾मोदी गढ़ में फिर 'डबल इंजन' सरकार, शाह ने कहा- गुजरात की जनता ने 'फ्री की रेवड़ी' और 'खोखले वादों' को नकारा◾Gujarat: 'कमल' की जीत पर बोले पवार- गुजरात में चल गया 'मोदी मेजिक'... लेकिन 2024 में नहीं चलेगा ◾Tata स्टील को सुप्रीम कोर्ट से लगा बड़ा झटका, जानिए 35000 करोड़ का क्या है मामला◾Mainpuri: डिंपल यादव ने किया बड़ा फेर- बदल, जीत दर्ज कर ले गई लोकसभा सीट◾अखिलेश यादव ने शिवपाल को दिया समाजवादी पार्टी का झंडा, सपा में प्रसपा के विलय की तेज हुई अटकलें ◾'भारत जोड़ो यात्रा' पहुंचेगी पश्चिम बंगाल में..., राहुल औऱ प्रियंका निभाएंगे अहम भूमिका, जानें पूरी रणनीति◾

राष्ट्रपति चुनाव में यशवंत सिन्हा जी की उम्मीदवारी को समर्थन करेगी टीआरएस : के.टी. रामा

तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) ने आगामी राष्ट्रपति चुनावों में संयुक्त विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को अपना समर्थन देने का फैसला किया है। टीआरएस के कार्यकारी अध्यक्ष के.टी. रामा राव ने सोमवार को ट्विटर पर इसकी घोषणा करते हुए कहा, "एटदरेट टीआरएस पार्टी ऑनलाइन के अध्यक्ष श्री केसीआर गारू ने भारत के राष्ट्रपति के चुनाव में श्री एटदरेट यशवंत सिन्हा जी की उम्मीदवारी को समर्थन देने का फैसला किया है, साथ ही हम अपने संसद सदस्यों के साथ, आज नामांकन में टीआरएस का प्रतिनिधित्व करेंगे।"

बाद में दिन में सिन्हा द्वारा नामांकन दाखिल करने के दौरान रामा राव टीआरएस सांसदों के साथ टीआरएस का प्रतिनिधित्व करने के लिए नई दिल्ली के लिए रवाना हुए। लोकसभा में टीआरएस नेता नामा नागेश्वर राव, सांसद रंजीत रेड्डी, सुरेश रेड्डी, बी बी पाटिल और अन्य नामांकन दाखिल करने के दौरान मौजूद रहेंगे। टीआरएस प्रमुख ने यह फैसला राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेता शरद पवार से फोन पर बात करने और सिन्हा की उम्मीदवारी के लिए उनके समर्थन का अनुरोध करने के कुछ दिनों बाद लिया है।

इससे पहले, टीआरएस ने राष्ट्रपति चुनाव के लिए विपक्ष की रणनीति पर चर्चा करने के लिए 15 जून को राष्ट्रीय राजधानी में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा बुलाई गई बैठक से दूरी बना ली थी। टीआरएस ममता बनर्जी द्वारा कांग्रेस पार्टी को बैठक के लिए आमंत्रित करने से नाखुश थी। टीआरएस ने भाजपा और कांग्रेस दोनों से समान दूरी बनाए रखने के लिए अपने रुख का हवाला दिया। टीआरएस नेतृत्व ने स्पष्ट कर दिया कि वह किसी भी ऐसे अभ्यास का हिस्सा नहीं हो सकता जिसमें कांग्रेस की भागीदारी हो।

टीआरएस नेताओं ने एक उम्मीदवार के पहले से ही चुने जाने पर बैठक बुलाने के उद्देश्य पर भी सवाल उठाया था। उन्हें लगा कि विपक्षी दलों को पहले सभी दलों को स्वीकार्य नेता के बारे में पहले ही चर्चा कर लेनी चाहिए थी और फिर बाद में ऐसे नेता को मना लेना चाहिए था। वे ममता बनर्जी के शरद पवार से विपक्षी उम्मीदवार बनने के अनुरोध का जिक्र कर रहे थे। हालांकि, राकांपा प्रमुख ने इस प्रस्ताव को यह कहते हुए ठुकरा दिया कि वह सक्रिय राजनीति में बने रहना चाहते हैं।