BREAKING NEWS

गणतंत्र दिवस पर सैन्य शक्ति, सांस्कृतिक विरासत और सामाजिक-आर्थिक प्रगति का होगा भव्य प्रदर्शन◾अदनान सामी को पद्मश्री पुरस्कार मिलने पर हरदीप सिंह पुरी ने दी बधाई ◾पूर्व मंत्रियों अरूण जेटली, सुषमा स्वराज और जार्ज फर्नांडीज को पद्म विभूषण से किया गया सम्मानित, देखें पूरी लिस्ट !◾कोरोना विषाणु का खतरा : करीब 100 लोग निगरानी में रखे गए, PMO ने की तैयारियों की समीक्षा◾गणतंत्र दिवस : चार मेट्रो स्टेशनों पर प्रवेश एवं निकास कुछ घंटों के लिए रहेगा बंद ◾ISRO की उपलब्धियों पर सभी देशवासियों को गर्व है : राष्ट्रपति ◾भाजपा ने पहले भी मुश्किल लगने वाले चुनाव जीते हैं : शाह◾यमुना को इतना साफ कर देंगे कि लोग नदी में डुबकी लगा सकेंगे : केजरीवाल◾उमर की नयी तस्वीर सामने आई, ममता ने स्थिति को दुर्भाग्यपूर्ण बताया◾ओम बिरला ने देशवासियों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दी◾PM मोदी ने पद्म पुरस्कार पाने वालों को दी बधाई◾भारत और ब्राजील आतंकवाद के खिलाफ आपसी सहयोग बढ़ाने का किया फैसला◾370 के खात्मे के बाद कश्मीर में शान से फहरेगा तिरंगा : अमित शाह◾देशवासियों को बांटने, संविधान को कमजोर करने की हो रही साजिश : सोनिया◾PM मोदी और नेतन्याहू ने फोन पर वैश्विक और क्षेत्रीय मामलों पर चर्चा की◾गांधी शांति यात्रा पहुंची आगरा ◾भारत-नेपाल सीमा पर पहुंचा कोरोना वायरस, बॉर्डर पर होगी स्क्रीनिंग◾ दिल्ली चुनाव : 250 नेता, हर दिन 500 जनसभाएं, इस तरह माहौल बनाने में जुटी है भाजपा◾आर्थिक विकास के लिए संविधान के मुताबिक चलना होगा - कोविंद◾भूमि सुधार कानून में बदलाव होगा : येदियुरप्पा◾

कर्नाटक में दो निर्दलीय विधायकों ने विधानसभा में विपक्ष की ओर सीट मांगी

कर्नाटक में (एस) गठबंधन सरकार से अपना समर्थन वापस लेने वाले दो निर्दलीय विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष को पत्र लिख कर सदन में उनसे विपक्ष की ओर सीट आवंटित करने का अनुरोध किया है। मुलाबगीलु विधायक एच. नागेश और रानेबेन्नुर विधायक आर. शंकर ने विधानसभा अध्यक्ष (स्पीकर) को लिखे अलग- अलग पत्र में कहा है कि उन्होंने सत्तारूढ़ गठबंधन से अपना समर्थन वापस ले लिया है। साथ ही, उन्होंने विधानसभा में अपने लिए विपक्ष की ओर बैठने की व्यवस्था करने का भी उनसे अनुरोध किया है। 

कर्नाटक विधानसभा का मॉनसून सत्र शुक्रवार को शुरू हो गया और इसके 26 जुलाई तक चलने का कार्यक्रम है। बहरहाल, सत्र के पहले दिन दोनों निर्दलीय विधायक सदन से अनुपस्थित रहे। सूत्रों के मुताबिक वे मुंबई के एक होटल में ठहराए गए बताए जा रहे हैं। ये दोनों निर्दलीय विधायक राज्य में मंत्री थे। उन्होंने कुछ दिन पहले राज्यपाल वजुभाई वाला को राजभवन में अपना इस्तीफा सौंप दिया था और सरकार से समर्थन वापस लेने के अपने फैसले की उन्हेंजानकारी दी थी। 

गौरतलब है कि 14 जून को मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने अपने मंत्रिमंडल का विस्तार करते हुए नागेश और शंकर को मंत्री बनाया था। कुमारस्वामी ने साल भर पुरानी अपनी सरकार को संभवत: स्थिरता प्रदान करने के लिए यह कदम उठाया था। शंकर को कांग्रेस के कोटे से, जबकि नागेश को जद(एस) के कोटे से मंत्री बनाया गया था। 

इन दोनों निर्दलीय विधायकों के समर्थन से 224 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा के पास अब 107 विधायक हैं। वहीं, यदि सत्तारूढ़ गठबंधन के 16 बागी विधायकों का इस्तीफा स्वीकार कर लिया जाता है, तो कांग्रेस और जद(एस) के कुल विधायकों की संख्या घट कर 100 रह जाएगी। विधानसभा में विश्वास मत की स्थिति में स्पीकर का भी एक वोट होता है। 

कांग्रेस ने भाजपा पर साधा निशाना, कहा- बेटियों की सुरक्षा पर सरकार संवेदनहीन