विमानन कंपनी इंडिगो के दो विमान मंगलवार को बेंगलुरु के आकाश में उड़ान के दौरान टकराने से बाल-बाल बचे। दोनों विमान में करीब 330 यात्री सवार थे। विमानन सूत्रों ने बताया कि इस घटना की वजह जानने के लिए अधिकारियों ने जांच बिठाई है। घटना में शामिल विमान कोयंबटूर-हैदराबाद और बेंगलुरु-कोचिन हवाई मार्ग पर जा रहे थे। इंडिगो के एक प्रवक्ता ने घटना की पुष्टि की है। हैदराबाद जाने वाले विमान में 162 यात्री जबकि दूसरे विमान में 166 यात्री सवार थे। सूत्रों ने बताया कि दोनों विमानों में बस 200 फुट की दूरी थी जब यह हवा में एक-दूसरे के सामने आ गए थे और ट्रैफिक कोलिजन एवॉयडेंस सिस्टम (टीसीएएस) अलार्म के बजने के बाद इस हादसे को टाला जा सका।

सूत्रों ने बताया कि विमान दुर्घटना जांच बोर्ड (एएआईबी) ने 10 जुलाई को घटी इस घटना की जांच शुरू कर दी है। फिलहाल इस मामले में यह जानकारी नहीं मिल सकी है कि ऐसी चूक किस वजह से हुई। हालांकि, सतर्कता के कारण हादसा जरूर टल गया। विमान कंपनी की तरफ से भी अभी तक कोई आधिकारिक बयान नहीं जारी किया गया है। गौरतलब है की हवा में इंडिगो विमानों के टकराने का यह पहला मामला नहीं है, इससे पहले भी इंडिगो के विमान टकराने से बच चुके हैं।  यही नहीं, पिछले साल नंवबर में इंडिगो के एक विमान में लैपटॉप फटने से भी अफरा-तफरी मची थी।