BREAKING NEWS

Parliament Winter Session : PM मोदी की सभी दलों से अपील, सत्र को सार्थक बनाने की दिशा में करें प्रयास ◾ महाराष्ट्र Vs कर्नाटक : अमित शाह के दखल से सुलझेगा BJP साशित राज्यों का विवाद?◾कोविड-19 : देश में पिछले 24 घंटो में 166 नए मामले दर्ज, उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटकर 4,255 ◾MPC Meeting : RBI ने रेपो रेट में की 0.35% की बढ़ोत्तरी, कार-होम और पर्सनल सभी लोन होंगे महंगे ◾'MCD में भी केजरीवाल, अच्छे होंगे 5 साल' रिजल्ट से पहले AAP दफ्तर में आए नए पोस्टर◾Delhi MCD Elections : दिल्ली में 15 साल राज करने वाली शीला की हुई थी हार, अब भाजपा के साथ भी होगा ऐसा ? ◾संसद के शीतकालीन सत्र का आज से होगा आगाज, कई मुद्दों को लेकर सरकार को निशाना बनाएगा विपक्ष◾AAP को मिलने वाली हैं 180 से ज्यादा सीटें, जीत की ओर इशारा कर रहे हैं एग्जिट पोल : सौरभ भारद्वाज◾MCD रिजल्ट : शुरुआती रुझानों में BJP और AAP में कड़ा मुकाबला, कौन बनेगा दिल्ली का बॉस◾आज का राशिफल (07 दिसंबर 2022)◾Delhi MCD Election Result : एमसीडी में फिर आएगी BJP या AAP करेगी चमत्कार?, 250 वार्डों का परिणाम आज, 42 सेंटर्स पर होगी मतगणना◾MCD चुनाव : एग्जिट पोल में आप की जीत के अनुमान के बाद केजरीवाल ने दिल्लीवासियों को दी बधाई◾Morocco vs Spain (FIFA World Cup 2022) : स्पेन को पेनल्टी शूटआउट में हराकर मोरक्को पहली बार विश्व कप के क्वार्टर फाइनल में◾दिल्ली शराब नीति मामला : 11 दिसंबर को कविता से पूछताछ करेगी CBI◾MP Borewell Incident : एमपी के बैतूल में 8 साल का बच्चा बोरवेल में गिरा, बचाव अभियान जारी◾भारत अंतरराष्ट्रीय मोटा अनाज वर्ष के जश्न को आगे बढ़ाएगा - PM मोदी◾गुजरात में भी विफल मीम-भीम गठजोड़, सर्वे ने सभी को चौंकाया, भाजपा को सबसे आगे दिखाया ◾Tamil Nadu: सीएम स्टालिन ने कहा- उत्तर भारत के पेरियार हैं अंबेडकर◾UP News: सपा विधायक अतुल प्रधान ने किया सदन की कार्यवाही का फेसबुक पर सीधा प्रसारण, हुई कार्रवाई◾संसद में मचेगा घमासान! विपक्ष की महंगाई, बेरोजगारी जैसे मुद्दे पर मोदी सरकार को घेरने की तैयारी◾

IT विभाग ने उड़ाई BJP नेताओं की नींदें, CM येदियुरप्पा के करीबी के पास से जब्त हुई 750 करोड़ की अघोषित आय

बेंगलुरु और अन्य जगहों पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की हालिया छापेमारी पूर्व मुख्यमंत्री बी.एस. येदियुरप्पा के करीबी सहयोगी बी.आर. उमेश व अन्य भाजपा के दिग्गज नेता के लिए झटका हैं। पार्टी सूत्रों ने इसकी जानकारी दी। तलाशी व जब्ती के दौरान करीब 750 करोड़ रुपये की अघोषित आय मिली है। इसमें से 487 करोड़ रुपये की राशि को संबंधित समूह की संस्थाओं ने अपनी अघोषित आय के रूप में स्वीकार किया है। 7 अक्टूबर को शुरू हुई तलाशी 4 राज्यों में फैले 47 परिसरों में की गई है।

पूर्व मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी ने गंभीर आरोप लगाए हैं कि येदियुरप्पा के करीबी सहयोगियों पर केवल उन्हें 'चेकमेट' देने और उन्हें वश में करने के इरादे से आईटी छापे मारे गए हैं। उन्होंने आरोप लगाया, येदियुरप्पा और विपक्ष के नेता सिद्धारमैया ने कर्नाटक में बीजेपी को कमजोर करने की योजना बनाने के लिए मैसूर में मुलाकात की। कम सामान्य ज्ञान वाला कोई भी व्यक्ति समझ सकता है कि येदियुरप्पा और उनके बेटे विजयेंद्र के करीबी सहयोगियों को आईटी विभाग ने क्यों निशाना बनाया है। यह भाजपा द्वारा येदियुरप्पा पर ब्रेक लगाने के लिएइरादे से किया जा रहा है।

उन्होंने कहा, मुझे यह कहने में कोई झिझक नहीं है। बीजेपी येदियुरप्पा को नियंत्रित करना चाहती है। हालांकि, छापेमारी के निष्कर्षों ने घटनाओं को एक गंभीर मोड़ दिया है क्योंकि अब इस गड़बड़ी की गहन जांच किए जाने की उम्मीद है। तलाशी के दौरान 4.69 करोड़ रुपये की बेहिसाब नकदी, 8.67 करोड़ रुपये के बेहिसाब आभूषण, सर्रार्फा और 29.83 लाख रुपये मूल्य की चांदी की वस्तुएं जब्त की गई हैं। आयकर विभाग ने बेंगलुरु के बाहर स्थित तीन प्रमुख ठेकेदारों के मामले में तलाशी और जब्ती अभियान चलाया, येदियुरप्पा के सहयोगी उमेश 7 अक्टूबर से तीन दिन के लिए बीआर सहित सिंचाई और राजमार्ग परियोजनाओं के निष्पादन में लगे हुए हैं।

सूत्रों ने बताया कि येदियुरप्पा तक पहुंचने की पूरी संभावनाएं हैं क्योंकि छापे जल संसाधन मंत्रालय के तहत सिंचाई विभाग की परियोजनाओं पर केंद्रित थे, जिसमें 20,000 करोड़ रुपये से अधिक की विभिन्न परियोजनाओं के कार्यान्वयन शामिल थे। आईटी विभाग ने आगे दावा किया कि समूहों में से एक ने 382 करोड़ रुपये के श्रम खर्च को बढ़ाने में लिप्त होने की बात स्वीकार की है। इसके अलावा, एक अन्य समूह ने गैर-मौजूदा पेपर कंपनियों से 105 करोड़ रुपये की आवास प्रविष्टियां ली हैं, जिन्हें इस समूह द्वारा स्वीकार किया गया है।

सूत्रों के अनुसार, इन भारी हेराफेरी की भविष्य में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा जांच की जाएगी। सूत्रों ने कहा कि येदियुरप्पा, जिन्होंने मुख्यमंत्री पद से हटने के बाद खुद को मुखर करना शुरू कर दिया है, उनके पास अब पार्टी के फरमान के मुताबिक चलने के अलावा और कोई रास्ता नहीं होगा। येदियुरप्पा, शीर्ष पद से हटने के लिए कहे जाने के बावजूद, एक जन नेता बने हुए हैं और भाजपा विधायकों पर उनकी अच्छी पकड़ है।

येदियुरप्पा अगले विधानसभा चुनावों में कर्नाटक में भाजपा पार्टी के प्रॉस्पेक्टस को नुकसान पहुंचाने की पूरी क्षमता रखते हैं। चूंकि भाजपा आलाकमान चाहता है कि उनका समर्थन सत्ता में वापस आए, लेकिन साथ ही वह उनकी छाया में नहीं रहना चाहते। सूत्रों का कहना है कि आईटी छापों के साथ, पार्टी इन लक्ष्यों को प्राप्त करना चाहती थी और आईटी छापों के निष्कर्षों ने पार्टी का काम आसान कर दिया।

इस बीच, आईटी अधिकारियों ने 'डिजाइन बॉक्स' कंपनी के कार्यालय और एक होटल के कमरे पर छापेमारी की है, जहां कंपनी के मालिक नरेश अरोड़ा रहते हैं। कंपनी बेंगलुरु में शक्तिशाली राजनेताओं के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का प्रबंधन करती है और राजनेताओं की ब्रांडिंग भी करती है। छापेमारी मंगलवार की आधी रात तक जारी रही। पहले कहा जाता था कि कंपनी का मालिकाना हक कांग्रेस अध्यक्ष डी.के. शिवकुमार के पास है। हालांकि शिवकुमार ने इससे इनकार किया है।