रांची : आयुष्मान भारत के तहत राज्य के नागरिकों को बीमा का लाभ सुनिश्चित हो, इसकी नियमित समीक्षा करें। एक परामर्शदात्री समिति बने जिसमें नागरिकों की भागीदारी भी सुनिश्चित हो। इसका प्रचार-प्रसार भी नियमित रूप से जारी रहे। आयुष्मान भारत के तहत सरकारी अस्पतालों में सरायकेला और रांची के सदर अस्पताल बहुत अच्छा कार्य कर रहे हैं। जब ये अच्छा कर सकते हैं तो अन्य 22 जिलों के सदर अस्पताल भी ऐसा ही करें। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने झारखण्ड मंत्रालय में आयुष्मान भारत के तहत किये जा रहे कार्यों की समीक्षा करते हुए यह बात कही।

मुख्यमंत्री ने कहा कि निजी अस्पतालों के भी निबंधन अधिक से अधिक हो। अस्पतालों को जो बीमा की राशि का भुगतान किया जाना है, वह भी आसानी से अस्पतालों को मिल सके, इसकी भी लगातार समीक्षा की जानी चाहिए। सरकार के जो अस्पताल निबंधित हैं उनके चिकित्सकों को भी प्रेरित किए जाने की आवश्यकता है, ताकि वे अस्पताल में आने वाले मरीजों को पूरी तत्परता के साथ आयुष्मान भारत के तहत बीमा का लाभ दिलाएं और उनका इलाज करें।

बैठक में मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी अपर मुख्य सचिव सा विकास आयुक्त डीके तिवारी, अपर मुख्य सचिव वित्त सुखदेव सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डॉ सुनील कुमार वर्णवाल, स्वास्थ्य विभाग के सचिव नितिन मदन कुलकर्णी तथा आयुष्मान भारत के मिशन निदेशक दिव्यांशु झा सहित अन्य वरीय अधिकारी उपस्थित थे।