BREAKING NEWS

BJP सांसद ओम बिड़ला बने नए लोकसभा स्पीकर, कांग्रेस सहित सभी दलों का मिला समर्थन◾49 साल के हुए राहुल गांधी, PM मोदी ने की लम्बी उम्र और अच्छे स्वास्थ्य की कामना◾बिहार में जारी है चमकी बुखार का कहर, अब तक 112 बच्चों की हुई मौत◾'एक देश, एक चुनाव' पर मोदी की बैठक में ये नेता नहीं होंगे शामिल, मायावती ने ट्वीट कर दिया बयान◾'एक देश एक चुनाव' पर PM मोदी की बैठक आज, ममता नहीं होंगी शामिल◾पेट्रोल और डीजल के दाम स्थिर, जाने आपके राज्य में क्या है भाव !◾बंगाल में BJP कार्यकर्ता की हत्या, तृणमूल पर लगाया आरोप◾CM योगी ने नड्डा,शाह से की मुलाकात◾कांग्रेस ने ‘पार्टी विरोधी’ गतिविधियों के लिए रोशन बेग को किया सस्पेंड◾तृणमूल के विधायक, कई पार्षदों ने थामा BJP का दामन◾‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’ पर बुधवार सुबह निर्णय लेंगे कांग्रेस और सहयोगी दल ◾अधीर रंजन चौधरी लोकसभा में कांग्रेस के बने नेता◾स्पीकर के चुनाव में बिड़ला का समर्थन करेगा UPA, ''एक राष्ट्र, एक चुनाव'' पर अभी निर्णय नहीं ◾बजट से पहले मोदी के साथ महत्वपूर्ण विभागों के सचिवों की बैठक ◾J&K : पुलवामा में पुलिस थाने पर ग्रेनेड हमला, 5 घायल, 2 की हालत गंभीर◾PM मोदी ने 19 जून को बुलाई सर्वदलीय बैठक, 'एक राष्ट्र एक चुनाव' पर करेंगे चर्चा◾मेरठ : गमगीन माहौल में हुआ शहीद मेजर का अंतिम संस्कार, अंतिम दर्शन को उमड़ा जनसैलाब ◾WORLD CUP 2019, ENG VS AFG : इंग्लैंड ने अफगानिस्तान के खिलाफ रिकार्डों की झड़ी लगाई ◾विपक्ष ने महाराष्ट्र के वित्त मंत्री के ट्विटर हैंडल पर बजट लीक को लेकर की सरकार आलोचना की◾Top 20 News - 18 June : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾

अन्य राज्य

संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण सभा ने भारत के दो प्रस्तावों को ग्रहण किया

संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण सभा (यूएनईए) ने एक बार इस्तेमाल की जाने वाली प्लास्टिक तथा अनवरत नाइट्रोजन प्रबंधन से जुड़े भारत के दो प्रस्तावों को ग्रहण कर लिया है। पर्यावरण, वन तथा जलवायु परिवर्तन मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि इन प्रस्तावों को 11 मार्च से 15 मार्च तक नैरोबी में 'पर्यावरणीय चुनौतियों एवं सतत उत्पादन तथा उपभोग के लिए अभिनव समाधान' विषय पर आयोजित यूएनईए के चौथे सत्र में स्वीकार किया गया।

मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा, 'वैश्विक नाइट्रोजन उपयोग दक्षता कम है, जिसके परिणामस्वरूप प्रतिक्रियाशील नाइट्रोजन से प्रदूषण होता है। यह मानव स्वास्थ्य तथा पर्यावरण प्रणाली सेवाओं के लिये खतरा है। इससे जलवायु परिवर्तन तथा समताप मंडल ओजोन क्षीण होती है। उन्होंने कहा, 'दुनियाभर में पैदा की गई प्लास्टिक की कुछ मात्रा ही पुन: चक्रित की जाती है तथा इसमें से ज्यादातर प्लास्टिक पर्यावरण और जलीय जैव-विविधता को नुकसान पहुंचाती है। दोनों वैश्विक चुनौतियां हैं और भारत द्वारा यूएनईए में रखे गए प्रस्ताव इन मुद्दों के निपटने तथा वैश्विक स्तर पर ध्यान आकर्षित करने की दिशा में पहला महत्वपूर्ण कदम है।'