केंद्रीय मंत्री और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा द्वारा राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) पर लगातार निशाना साधे जाने और राजग नहीं छोड़ने पर शुक्रवार को राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने कुशवाहा को आड़े हाथ लिया। राजद ने कहा कि वह कुर्सी की लालच में राजग नहीं छोड़ना चाहते हैं।

राजद उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने कहा कि कुश्वाहा याचना नहीं रण करने की बात भले कह रहे हैं, लेकिन उसका लक्षण उनमें दिख नहीं रहा है। उन्होंने कहा कि ‘वह मंत्री पद की लालच में दिख रहे हैं। मंत्री पद की कुर्सी की वजह से वह राजग नहीं छोड़ना नहीं चाहते हैं।’

rjd

तिवारी ने इसे ‘अनैतिक’ बताते हुए कहा, ‘कुशवाहा जो कर रहे हैं, उससे वह अपना कद छोटा कर रहे हैं। वह जल्द कोई फैसला नहीं लेंगे, तो उनकी प्रतिष्ठा धूमिल हो जाएगी। आज उन्होंने जो स्थिति पैदा कर दी है, उससे लोग भ्रम की स्थिति में हैं। लोग अब उनके रवैये को कुर्सी का लालच बता रहे हैं।’उन्होंने कहा कि जब वह (कुशवाहा) जानते हैं कि राजग में उनकी जगह नहीं है और उनका अपमान हो रहा है, तब वह राजग में क्यों बने हुए हैं।

कुशवाहा के लिए Congress ने कहा, महागठबंधन में मुख्यमंत्री की ‘वैकेंसी’ नहीं

तिवारी ने कहा, ‘कुशवाहा केंद्र और राज्य सरकार पर विभिन्न मुद्दों को लेकर अपनी भड़ास भी निकाल रहे हैं और कह भी रहे हैं कि मई तक मंत्री पद पर भी बने रहेंगे।’ उल्लेखनीय है कि केंद्रीय मंत्री कुशवाहा ने गुरुवार को मोतिहारी में पार्टी के खुले अधिवेशन में भाजपा और बिहार के मुख्यमंत्री पर जमकर निशाना साधा था।