BREAKING NEWS

PM मोदी ने पूर्वोत्तर के तीन राज्यों को स्थापना दिवस पर बधाई दी, बोले- देश के विकास में दे रहे अहम योगदान◾इंडिया गेट पर नहीं अब नेशनल वॉर मेमोरियल पर जलेगी अमर जवान ज्योति, कांग्रेस ने जताया विरोध◾PM मोदी सोमनाथ मंदिर के पास बने नए सर्किट हाउस का करेंगे उद्घाटन◾पीएम मोदी का दुनिया में भी बज रहा डंका, सबसे लोकप्रिय नेता बने, बाइडेन और बोरिस को छोड़ा पीछे◾India Corona Update : साढ़े 3 लाख से ज्यादा नए मामले, 703 मरीजों की मौत, 20 लाख के पार पहुंचे एक्टिव केस ◾World Corona update: कोविड संक्रमण के नए मामलों में इजाफा जारी, अब तक 34 करोड़ से ज्यादा लोग प्रभावित◾पश्चिम अफ्रीकी देश घाना में भीषण विस्फोट, 500 इमारतें हुई खाक, अब तक 17 लोगों की मौत◾देश के कई हिस्सों में शीतलहर का कहर जारी, दिल्ली सहित इन राज्यों में बारिश का अनुमान◾5 साल तक के बच्चों को मास्क पहनना चाहिए या नहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी किए नए दिशानिर्देश◾PM मोदी ने जगन्नाथ के साथ भारतीय सहयोग से मॉरीशस में बनी सामाजिक आवास परियोजना का किया उद्घाटन ◾गोवा चुनाव : कांग्रेस के उम्मीदवारों की नयी सूची में भाजपा, आप के पूर्व नेताओं के नाम शामिल ◾PM मोदी के साथ ‘परीक्षा पे चर्चा’ में भाग लेने की समय सीमा 27 जनवरी तक बढ़ाई गई ◾दिल्ली में घटे कोरोना टेस्ट के दाम, अब 500 की जगह इतने रुपये में करवा सकते हैं RT-PCR TEST ◾ इंडिया गेट पर बने अमर जवान ज्योति की मशाल अब हमेशा के लिए हो जाएगी बंद, जानिए क्या है पूरी खबर ◾IAS (कैडर) नियामवली में संशोधन पर केंद्र आगे नहीं बढ़े: ममता ने फिर प्रधानमंत्री से की अपील◾कल के मुकाबले कोरोना मामलों में आई कमी, 12306 केस के साथ 43 मौतों ने बढ़ाई चिंता◾बिहार में 6 फरवरी तक बढ़ाया गया नाइट कर्फ्यू , शैक्षणिक संस्थान रहेंगे बंद◾स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी जानकारी, कोविड-19 की दूसरी लहर की तुलना में तीसरी में कम हुई मौतें ◾बेरोजगारी और महंगाई जैसे मुद्दों पर कांग्रेस ने किया केंद्र का घेराव, कहा- नौकरियां देने का वादा महज जुमला... ◾प्रधानमंत्री मोदी कल सोमनाथ में नए सर्किट हाउस का करेंगे उद्घाटन, PMO ने दी जानकारी ◾

उत्तराखंड : CM धामी का बड़ा ऐलान, भंग किया चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने त्रिवेंद्र सरकार के फैसले को पलटते हुए चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड को भंग करने का ऐलान किया है। दो साल पहले त्रिवेंद्र सरकार के समय चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड अस्तित्व में आया था। जिसे मौजूदा धामी सरकार ने भंग कर दिया है।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को ऐलान करते हुए कहा, ‘‘आप सभी की भावनाओं, तीर्थपुरोहितों, हक-हकूकधारियों के सम्मान एवं चारधाम से जुड़े सभी लोगों के हितों को ध्यान में रखते हुए श्री मनोहर कांत ध्यानी जी की अध्यक्षता में गठित उच्च स्तरीय कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर सरकार ने देवस्थानम बोर्ड अधिनियम वापस लेने का फैसला किया है।’’

महिला ने नवजात को ढाई लाख में बेचा, दो लोगों ने पीछा कर लूट लिए पैसे

इससे पहले, ध्यानी समिति ने रविवार शाम को अपनी अंतिम रिपोर्ट मुख्यमंत्री को सौंपी थी जिस पर उन्होंने इसका परीक्षण कर जल्द निर्णय लेने की बात कही थी। चारों हिमालयी धामों-बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री के तीर्थ पुरोहितों द्वारा देवस्थानम बोर्ड के विरोध में लंबे समय से चलाए जा रहे आंदोलन के मद्देनजर धामी ने जुलाई में बीजेपी नेता ध्यानी की अध्यक्षता में इस समिति का गठन किया था।

बोर्ड के गठन को अपने पारंपरिक अधिकारों का हनन बताते हुए चारों धामों के तीर्थ पुरोहित इसे भंग करने की मांग को लेकर लंबे समय से आंदोलन चला रहे थे। निकट आ रहे विधानसभा चुनावों को देखते हुए उन्होंने आंदोलन तेज करने की धमकी दी थी। धामी सरकार के इस निर्णय को इसी संदर्भ में देखा जा रहा है ।

देवस्थानम अधिनियम पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की सरकार के कार्यकाल में दिसंबर 2019 में पारित हुआ था जिसके तहत चार धामों सहित प्रदेश के 51 मंदिरों के प्रबंधन के लिए बोर्ड का गठन किया गया था। देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड को भंग करने के ऐलान होने पर केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के तीर्थ पुरोहितों ने खुशी जताई है।