BREAKING NEWS

चीन में कोरोना वायरस का कहर जारी, मरने वालों की संख्या 2000 के पार◾मनमोहन ने की Modi सरकार की आलोचना, कहा - सरकार आर्थिक मंदी को स्वीकार नहीं कर रही है◾अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की भारत यात्रा के मद्देनजर J&K में सुरक्षा बल सतर्क◾राम मंदिर का मॉडल वही रहेगा, थोड़ा बदलाव किया जाएगा : नृत्यगोपाल दास ◾मुंबई के कई बड़े होटलों को बम से उड़ाने की धमकी, ई-मेल भेजने वाला लश्कर-ए-तैयबा का सदस्य◾‘हिंदू आतंकवाद’ की साजिश वाली बात को मारिया ने 12 साल तक क्यों नहीं किया सार्वजनिक - कांग्रेस◾सरकार को अयोध्या में मस्जिद के लिए ट्रस्ट और धन उपलब्ध कराना चाहिए - शरद पवार◾संसदीय क्षेत्र वाराणसी में फलों फूलों की प्रदर्शनी देख PM मोदी हुए अभिभूत, साझा की तस्वीरें !◾दुनिया भर में कोरोना वायरस का प्रकोप, विश्व में अब तक 75,000 से अधिक लोग वायरस से संक्रमित◾आर्मी हेडक्वार्टर को साउथ ब्लॉक से दिल्ली कैंट ले जाया जाएगा : सूत्र◾INDO-US के बीच व्यापार समझौता ‘अटका’ नहीं है : डोनाल्ड ट्रंप ने कहा - जल्दबाजी में यह नहीं किया जाना चाहिये◾कन्हैया ने BJP पर साधा निशाना , कहा - CAA से गरीबों एवं कमजोर वर्गों की नागरिकता खत्म करना चाहती है Modi सरकार◾महंत नृत्य गोपाल दास बने श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष , नृपेंद्र मिश्रा को निर्माण समिति की कमान◾पंजाब में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले सिद्धू के AAP में जाने की अटकलें , भगवंत बोले- कोई वार्ता नहीं हुई◾पंजाब में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले नवजोत सिद्धू AAP में जाने की अटकलें , भगवंत बोले- कोई वार्ता नहीं हुई◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले माह जाएंगे बांग्लादेश दौरे पर◾विनायक दामोदर सावरकर पर बड़े विमर्श की तैयारी, अमित शाह संभालेंगे कमान◾अगले 5 साल में खोले जाएंगे 10,000 नए एफपीओ, मंत्रिमंडल ने दी योजना को मंजूरी◾केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में 22वें विधि आयोग के गठन को मंजूरी दी◾देश विरोधी नारों के मामले को लेकर केजरीवाल बोले - कन्हैया के चार्जशीट पर निर्णय के लिए विधि विभाग से कहेंगे◾

NRC और CAA के मुद्दे पर बोले नायडू- हिंसा से किसी मुद्दे का समाधान नहीं हुआ, प्रगति के लिए शांति जरूरी

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने शुक्रवार को कहा कि प्रगति के लिए शांति जरूरी है क्योंकि यह साबित तथ्य है कि हिंसा से किसी मुद्दे का समाधान नहीं हुआ है। उन्होंने आगजनी और संपत्तियों तथा वाहनों को नुकसान पहुंचाए जाने को खारिज करते हुए कहा कि अगर कोई किसी व्यवस्था का विरोध करना चाहता है तो उसे उसके पीछे के ‘‘विचारों को खत्म करना’’ चाहिए न कि हिंसा में संलिप्त होना चाहिए। देश में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के विरोध में हुए हिंसक प्रदर्शनों के परिप्रेक्ष्य में नायडू का यह बयान आया है। 

वह कवि कुलगुरु कालीदास संस्कृत विश्वविद्यालय की तरफ से आयोजित सौवें ‘ऑल इंडिया ओरिएन्टल कांफ्रेंस’ के उद्घाटन अवसर पर बोल रहे थे। उन्होंने कहा, ‘‘अंतत: यह आपका अपना देश है। बस को जलाना, ट्रेन को जलाना और वाहनों को जलाना, आपको विचारों को जलाना है न कि वस्तुओं को। और हिंसा से कोई समाधान नहीं निकल सकता, यह साबित हो चुका है।’’ 

जम्मू-कश्मीर में इंटरनेट पर प्रतिबंध मामले में गुलाम नबी आजाद ने SC के आदेश का किया स्वागत

नायडू ने कहा, ‘‘प्रगति के लिए शांति की काफी जरूरत होती है और अगर आपको तनाव है तो फिर आप ध्यान नहीं दे सकते। इसलिए शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व, शांतिपूर्ण देश और शांतिपूर्ण विश्व के लिए हम सबको एकजुट होना होगा ताकि पूरी मानवता केवल समृद्धि से ही नहीं बल्कि सुख से भी रह सके।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘केवल समृद्धि आने से खुशी नहीं होती क्योंकि खुशी के लिए आपको और चीजों की जरूरत होती है। यह हमारी भारतीय परम्परा में है और आपको देखना चाहिए कि यह परम्परा नयी पीढ़ी तक पहुंचे।’’ उन्होंने कहा कि समाज में ‘‘विचार-विमर्श, सूचनाओं का आदान-प्रदान और पुष्टि के साथ सूचना की जरूरत है।’’