BREAKING NEWS

कांग्रेस कभी गठबंधन के भरोसे पर खरा नहीं उतरती : नरेन्द्र मोदी ◾TOP 20 NEWS 09 December : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾भीकाजी कामा प्लेस मेट्रो स्टेशन के नजदीक जेएनयू के छात्रों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज ◾नागरिकता संशोधन विधेयक भाजपा के घोषणापत्र का हिस्सा रहा, जनता ने इसे मंजूर किया : अमित शाह◾कर्नाटक उपचुनाव : BJP को 12 सीटों पर जीत मिली, विधानसभा में मिला स्पष्ट बहुमत ◾कर्नाटक : सिद्धारमैया ने कांग्रेस विधायक दल के नेता पद से दिया इस्तीफा◾JNU छात्रों ने राष्ट्रपति भवन तक शुरू किया मार्च, पुलिस ने की शांतिपूर्ण प्रदर्शन की अपील◾रॉबर्ट वाड्रा को कोर्ट से बड़ी राहत, मेडिकल ट्रीटमेंट के लिए विदेश जाने की मिली अनुमति◾बीजेपी ने छह सीटें जीतने के साथ कर्नाटक विधानसभा में बहुमत किया हासिल ◾झारखंड में बोले राहुल- सत्ता में आने पर लोगों को जल, जंगल और जमीन लौटाया जाएगा◾कांग्रेस ने धर्म के आधार पर देश विभाजन किया जिसके कारण नागरिकता कानून में संशोधन की जरूरत पड़ी : अमित शाह◾अखिलेश यादव ने नागरिकता संशोधन विधेयक को बताया भारत और संविधान का अपमान◾झारखंड में बोले PM मोदी- कांग्रेस कभी भी गठबंधन के भरोसे पर खरा नहीं उतरी◾गृहमंत्री अमित शाह ने लोकसभा में पेश किया नागरिकता संशोधन विधेयक◾शिवसेना नागरिकता संशोधन विधेयक का करेगी समर्थन: संजय राउत ◾हैदराबाद एनकाउंटर मामले पर बुधवार को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट◾कर्नाटक उपचुनाव : कांग्रेस नेता शिवकुमार ने मानी हार, बोले-लोगों ने दलबदलुओं को किया स्वीकार◾विभाजनकारी चालक के साथ कैब की सवारी है ‘कैब’ विधेयक: कपिल सिब्बल ◾शिवसेना ने केंद्र पर लगाया हिंदुओं-मुसलमानों का ‘अदृश्य विभाजन’ करने का आरोप◾कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का जन्मदिन आज, PM मोदी समेत कई नेताओं ने दी बधाई◾

अन्य राज्य

पश्चिम बंगाल का यह मछुआरा गंगा नदी से प्लास्टिक का कचरा रोज़ उठाता है

 0

गंगा नदी को नदी नहीं बल्कि जिंदगी के तौर पर पूरा भारत देश देखता है। बता दें कि गंगा नदी पर भारत की 40 प्रतिशत आबादी निर्भर है। सांस्कृतिक और आध्यात्मिक महत्व भी गंगा नदी का बहुत है। इन सब बातों के बाद भी गंगा मैली ही होती जा रही है। नमामि गंगे परियोजना भी सरकार ने गंगा नदी को साफ करने के लिए शुरु की है। 

सरकार की इस परियोजना के बारे में हर किसी को पता होगा। लेकिन क्या आप जानते हैं ऐसा एक शख्स है जो इस परियोजना के बारे में जानता नहीं है और ना ही इसका नाम भी सुना है। यह शख्स पश्चिम बंगाल का है। इस परियोजना का नाम नहीं सुनने के बाद भी यह शख्स गंगा नदी को साफ कर रहा है। गंगा नदी से यह प्लास्टिक का कचरा हर रोज उठाता है ताकी गंगा मैली ना हो पाए। 

कलिपडा दास 48 साल के हैं


यह शख्स कलिपडा दास है और इनकी उम्र 48 साल की है। कलिपडा दास पहले मछुआरे थे। कलिपडा दास ने मछली पकड़ने का काम 3 साल पहले ही छोड़ दिया था और तब से वह प्लास्टिक गंगा से उठाते हैं और वही काम करते हैं। 

दिन की शुरुआत इस तरह से करते हैं


बेल्दांगा के Kalaberia से कलिपडा दास अपने दिन की शुरुआत करते हैं। कई घाटों पर जाकर अपनी नाव से कलिपडा प्लास्टिक का कचरा उठाते हैं। Behrampore के भागीरथ ब्रिज या फिर Farshdanga घाट पर जाकर उनका दिन समाप्त होता है। 

गर्व है उन्हें अपने काम पर 

मछुआरे से प्लास्कि बिनने का काम अब कलिपडा दास करते हैं। अपने काम पर उन्‍हें बहुत गर्व है। कलिपडा दास ने कहा कि गंगा की फिक्र ना ही सरकार और ना ही किसी गैर-सरकारी संगठन को है। मैं नदी के कई घाटों से प्लास्कि उठाता हूं। 

भरते हैं पेट प्लास्टिक बेचकर 

दास कहते हैं कि मैं दूसरे मछुआरों के साथ नाव में निकलता हूं। इसके बाद नदी में तैरती और घाटों पर फैली प्लास्टिक बोतलों को उठाता हूं। दिन में 5 से 6 घंटे काम करके मैं लगभग दो क्विंटल प्लास्टिक इकट्ठा कर लेता हूं, जिन्हें रीसायकल के लिए देकर मैं 2400 से 2600 रुपए कमा लेता हूं। मैं पढ़ा लिखा नहीं हूं, लेकिन मैं देखता हूं कि पढ़े लिखे लोग प्लास्टिक का इस्तेमाल करते हैं और उन्हीं नदी में फेंक देते हैं।