क्या आप जानते है ब्लू व्हेल चैलेंज गेम ले चुका है सैकड़ों युवाओं की जान ,आप भी रहें अलर्ट


भारत में एक ऐसे गेम की एंट्री हो चुकी है जिसे खूनी गेम भी कहा जाता है। मुंबई के अंधेरी में 14 साल के एक बच्चे ने खुदकुशी के बाद कथित ऑनलाइन गेम ‘ब्लू व्हेल चैलेंज’ को लेकर बड़ा विवाद छिड़ गया है हालांकि पुलिस मामले की जांच कर रही है ।

बताया जा रहा है कि इस खेल ने दुनिया भर में 250 के करीब बच्चों की जान ले चुका है पुलिस के मुताबिक शनिवार शाम एम्पायर हाइट्स की छत से 14 वर्ष के एक बच्चे ने कूद कर जान दे दी।  

बता दे कि कक्षा 9वीं में पढ़ने वाले उस बच्चे ने खुदकुशी से पहले अपने इरादे के बारे में दोस्तों को सोशल साइट पर बताया भी था। बच्चे ने अपने दोस्तों को ये भी बताया था । एक अंकल मुझे हटने के लिए बोल रहे हैं जैसे ही वे हटेंगे, मैं कूद जाऊंगा.’ और हुआ भी यही ।

वही भारत में यह गेम हाल ही चर्चा में आया है। लेकिन रूस से लेकर अर्जेंटीना, ब्राजील, चिली, कोलंबिया, चीन, जॉर्जिया, इटली, केन्या, पराग्वे, पुर्तगाल, सऊदी अरब, स्पेन, अमेरिका, उरुग्वे जैसे देशों में कम उम्र के कई बच्चों ने इस चैलेंज की वजह से अपनी जान गंवाई है। लोग हैरत में हैं है कि कोई ऑनलाइन गेम किसी के दिमाग पर इस तरह कब्ज़ा कैसे कर सकता है कि ख़ुदकुशी पर मजबूर कर दे।

बता कि इस खूनी ब्लू व्हेल खेल की शुरुआत रूस से हुई है। मोबाइल और लैपटॉप के जरिए खेले जाने वाले इस खेल में 50 दिन अलग-अलग टास्क मिलते हैं। हर दिन एक टास्क पूरा होने के बाद अपने हाथ पर निशान बनाना पड़ता है जो 50 दिन में पूरा होकर व्हेल का आकार बन जाता है। और टास्क पूरा करने वाले को खुदकुशी करनी पड़ती है।

आपको बता कि यह इंटरनेट पर खेला जाने वाला गेम है। जो दुनियाभर के कई देशों में उपलब्ध है। इस गेम को खेलने वाले शख्स के सामने कई तरह के चैलेंज रखे जाते हैं। ये सभी चैलेंज 50 दिन के अंदर पूरे करने होते हैं। वही बता कि इसमें अंतिम दिन यानि टास्क पूरा करने वाले को खुदकुशी करनी पड़ती है। द ब्लू व्हेल गेम को फिलिप बुडेकिन ने साल 2013 में बनाया था । रूस में आत्महत्या की बढ़ती घटनाओं के बीच उसे गिरफ्तार किया गया और बाद में फिलिप को जेल की सजा हो गई।

इंटरनेट पर खेले जाने वाले इस गेम में 50 दिन तक रोज एक चैलेंज बताया जाता है। हर चैलेंज को पूरा करने पर हाथ पर एक कट करने के लिए कहा जाता है। चैलेंज पूरे होते-होते आखिर तक हाथ पर व्हेल की आकृति उभरती है। चैलेंज के तहत हाथ पर ब्लेड से एफ-57 उकेरकर फोटो भेजने को कहा जाता है। हॉरर वीडियो या फिल्म देखने के लिए चैलेंज है। हाथ की 3 नसों को काटकर उसकी फोटो क्यूरेटर को भेजना भी एक चैलेंज है। ऊंची से ऊंची छत पर जाने को इस गेम में कहा जाता है। व्हेल बनने के लिए तैयार होने पर अपने पैर में ‘यस’ उकेरना होता है। तैयार होने पर खुद को चाकू से कई बार काटकर सजा देना भी चैलेंज का हिस्सा है। सभी चैलेंज पूरे करने वाले को खुदकुशी करनी पड़ती है।

कही आपके बच्चे के फोन मैं तो नहीं है ये गेम लगाएं ऐसे पता :

ऐसे में हो सकता है कि आपके बच्चे के फोन में ये गेम हो, लेकिन आप इसे नहीं ढूंढ पाएं। ऐसे में गेम का पता लगाने के लिए बच्चे के फोन में इन सेटिंग्स को चेक करें।
– बच्चे के फोन में कोई ऐप लॉक तो नहीं है।
– फोन में ऐप हाइट करने वाला ऐप तो नहीं है।
– प्ले स्टोर के मेन्यु में जाकर My Apps & Games चेक करें।

फोन की Settings => Device => Apps में जाकर check करें। यदि फोन में Lock या Hide APP हैं तो Settings => Device => Apps में जाकर उस ऐप को ओपन करें। फिर उसे Force Stop कर दें। APP के Lock Delete हो जाएंगे।