क्या आप जिम के नुकसान जानते है


स्‍वस्‍थ और सुडौल शरीर बनाने की इच्‍छा सभी की होती है। आजकल जिम में वर्कआउट युवा पीढ़ी का फैशन और पैशन दोनों बन गया है। लेकिन जिम में वर्कआउट करने से क्या कुछ नुकसान हो सकता है आज आपको उसकी जानकारी  देते हैं। टोन्ड बॉडी और बाईसेप, ट्राईसेप के शौक के चलते ही युवा पीढ़ी बहुत कुछ कर रही है। लेकिन देर तक और गलत तरह से जिम में वर्कआउट एक्सरसाइज और वेट ट्रेनिंग करना उन्हें इनफर्टिलिटी क्लीनिक्स में पहुंचा रहा है।

                                                                                                   source

डॉक्टरों का कहना है कि जिम में जरूरत से ज्यादा एक्सरसाइज और वेट ट्रेनिंग से मर्द के स्पर्म कमजोर होते हैं। दरअसल ऐसा करने से स्पर्मेटिक कॉर्ड में वैरिकोज वेन्स बढ़ जाती है जिससे स्पर्म काफी कमजोर होते हैं।

                                                                                                  source

हड्डियों में कमजोरी
व्‍यायाम करने से हड्डियां मजबूत होती हैं। लेकिन आजकल के युवा जल्‍दी से जल्‍दी अपने शरीर को  V शेप देना चाहते हैं जिसके लिए जरूरत से ज्‍यादा व्‍यायाम करते हैं। इसके कारण हड्डियों पर दबाव बढ़ता है और हड्डियां मजबूत होने के बजाय कमजोर हो जाती हैं। बढ़ती उम्र के साथ-साथ हड्डियों में दर्द होना आम समस्‍या हो जाती है। इसके अलावा गठिया रोग होने की भी संभावना होती है।

                                                                                                 source

ओवरट्रेनिंग के अन्‍य नुकसान
ज्‍यादा कसरत करने से खून का दबाव बढ़ता है और शरीर से इंसुलिन और एचडीएल कोलेस्‍ट्रॉल का स्‍तर घटता है। इसके चलते दिल की बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है।

                                                                                                source

बिना जिम ट्रेनर के नुकसान
एक्सपर्ट्स का कहना है कि इनफर्टिलिटी क्लिनिक्स में आने वाले पुरुषों में से 20 प्रतिशत पुरुष वैरिकोज वेन्स की समस्या के शिकार होते हैं, जिन्हें आखिरकार सर्जरी करवानी पड़ती है। बगैर ट्रेंड ट्रेनर और इंस्ट्रक्शन्स के जिम करना युवाओं को भारी पड़ रहा है।