ये है दुनिया का सबसे अजीब गांव


आज हम आपको बताने जा रहा है ऐसा गाँव के बारे में जिसे जानकर आप भी हैरान रह जायेगे। जी हाँ , वैसे तो अपने दुनिया में कई अजीबो-गरीब चीज़े है जो सबको सोचने पर मजबूर कर देती हैं। पर आज हम जिस गाँव के बारे में बताने जा रहे है वो दुनिया में सबसे अलग है इस गाँव की एक अलग ही खासियत है जो इस गाँव को अलग दर्शाती है।

Source

इस गाँव में आधी से ज्यादा आबादी बौनी है। इस गाँव के करीब आधे लोगों की लंबाई मात्र 2 फीट 1 इंच से लेकर 3 फीट 10 इंच तक ही है। इतनी अधिक संख्या में लोगों के बौने होने के कारण यह गाँव Dwarf Village के नाम से प्रसिद्ध है।

Source

दुनिया में सबसे अलग गाँव जिसे लोग बौनों का गाँव भी कहते है यह गाँव चीन के शिचुआन प्रांत के दूर-दराज़ पहाड़ी इलाके में स्थित है। गाँव का नाम Yangsee है और यह गाँव  Dwarf village of china  नाम से प्रसिद्ध है।

Source

यहाँ ज्यादातर बच्चों की लम्बाई 5 से 7 साल के बाद रुक गई। उनका कद अपनी उम्र के साथ नहीं बड़ा, वहीं Dwarf village में  कुछ मामलों में बच्चों की लम्बाई सिर्फ 10 साल तक ही बड़ पाई है। इसके बाद उनकी लम्बाई नहीं बड़ी और वो बौनें ही रह गये। यहाँ के गांव के बुजुर्गों का कहना है कि उनकी खुशहाल और सुकून भरी जिंदगी कई दशकों पहले ही खत्म हो चुकी थी, जब प्रांत को एक खतरनाक बीमारी ने अपनी चपेट में ले लिया था। जिसके बाद से कई स्थानीय लोग अजीबोगरीब हालात से जूझ रहे हैं, जिसमें ज्यादातर 5 से 7 साल के बच्चे हैं। इस उम्र के बाद इन बच्चों की लंबाई रुक जाती है। इसके अलावा वो कई और असमर्थताओं से जूझ रहे हैं।

Source

इस इलाके में बौनों को देखे जाने की खबरें तो 1911 से आ रही हैं। इसके अलावा 1947 में एक अंग्रेज वैज्ञानिक द्वारा भी यहाँ सैकड़ो बौने देखे जाने की अफवाहे आई थी। लेकिन अधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि 1951 में हुई थी।

अचानक से ऐसा क्या हुआ की एक सामन्य कद काठी के लोगों का गाँव, बौनों के गाँव में तब्दील हो गया ? यह रहस्य वैज्ञानिक 60 वर्ष बाद आज तक नहीं सुलझा पाये है। वैज्ञानिक और विशेषज्ञ इस गाँव की पानी, मिटटी, अनाज आदि का कई मर्तबा अध्ययन कर चुके है लेकिन वो इस स्थिति का कारण खोजने में नाकाम रहे है।

Source

1997 में बीमारी की वजह बताते हुए गांव की जमीन में पारा होने की बात कही गई, लेकिन इसे साबित नहीं किया जा सका। वहीँ कुछ लोगो को मानना है की इसका कारण वो ज़हरीली गैसे है जो जापान ने कई दशको पहले चीन में छोड़ी थी, हालांकि यह एक तथ्य है की जापान कभी भी चीन के इस इलाके में नहीं पहुंचा था। ऐसे ही समय-समय पर तमाम दावे किए गए। लेकिन सही जवाब नहीं मिला।

Dwarf village में विदेशियों को जाने की मनाही है

चीन में कोई ऐसा गाँव है इससे चीनी प्रशासन मना तो नहीं करता है लेकिन वहाँ पर किसी विदेशी को जाने की इज़ाज़त नहीं है। यहाँ के बारे अधिकतर जानकारी यहाँ पहुँच पाने वाले रिपोर्टर्स के द्वारा ही मिल पाती है।

Source

Dwarf village के कुछ लोग इस सब के पीछे किसी बुरी ताकत का प्रभाव मानते हैं। वहीं गाँव के  कुछ लोगों ये बताया कि ख़राब फेंगशुई के चलते ऐसा हो रहा है। इसके अलावा कुछ लोग यह भी मानते हैं कि सब अपने पूर्वजों को सही तरीके से दफ़न नहीं करने की वजह से भी यह सब भुगत रहे हैं।