क्या आप जानते है सिगरेट छोड़ने का खास और नया ‘गर्लफ्रेंड फार्मूला’ ?


दोस्तों धुम्रपान सेहत के लिए हानिकारक है और ये बात हर सिगरेट वाला जानता है इसके बावजूद लोग शान से धुंए के छल्ले उड़ाते नज़र आते है। सब कुछ जाने के बाद आखिर क्या वजह होती है की लोग सिगरेट पीना नहीं छोड़ पाते ? आइये पता लगाते है की इस मुद्दे पर हुई रिसर्च के अहम बिन्दुओं पर जिसने साफ़ हो जायेगा इस लत का कारण और क्या है इसे छोड़ने का तरीका।

प्रोफेसर रॉबर्ट जो की वेस्ट लन्दन यूनिवर्सिटी में मनोविज्ञान पढ़ाते है उन्होंने अपनी टीम के साथ मिलकर इस बारे में काफी रिसर्च की और एक किताब लिखी है। इस कितान का नाम है ‘The Smoke Free formula’। इस किताब में उन्होंने धूम्रपान छोड़ने के कई आसान नुस्खे बताये है जो आपके लिए बेहद फायदेमंद हो सकते है।

खुद अपने बारे में उन्होंने बताया की अपनी पढाई के शुरूआती दिनों में रॉबर्ट धूम्रपान के बेहद खिलाफ थे पर कॉलेज में आकर वो खुद इस लत का शिकार हो गए। उन्होंने लगातार ३ साल तक धूम्रपान किया है।

पर उनकी गर्लफ्रेंड को उनकी ये आदत बिलकुल पसंद नहीं थी और अपनी गर्लफ्रेंड के बार-बार टोकने पर उन्होंने अपनी ये लत छोड़ दी। प्रोफेसर रोबर्ट का मानना है सिगरेट छोड़ने के कई फॉर्मूलों में से एक है ‘गर्लफ्रेंड फार्मूला’, जो अधिकतर मामलों में बेहद कारगर साबित होता है।

इस मामले में बेहद जरूरी है की आपकी गर्ल फ्रेंड को धूम्रपान से बेहद नफरत होनी चाहिए, उसके बाद आपको इस लत से से छुटकारा मिलना काफी आसान हो जायेगा। असल में तम्बाकू में एक केमिकल होता है जिसे निकोटीन कहा जाता है।

जब सिगरेट के धुऐं को अंदर खींचा जाता है तब हमारे फेफड़ों की परत इस धुऐ में से निकोटिन को सोख लेती है इसके असर से दिमाग, डोपामाइन नाम का हार्मोन छोड़ता है जो कि अच्छा एहसास दिलाता है। पर इन सब से अलग सबसे जरूरी बात है की ये आपके लिए बेहद हानिकारक है तो धूम्रपान न करें।