क्यों नहीं घूमते हैं हल्दी लगाने के बाद बाहर, पूरा सच जानकर उड़ जाएंगे आपके होश


turmeric

हिंदू शास्त्रों में शादी में ऐसे बहुत सारे रस्मे और रिवाज होते हैं जिनकी अपनी ही मान्यता है। हिंदू धर्म की यह परंपरा है कि शादी में रस्मे और रिवाज निभाने होते हैं। बता दें कि यह जो शादी की परंपराएं और रीति-रिवाज हैं उन सभी में ऐसी बहुत सारी परंपराएं हैं जिनका एक अजीब सा डर हमारे मन में आज तक भी बना हुआ है। आप सबको ही पता होगा कि शादी पर हल्दी की परंपरा निभाई जाती है और इस पंरपरा के अनुसार जब लड़का और लड़की को हल्दी की रस्म कर दी जाती है तो दोनों को ही घर से बाहर नहीं निकलना होता है।

turmeric

आपके घर में या फिर आपके आस-पास में जब भी शादी होती है तो यह कहा जाता है कि हल्दी लगने के बाद दूल्हा और दूल्हन को अकेला नहीं छोडऩा है और न ही उन्हें बाहर जाने देना है। आपने इस बात का अक्सर ध्यान दिया होगा और यह भी सोचा होगा कि ऐसा क्यों करते हैं।

turmeric

हिंदू धर्म में ऐसी मान्यता है कि जब भी कोई शुभ काम होता है या फिर शादी-ब्याह वाला घर होता है तो उस समय बुरी आत्माओं का साया घूम रहा होता है। आपको बता दें कि हल्दी की रस्म के बात दूल्हा-दूल्हन को घर के बाहर या फिर अकेले नहीं छोड़ा जाता है क्योंकि ऐसा माना जाता है कि उस समय बुरी आत्माओं का साया ज्यादा घूम रहा होता है और वह उनपर चिपट सकता है।

क्या है इसके पीछे का धार्मिक कारण

turmeric

आपको बता दें कि यह जो परंपरा है इसका वास्तव में इस मान्यता के पीछे कोई भी अंधविश्वास नहीं है। हमारे बड़े-बूढ़ों को हम से भी ज्यादा इस बात का अनुभव होता है कि हल्दी से हमारे शरीर की सुुंदरता बढ़ती है। हल्दी से हमारे शरीर के चर्म रोग और न तन की दुर्गंध से भी निजात मिलता है और साथ ही हमारा निखार भी खिलता है।

turmeric

हल्दी लगाने के बाद बाहर ना जाने के बहुत सारी वजह हैं जैसे कि हल्दी में एक विशेष तरह की गंध होती है जो कि जिसकी वजह से वातावरण में जो भी नकारात्मक और सकारात्मक ऊर्जा होती हैं वह उस व्यक्ति की तरफ बहुत तेजी से आकर्षित होती है।

turmeric

उस समय व्यक्ति मानसिक और शारीरिक दोनों ही रूपों में मजबूत नहीं होता है। इसी वजह से नकारात्मक ऊर्जा उसे अपनी तरफ प्रभावित कर लेती है। उसी की वजह से उस व्यक्ति की सोच में नेगेटीविटी आ जाती है।

turmeric

वैज्ञानिक कारण क्या है इसके पीछे

turmeric

वैज्ञानिक तौर पर ऐसा माना जाता है कि हल्दी लगाने के बाद जब आप सीधे धूप में आते हैं तो आपकी त्वचा काली पड़ जाती है। इस धूप का हमारी त्वचा पर बहुत ही गहरा असर पड़ता है। इसी वजह से यह परंपरा बनाई गई है ताकि दूल्हा और दुल्हन घर से बाहर नहीं निकलते हैं और हल्दी अपना पूरा काम कर पाए और उनके सौंदर्य में निखार लाए।

turmeric