जानिए ! टेंशन से तुरंत छुटकारा पाने के आसान तरीके


आपको हम आपको बताने जा रहे है टेंशन से छुटकारा पाने के उपाए ! जी हाँ , आजकल की भागदौड़ भरी ज़िंदगी में किस न किस चीज़ की टेंशन रहती ही है यदि तनाव अधिक हो जाता है तो इससे गंभीर मानसिक और शारीरिक नुकसान होने लगते है। आजकल की भागदौड़ और कशमकश भरी जिंदगी में पता ही नहीं चलता की तनाव कब हम पर हावी हो जाता है। बता दे की जब भी खतरे का अहसास होता है तो हमारे शरीर में कुछ विशेष प्रकार के हार्मोन एड्रेनलिन और कोर्टिसोल का स्राव होता है। ये हार्मोन शरीर में किसी भी प्रकार के खतरे से बचने के लिए अलग प्रकार की ताकत पैदा कर देते है। इसके कारण ह्रदय की धड़कन बढ़ जाती है मांसपेशियाँ भिंच जाती है। ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। साँस तेज हो जाती है। इन्द्रियों की शक्ति बढ़ जाती है। इन सब परिवर्तन से पैदा होने वाली शक्ति जान बचाने में काम आती है। इसकी मदद से भाग कर या किसी और तरीके से जान बचायी जा सकती है। यह प्रकृति की अपनी व्यवस्था है।

तनाव की अवस्था में गुब्बारा फुलाना सुनने में भले ही अटपटा लगे लेकिन तनाव दूर करने के लिए यह कारगर वर्कआउट है। इससे फेफड़ों में ऑक्सीजन पहुंचता है और रक्त संचार ठीक हो जाता है।

हमारी जीवन-शैली हमें सक्सेस बना सकती है तो हमें असफल भी कर सकती है । इसलिए हमें अपनी दिनचर्या को सही बनाना चाहिए जिस प्रकार से नियत समय पर सोना जरुरी है ठीक उसी प्रकार से सुबह नियत समय पर उठना भी जरुरी है उठने के बाद योग और व्यायाम अवश्य करे। इसके बाद पौष्टिक नाश्ता ले। भोजन में पौषक तत्वों को शामिल करे। यदि आपको इसमें परेशानी हो रही है तो किसी एक्सपर्ट से या डाइटीशियन की हेल्प ले।

ग्रीन टी की एक चुस्की भी आपको टेंशन फ्री कर देगी। इससे मस्तिष्क में तनाव बढ़ाने वाली बीटा वेव्स निकल जाती हैं और आप तरोताजा हो जाते हैं।

तनाव कम करने और मानसिक तनाव से मुक्ति पाने के लिए सबसे सरल और उपयोगी ‘शिथिलीकरण’ क्रिया है। प्राकृतिक रूप से हम यह कार्य रात में सोकर पूरा करते है। योग साधना में ‘शिथिलीकरण’ को ‘शव आसन’ कहते हैं, जो निर्जीव स्थिति लाकर आराम कुर्सी , पलंग, गद्दा, जमीन पर चित बैठकर, पीठ के बल लेटकर, हाथ-पैर सीधे रखकर किया जाता है।

पीठ के बल लेट जाएं और कमर के मध्य में टेनिस बॉल रख लें। पीठ के सहारे इसे ऊपर और नीचे रोल करें। इसके अलावा हेड मसाज में तनाव से राहत दिलाने में कारगर है। मसाज से रक्त संचार तेज हो जाता है और थकान दूर होती है।

एक साथ यदि कई काम आ जाएं, तो घबराएं नहीं। प्राथमिकता और महत्व के अनुसार एक-एक करके उन्हें निपटाते जाएं। शीघ्र ही आपका बोझ दूर हो जाएगा।

तनाव से आराम और तुरंत तरोताजा होने के लिए 10 मिनट की सैर से बेहतर क्या होगा। पार्क या गार्डेन में हरी घास पर टहलने से आपका तनाव दूर होगा और आप फ्रेश महसूस करेंगे।

मानसिक तनाव से मुक्ति पाने के लिए अनावश्यक संकल्पों या अपनी शक्ति से अधिक बड़े टारगेट नहीं बनाने चाहिए – हम अपने जीवन में कई सारे संकल्प करते हैं हमें यह करना है , हमें वह करना है| पत्नी, बच्चे, कामकाज, घर-गृहस्थी, समाज, धर्म, शौक, इन सभी संकल्पों को पूरा करने में हम लगे रहते हैं इनमे से कई संकल्प पूरे नहीं होने से चिंता तनाव उत्पन्न होता है | गीता के अनुसार सिर्फ कर्म करना ही मनुष्य का धर्म है उसके फल का लालच नहीं करना चाहिए |

Source

दिन भर के कामों के बाद मनोरंजन और आराम करने के लिए भी समय निकालें।