सहजन की फली के गुण


मोरिंगा ओलिफेरा यानी सहजन के बारे में कुछ खास बातें जानेंगे। सहजन की फली की सब्जी सबको ही पंसद है और यह हर घर में बनाई जाती है। इसकी सब्जी बहुत ही स्वादिष्टत बनती है और इसका स्वाद बहुत ही अच्छा लगता है। क्या आप जानते हैं कि इस फली और इसके पेड़ के बहुत फायदे भी हैं। इस फली में प्रोटीन, अमीनो एसिड, बीटा और विभिन्न फीनॉलिक होते हैं। इसकी पत्तियों को ताजा या पायडर बना कर भोजन से पहले भी खा सकते हैं। सहजन के पौधे के जड़ से लेकर उसके फूलों, पत्तियों तक पूरा पौधा गुणों से भरपूर है।

सहजन के फायदों के बारे में जानें –

1) हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल करता है-

हाई ब्लड प्रेशर में सहजन की पत्तियों का काढ़ा बनाकर पियें तो बहुत लाभ मिलता है और साथ ही इसके काढ़े का सेवन उन लोगों को भी करना चाहिए जिन्हें घबराहट, चक्कर आना और उल्टी की परेशानी में बहुत मदद करती है।

2) कैल्शियम की कमी में भी लाभकारी है-

सहजन की फली में कैल्शियम होता है जो बच्चों के लिए अच्छा होता है। सहजन की फली से हड्डियां और दांत दोनों को बहुत लाभ मिलता है और दोनों ही मजबूत बनते हैं। सहजन की फली को गर्भवती महिलाओं को खाने से उनके शिशु को भारी मात्रा में कैल्शियम मिलता है जिससे बनका बच्चा तंदुरस्त होता है।

3) मोटापा कम करने में भी मदद करता है-

मोटापे से छुटकारा पाने में सहजन की फली को बहुत लाभदायक माना गया है। इसमें फॉस्फोरस की मात्रा बहुत होती है जो हमारे शरीर में अतिरिक्त कैलोरी को भी कम करता है। मोटापे में भी कमी लाता है।

4) सिरदर्द में भी लाभकारी होता है-

सहजन के पत्तों का लेप बनाकर चोट पर लगाने से जख्म ठीक हो जाता है और इससे सब्जी की तरह खाने से सिर के दर्द में राहत मिलती है। सहजन को खाने से हमारा खून साफ होता है और हमारी आंखों की रोशनी भी तेज करता है। सहजन की फली खाने से गर्भवती महिलाओं को डिलिवरी के वक्त कम दर्द होता है।