इस्लाम देता है मोहब्बत का पैगाम : पंजाब शाही इमाम


लुधियाना :  पवित्र रमजान शरीफ के अलविदा जुम्मा के मौके पर फील्डगंज चौंक स्थित ऐतिहासिक जामा मस्जिद में हजारों मुस्लमानों ने नमाज अदा की। नमाजियों की संख्या को देखते हुए शाहपुर रोड व जेल रोड पर नमाज के लिए विशेष प्रबंध किए गए थे।

Source

इस मौके पर संबोधित करते हुए पंजाब के शाही इमाम मौलाना हबीब उर रहमान सानी लुधियानवी ने कहा कि रमजान शरीफ का महीना अल्लाह ताआला से इश्क और मोहब्बत का महीना है।

इस मुबारक महीने में बंदा खुदा और उसके रसूल सल्ललाहु अलैहीवसल्लम से अपने इश्क का इकाहार करते हुए गुनाहों से तौबा करता है। उन्होंने कहा कि आज रमजान उल मुबारक के आखरी जुम्मे के मौके पर तपती धूप में लाखों मुसलमानो ने नमाज की अदायगी के लिए जिस जज्बे और हिम्मत का इजहार किया है इसी का नाम मुहब्बत ए इलाही है।

Source

शाही इमाम ने कहा कि इस्लाम पर जो लोग आंतकवाद का इल्जाम लगा कर इसे रोकना चाहते है वो जान ले कि इस्लाम का पैगाम मुहब्बत है और यह पैगाम आगे बढ़ता ही जायेगा। शाही इमाम ने कहा कि प्यारे नबी हजरत मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहिवसल्लम ने इंसानियत को गुलामी से आजादी दिलवाई थी

और गोरे और काले का फर्क खत्म करके समाज को छुआछूत से पवित्र कर दिया और सभी ईमान वालो को एक दूसरे का भी बना दिया। शाही इमाम मौलाना हबीब ने कहा कि रमजान के तीन रोजे अभी बाकी है, हमें चाहिए कि इस वक्त की खूब कद्र करे और ज्यादा से ज्यादा इबादत में लगे रहे। खुले दिल से गरीबों की मदद करें।

Source

आपसी रंजिशों को खत्म करके एक-दूसरे से मोहब्बत का इकाहार करे। वर्णनयोग है कि आज पवित्र रमजान शरीफ का आखिरी जुम्मा था। शहर की सभी मस्जिदों में लाखों की संख्या में नामाजी एकत्रित हुए। नायब शाही इमाम मौलाना उसमान रहमानी लुधियानवी ने बताया कि शहर में 5 लाख से ज्यादा मुस्लमानों नें अलविदा जुम्मे की नमाज अदा की।

– रीना अरोड़ा