भारत के ये मंदिर कई मायनों में खास, सुनकर चौंक जाएंगे आप


भारत जैसे देश में, जहां धार्मिक मान्यताएं और रीति-रिवाजों के आसपास ही जिंदगी घूमती है। वहां भी कई ऐसी जगह हैं, जिनके अनसुलझे रहस्य रोमांच से भर देते हैं।

भारत जिसे मंदिरों का देश कहा जाता है, यहां धार्मिक और पौराणिक मान्यताओं से जुड़े मंदिर आज भी मौजूद हैं, इसके बीच कई ऐसे अजीब मंदिर भी हैं, जहां भक्तों ने जीते-जागते इंसान को ही भगवान बना दिया है। तभी तो उन्हीं के नाम पर मंदिर बना दिए हैं। केवल इंसान नहीं बल्कि जानवरों के नाम भी इस देश में मंदिर बने हुए हैं। इसमें सेलिब्रिटी से लेकर आम इंसान शामिल हैं, जिनके लिए लोगों के मन में इतना सम्मान है कि उनके नाम पर भी मंदिर बना दिया । केवल मंदिर बनाया नहीं बल्कि वहां रोजाना पूजा भी होती है। देश के ऐस ही कुछ अजीब मंदिरों की कहानी हम आपको बताने जा रहे हैं।

मंदिर में ‘मास्टर ब्लास्टर’ सचिन

अपने खेल से ही नहीं सचिन अपने व्यवहार और सौम्यता की वजह से भी करोड़ों भारतीयों के चहेते हैं। उन्हें क्रिकेट का भगवान या गॉड कहा जाता है। यही अपनापन है कि बिहार के कैमूर जिले में तो उनके फैंस ने आदमकद प्रतिमा लगाकर उनका मंदिर ही बना दिया। इस मंदिर में सचिन की साढ़े पांच फीट उंची प्रतिमा लगी है। जिसका उद्घाटन खुद भोजपुरी एक्टर मनोज तिवारी ने किया था।

बॉलीवुड के महानायक के नाम मंदिर

कोलकाता के पास तिलजला में सदी के महानायक अमिताभ बच्चन का मंदिर है। इस मंदिर में अमिताभ अपने फिल्म सरकार के किरदार सुभाष नागरे के लुक में नजर आते हैं। 25 किलो की इस स्टेच्यू को सुब्रत बोस नाम के एक मूर्तिकार ने आकार दिया है। इसे बनाने में तीन महीने लगे। यहां अमिताभ के फैंस ने एक क्लब भी बना रखा है।

जालंधर में है हवाई जहाज गुरुद्वारा

जी हां हवाई जहाज गुरुद्वारा, आपने सही सुना। जालंधर में एक ऐसा गुरुद्वारा है, जहां एयरक्राफ्ट के छोटे मॉडल्स रखे गए हैं। ये उन लोगों के लिए किसी तोहफे से कम नहीं, जिन्हें छोटे एयरक्राफ्ट रखना पसंद है। इस गुरुद्वारे की कहानी भी काफी दिलचस्प है, जिन लोगों को विदेश जाना होता है, वो इस गुरुद्वारे में एक छोटा एयरोप्लेन भेंट करके अरदास करते हैं। यहां एयरोप्लेन गिफ्ट करने का मतलब सीधा सात समंदर पार अमेरिका का टिकट कटना होता है।

तेलंगाना में सोनिया गांधी का मंदिर

इसके अलावा तेलंगाना में सोनिया गांधी का भी एक मंदिर है। ये मंदिर सोनिया गांधी के एक समर्थक पी शंकर राव ने बनाया है। इस मंदिर के जरिेए समर्थक ने सोनिया गांधी द्वारा अलग तेलंगाना राज्य के गठन के लिए की गई कोशिश का सम्मान किया गया है।

राजकोट में मोदी का मंदिर

गुजरात के राजकोट में नरेंद्र मोदी का मंदिर बनकर तैयार हो गया है। जिस गांव में मंदिर बना है। वह अहमदाबाद से करीब 130 मील दूर है। जिस मंदिर में पहले उनकी एक फोटा हुआ करती थी। अब वहां उनकी मूर्ति स्थापित कर दी गई है. ज्यों-ज्यों इस मंदिर की चर्चा लोगों के बीच होने लगी, यहां आने वालों की तादाद भी बढ़ती चली गई। मोदी मंदिर बनने में करीब 4 साल का वक्त लगा। मंदिर में मोदी की मूर्ति लगाने पर करीब पौने 2 लाख रुपये का खर्च आया। ओडिशा के एक मूर्तिकार ने उनकी मूर्ति बनाई. मंदिर में सुबह-शाम आरती होती है।

वफादारी को सलाम करने के लिए बना मंदिर

जानवरों में कुत्ते को सबसे वफादार माना जाता है। कर्नाटक के गांव के लोगों ने इसी वफादारी को मान देने के लिए मंदिर ही बना दिया। केवल मंदिर ही नहीं बना, बल्कि यहां बकायदा इस जानवर की पूजा भी की जाती है।