पुष्कर से शुरू हुई चौबीस कोसी परिक्रमा


जी हाँ , आज तीर्थराज पुष्कर में चौबीस कोसी परिक्रमा से शुरू हुई । राजस्थान में अजमेर जिले के तीर्थराज पुष्कर से आज चौबीस कोसी अरण्य तीर्थ परिक्रमा का शुभारंभ किया गया है।

श्री वेदमाता गायत्री ट्रस्ट की ओर से आयोजित इस चौबीस कोसीय पुष्कर अरण्य तीर्थ यात्रा को राजस्थान धरोहर संरक्षण एवं प्रन्नौती प्राधिकरण अध्यक्ष ओंकार सिंह लखावत एवं संसदीय सचिव विधायक सुरेश सिंह रावत ने संयुक्त रूप से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

गायत्री परिवार की ओर से शक्ति कलश एवं रथ पूजन के बाद पुष्कर अरण्य की चौबीस कोसी पदयात्रा तथा 84 कोसी रथ वाहन यात्रा को गढ़वाढ़ा धाम की आई माता कंकू केशर एवं पुष्कर के तीर्थ पुरोहितों, संत महंतों के सानिध्य में पूजन किया गया फिर उसे आगे के लिए रवाना किया गया।

यात्रा प्रभारी घनश्याम पालीवाल ने बताया कि यात्रा समीपवर्ती नांद, थांवला, बैजनाथ धाम एवं बूढ़ा पुष्कर से होकर सावित्री माता मंदिर की विशेष परिक्रमा कर 23 जुलाई को संपन्न होगी। उन्होंने बतायाकि श्रावण मास की कृष्णा एकादशी से लेकर हरियाली अमावस 23 जुलाई तक श्रद्धालु परिक्रमा कर सकेंगे।

इस मौके पर जिला कलेक्टर गौरव गोयल ने बताया कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की इच्छा और निर्णय के अनुसार पौराणिक मंदिरों की परिक्रमा के महत्व को देखते हुए इसे विकसित और विस्तारित करने के प्रयास किए जा रहे है जिसके लिए सरकार ने बजट का प्रावधान भी किया है। इस मौके पर उन्होंने ऐसी परिक्रमा और धार्मिक कार्यक्रमों में गायित्री परिवार के योगदान की भूरी भूरी प्रशंसा की। पुष्कर की नागपहाड़ी स्थित पर्यटक एवं धार्मिक स्थल लक्ष्मी पोल पर 23 जुलाई को हरियाली अमावस का मेला भी भरेगा।