बवाली स्वामी का हनीप्रीत को लेकर खुलासा


फरार हुई हनीप्रीत अब जाकार पुलिस की गिरफ्त में आ गई। हनीप्रीत की तलाश कहां-कहां नहीं हुई हरियाणा से लेकर दिल्ली और फिर महाराष्ट्र से लेकर नेपाल लेकिन कड़ी मेहनत के बाद आखिकार हनीप्रीत को पूरे 38 दिनों के बाद सबके सामने पेश कर ही दिया। लेकिन वो इतने दिनों तक कहां रही इस बात का अभी कोई खुलासा नहीं हो पाया है।

हरियाणा पुलिस कई जगह छापे मार रही थी जिसमें उसे कोई सफलता नहीं मिल पा रही थी, लेकिन हनीप्रीत जो अब तक लोगों और पुलिस के साथ चाल खेल रही थी उसका पर्दा फाश हो चुुका है।

  इसी बीच एक बवालिया बाबा का यह दावा है कि जीतने दिन भी हनीप्रीत फरार रही है उन दिनों हनीप्रीत ने उनके साथ भी दो रातें गुजारी हैं। अपनी ऊल जलूल हरकतों से चर्चा में रहने वाले इस बाबा से पूरा देश बहुत अच्छे से वाकिफ है। यह एक ऐसे संत हैं,जिनको फर्जी बाबाओं की ऑफिशियल लिस्ट में सबसे पहले शामिल किया गया है।

आपको बाता दें हम बात स्वामी ओम की कर रहें है। स्वामी ओम ने हाल में ही एक ऑनलाइन इंंटरव्यू में यह दावा किया है कि हनीप्रीत खुद दिल्ली में आकर उनसे मुलाकात कि थी और और उनके साथ दो दिन रही भी है। कई बार सरेआम लोगों से पिट चुके स्वामी ओम ने यह भी कहा कि वह हनीप्रीत के साथ हैं क्योंकि उन्हें यह लगता है कि  हनीप्रीत बेकसूर है और उसे बेवजह फंसाने की कोशिश की जा रही है।

स्वामी का कहना है कि हनीप्रीत एक हिंदू लड़की है। जिसका असली नाम प्रियंका तनेजा है और जब-जब कोई भी हिंदू मुसीबत में होगा तब मैं उसको कंधा जरूर दूंगा। फर्र्जी स्वामी का यह भी कहना है कि बाबा राम रहीम के जेल जाने से पहले भी वह हनीप्रीत के सम्पर्क में थे। वो मेहरौली के फार्म हाउस में बहुत बार उसके साथ रहे हैं।

इस ऑनलाइन इंटरव्यू के दौरान स्वामी ओम का यह भी कहना था कि  वह जल्द ही हनीप्रीत के साथ मिल  कर फिल्म करने वाले हैं। अब स्वामी ओम का फिल्मी सपना ऐसे का ऐसे ही धारा रह गया और हनीप्रीत चली गई जेल।