राष्ट्रपति अब्दुल कलाम की ऐसी बातें अक्सर जो दिल को छू जाया करती हैं


भारत को आजाद हुए 67 साल हो चुके हैं। भारत में अब तक 13 राष्ट्रपति बन गए हैं। जितने भी राष्ट्रपति हैं उन सबकी अपनी ही पहचान रही है। सादगी में रहने वाले राजेंद्र प्रसाद से लेकर विवादों में रह चुकी प्रतिभा देवी सिंह पाटिल राष्ट्रपति बन चुके हैं। बता दें कि पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम की तो बात ही सबसे अलग थी।

उनकी शख्सियत उन्हें सबसे अलग करती थी। सिर्फ भारत में ही उन्हें प्यार और सम्मान मिला बल्कि पूरे विश्व के लोग उन्हें प्यार और सम्मान देते थे और आज भी उनके जाने के बाद उन्हें याद किया जाता हैै।
अब्दुल कलाम के चाहने वाले लोग करोड़ में है।

उनके चाहने वालों में सारे ही उम्र के लोग हैं। चाहे वह छोटा सा बच्चा हो या फिर कोई बड़े से लोग सब ही उन्हें प्यार करते हैं। आज हम अब्दुल कलाम के बारे में कई ऐसी बातें जानेंगे जो कोई भी व्यक्ति के लिए मार्ग दर्शन साबित होंगी।

चलिए जानते हैं अब्दुल कलाम के जीवन की अनजानी बातें।

1. अब्दुल कलाम धर्म से बेशक मुस्लिम थे लेकिन वो गीता और कुरान दोनों को मानते थे। उन्होंने दोनों धार्मिक पुस्तकें पढ़ रखी थीं।

2. इतने बड़े ओहदे तक पहुंचने के बाद भी उनके पास एक टेलीविज़न भी नहीं था। उनके व्यक्तिगत सामानों में किताबें, वीणा, कुछ कपड़े, सीडी प्लेयर और लैपटॉप था।

3. ओडिशा राज्य के नज़दीक स्थित व्हीलर आइसलैंड पर मिसाइल टेस्ट की जाती थीं। इसका नाम सितंबर 2015 में बदलकर अब्दुल कलाम आइसलैंड रख दिया गया।

4. कलाम साहब को जनता का राष्ट्रपति कहा जाता था। वो इकलौते राष्ट्रपति थे जिनको पद्म भूषण, पद्म विभूषण और भारत रत्न हासिल था।

5. कलाम साहब को दुनिया की 40 यूनिवर्सिटियों से डॉक्ट्रेट की उपाधि मिली थी। साथ ही उन्होंने 15 किताबें भी लिखी थीं।

6. IIT मद्रास से एयरनॉटिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई के बाद उन्होंने DRDO में काम शुरू किया। जहां उन्होंने सेना के लिए हेलीकॉप्टर डिज़ाइन किया था।

7. पोखरण-2 न्यूक्लियर परीक्षण में अब्दुल कलाम ने खास भूमिका निभाई थी। इसके बाद वो देश के प्रमुख न्यूक्लियर वैज्ञानिक के तौर पर उभरे।

8. 5 साल के राष्ट्रपति पद के कार्यकाल के दौरान उन्होंने सिर्फ एक दया याचिका पर कार्रवाई की थी।

9. 1992 से 1999 तक वो प्रधानमंत्री के चीफ साइंटिफिक एडवाइज़र रहे थे. इस पद पर रहते हुए उन्होंने खास राजनैतिक और तकनीकी रोल निभाया।

10. कलाम देश के महान वैज्ञानिक विक्रम साराभाई के साथ काम कर चुके थे। वो साल 1963 में नासा भी गए थे। उसके बाद उन्होंने PSLV और SLV-।।। जैसे प्रोजेक्ट को सफलतापूर्वक लॉन्च किया।