लड़को को भी पीछे छोड़ दिया इस बॉडीबिल्डर भूमिका शर्मा ने


आज हम आपको मिलाएंगे ऐसी लड़की से जिन्होंने इतनी कम उम्र में अपना नाम कमाया। भारतीय बॉडीबिल्डर जो कि सिर्फ अभी 21 वर्ष की हैं। जी हां 21 वर्षीय भूमिका शर्मा मिस वल्र्ड बॉडीबिल्डिंग 2017 में अपनी इस बेहतर पेशकश के बाद लड़को को पीछे छोड़ते हुए । उन्होंने विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जितने के बाद यह साबित कर दिखाया कि लड़कियां किसी भी तरह से लड़को से पीछे नहीं हैं।

दुनिया भर के 50 प्रतियोगियो को भूमिका ने पीछे छोड़ दिया है । टूर्नामेंट में 27 भारतीयों ने भाग लिया था जिसमें से वह एक अकेली महिला बॉडी बिल्डर थी। इस जीत के बाद भूमिका ने यह कहा कि उन्होंने इस प्रतियोगिता के लिए बहुत मेहनत करी है। और मजे कि बात यह है कि उनकी मां और कोच हंस शर्मा खुद भी एक बॉलीबिल्डिर रह चुकी है। उसकी मां ने उसे भी बॉडीबिल्डिंग में जाने के लिए प्रेरित किया ।

इस प्रतियोगिता के दौरान भूमिका एक अच्छी रॉकस्टर थी। भूमिका ने एक अच्छे शरीर के लिए अच्छे अंक प्राप्त किए। भूमिका को लोगों का बहुत प्यार मिला है यह प्रतियोगिता को जितने के लिए।

भूमिका इस समय भारत की महिलाओ के लिए एक ऐसी मिसाल है जो की लाखो महिलाओ को प्रेरित करेंगी। हम समझ सकते हैं कि एक महिला के लिए इतने उतर-चढ़ाव तय करके इस मुकाम तक पहुंचना बहुत कठिन है।

केवल भूमिका ही नहीं बल्कि भारत की कर्ई ऐसी महिलाएं जिन्होंने अपने फिल्ड में अच्छा मुकाम हासिल किया है। जैसे प्रियंका चौपड़ा, सानिया मिर्जा हो या फिर साइना नेहवाल सबने ही अपना ऐसा बेंचमार्क सेट कर दिया है जिस पर हम गर्व करते हैं