ये है दुनिया की सबसे खतरनाक सेल्फी


आजकल सेल्फी का क्रेज लोगों के सर चढ़ के बोल रहा है। जहा देखो वही लोग सेल्फी लेना चालू हो जाते है। अभी दो दिन पहले चलती नाव में सेल्फी के चक्कर में नागपुर 8 स्टूडेंट्स की पानी में डूब कर मौत हो गई। इस घटना ने साबित कर दिया कि कैसे सेल्फी लेते वक्त जरा सी लापरवाही जानलेवा साबित हो सकती है। महाराष्ट्र में कई ऐसे स्पॉट्स हैं जहां सेल्फी लेना मना है।

 

                                                                                              source

इसके वावजूद लोग जान जोखिम में डाल कर एडवेंचरस सेल्फी लेते हैं। सेल्फी के चक्कर में भारत में पिछले दो सालों में 76 लोगों की जान जा चुकी है।  अपनी सेल्फी को ज्यादा पॉपुलर करने के लिए लोग जान जोखिम में डालने से भी परहेज नहीं कर रहे हैं।  मार्च 2014 से सितंबर 2016 के बीच भारत में सेल्फी के चक्कर में 76 लोगों की मौत हुई है।

                                                                                           source

वहीं इसी दौरान पूरी दुनिया में सेल्फी लेते वक्त 127 लोग को जान गंवानी पड़ी है।  पिछले साल पुणे का एक ट्रैकिंग ग्रुप भी पहाड़ के डेड एंड (आखिरी किनारे) पर बैठ सेल्फी लेने के चक्कर में विवादों में आया था। अहमदनगर के सहयाद्री पर्वत श्रृंखला के रतनगढ़ किले पर 9 माउंटेन ट्रैकर्स 30 जनवरी 2016 को ट्रैकिंग के लिए गए थे। यहां एक पहाड़ के डेड एंड पर बैठकर पुणे के रहने वाले प्रतीक खांडेकर ने अपने फोन के कैमरे और सेल्फी स्टिक की सहायता से यह तस्वीर ली।

                                                                                                     source 

इस तस्वीर में प्रतीक के साथ उनके 8 दोस्त भी कई सौ फीट गहरी खाई में पैर लटकाकर बैठे हुए थे। प्रतीक के मुताबिक, यह देश की सबसे रोमांचक सेल्फी थी। सेल्फी से होने वालो मौतों को रोकने के लिए मुंबई पुलिस ने शहर के 16 इलाकों में नो-सेल्फी जोन बनाए हैं।