यह मेहंदी डिज़ाइन दिखाएंगे दुल्हन को सबसे अलग


भारत, पाकिस्तान और अफगानिस्तान में हथेली, बांह और पैरों पर मेहंदी का प्रयोग ऐतिहासिक महत्त्व रखता है। बिना मेंहदी की रस्म को पूरा किये कोई भी शुभ और पारम्परिक त्यौहार, शादियां या धार्मिक काम पूरे नही होते है। दिवाली, करवा चौथ, तीज, राखी या रोका, निकाह, संगीत आदि शादी के उत्सव, दुल्हन और परिवार के सदस्यों के हाथों पर मेंहदी या हिना की खूबसूरत आकृति के बिना पूरे नही होते।

source

शादियों के मौसम में मेंहदी कलाकार और विशेषकर मेंहदी पार्लर की मांग अधिक होती है। समय समय पर दुल्हन की मेंहदी आकृतियां बदलती रहती हैं। ये मेहंदी के डिजाइन राजस्थानी, मारवाड़ी, पाकिस्तानी और अरब की हो सकती है।

source

आज फैशन में मेंहदी की आकृति को सजावटी लहंगे, साड़ी या शादी के जोड़े, जिसे दुल्हन पहनने वाली है, से मिलाकर लगाया जाता है।

source

दुल्हन के हाथों पर आश्चर्यचकित करने वाले प्रभाव को छोड़ने के लिये मेहंदी के डिजाइन पर सुंदर पत्थर, फ्युशिआ के कण, मरकत, इंडिगो, नींबू और पन्ना हरा रंग आदि डाला जाता है।

source

यह सभी दुल्हन मेहंदी डिजाईन के उन खूबसूरत डिजाईनों में से एक है, जिसका प्रयोग आप अपने किसी दोस्त या सगे सम्बन्धियों की शादी के मौके पर कर सकती हैं।

source