घने कोहरे के कारण थामी रफ्तार , बादलों ने रोकी सूरज की तपिश


रविवार की सुबह बादलों से घरी रही। इसके साथ ही कोहरा भी छाया रहा। घने कोहरे के कारण वाहन चालक और राहगीरों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। हाईवे पर और खुले इलाके में घने कोहरे ने वाहनों की गति के साथ दृश्यता को भी सीमित कर दिया। इस कारण वाहन रेंग-रेंग कर चले। घने कोहरे के चलते दृश्यता 30 मीटर से भी कम रही। वही ,राजस्थान के अधिकतर हिस्सों में उत्तरी हवाओं के चलने से न्यूनतम तापमान में कल मुकाबले एक से दो डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट दर्ज की गई। शेखावटी अंचल के फतेहपुर शेखावटी के कृषि अनुसंधान केन्द पर न्यूनतम तापमान 0.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

मौसम विभाग के प्रवक्ता के अनुसार प्रदेश में उत्तर-पश्चिम हवाओं के रुख के कारण न्यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई। माउंट आबू में न्यूनतम तापमान तीन डिग्री सेल्सियस, श्रीगंगानगर में 3.1 डिग्री सेल्सियस, चूरू-पिलानी में 3.5 डिग्री सेल्सियस, सीकर में चार डिग्री सेल्सियस, भीलवाड़ में 4.5 डिग्री सेल्सियस, अलवर में 5.2 डिग्री सेल्सियस, चिथौड़गढ़-बीकानेर-वनस्थली में 7.1 डिग्री सेल्सियस, डबोक में 7.5 डिग्री सेल्सियस, सवाईमाधोपुर में 8.8 डिग्री सेल्सियस, जयपुर में 9.3 डिग्री सेल्सियस, जैसलमेर-जोधपुर में 9.5 डिग्री सेल्सियस, कोटा-अजमेर में 9.8 डिग्री सेल्सियस, बाड़मेर में 11.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

उन्होंने बताया कि प्रदेश के अधिकतर हिस्सों में अधिकतम तापमान 20.4 डिग्री सेल्सियस से 27 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया।

इधर, फतेहपुर शेखावटी में सर्दी का खासा असर देखने को मिला। उत्तरी हवाओं के चलने के कारण कल के मुकाबले आज न्यूनतम तापमान में दो डिग्री की कमी दर्ज की गयी। कृषि अनुसंधान केंद, पर न्यूनतम तापमान 0.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। तापमान के जमाव बिन्दू के नजदीक चले जाने के कारण इलाके की खेतो में ओस की बूंदे बर्फ की परत के रूप में जमी पायी गयीं।

अधिकारियों के अनुसार अभी तापमान में और गिरावट आने की संभावना है। विभाग ने आगामी 24 घंटों के दौरान प्रदेश में मौसम शुष्क बने रहने और उत्तरी राजस्थान में शीतलहर चलने की संभावना जताई है।

अन्य विशेष खबरों के लिए पढ़िये पंजाब केसरी की अन्य रिपोर्ट