क्या है ऐसी वजह जो कि शादी से पहले बच्चा पैदा करना जरूरी


आज की बदलती दुनिया में लिव इन रिलेसन शिप का भी चलन चल चुका है। दुनिया के बहुत से देश हैं जहां पर कपल में मर्जी से लिव इन रिलेसन शिप में रहते हैं और यह सब कुछ उनके लिए बहुत आम बात है। लेकिन भारत में लिव इन रिलेसन शिप को बिल्कुल अनुमति नहीं दी गई है। और इसका हमेशा से ही हमारे समाज ने विरोध किया है।

source

इन सारी बातों को छोड़ दें तो हमारे ही भारत में ऐसी एक जगह है जहां पर सदियों से लिव इन रिलेसन शिप की परंपरा चली आ रही है। यहां पर लोग अपनी मर्जी से लिव इन रिलेसन शिप में आ सकते हैं। न सिर्फ रह सकते हैं साथ में बल्कि आप शादी से पहले बच्चा भी पैदा कर सकते हैं।

इसी वजह से यह खबर को सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है और यह बहुत ही वायरल भी हो रही है। चलिए हम आपको इस जगह और इसकी प्रथा के बारे में बताते हैं। यह जनजाति है गुजरात औैर राजस्थान के गरसिया जनजाति की यहां पर लड़का और लड़की को अनुमति होती है कि वह लिव इन रिलेसन शिप में आ सकते हैं। यह राजस्थान के उदयपुर के आसपास के आदिवासी इलाके में पाए जाती है। गुजराती, भीली, मेवाड़ी और मारवाड़ी के मिश्रण से भाषा बोली जाती है।

source

यहां के लड़का-लड़की को इस प्रथा में साथ रहने की अनुमति होती है और अगर संतान हो गई इस बीच में और किसी को भी अपने पार्टनर को बदलना चाहते हैं तो उसकी भी अनुमति होती है इनको। अगर इस दौरान बच्चा नहीं होता तब भी वह अपना रिश्ता तोड़ भी सकते हैं। इस प्रथा को ‘दापा प्रथा’ कहते हैं। इस परंपरा में बहुत सारे उदाहरण मिलते हैं जैसे की इसमें 40 साल से लेकर 90 साल के कपल होते हैं।

source

इस जाति में एक ऐसा कपल मिला जिसने इस प्रथा की जरिए अपने पार्टनर के साथ लिव इन रिलेसन शिप में रहे और शादी कर ली। इनकी उम्र है 80 साल के आदमी ने 70 साल की औरत से शादी की और इनकी शादी के मौके पर उनके पड़पोते भी थे। हम आपको बता दें कि इस जनजाति का पहनावा भी बहुत अच्छा है। यहां कि स्त्रियां चटके और गहरे रंग के घांघर और ओढऩी पहनती है और यहां के पुरुष धोती और कमीज पहनते हैं।