सीबीएसई परीक्षा: सरल लेकिन लंबा था प्रश्नपत्र

0
72

नई दिल्ली : सीबीएसई परीक्षा के क्रम में सोमवार को 12वीं कक्षा के छात्रों ने गणित का प्रश्नपत्र दिया। प्रश्नपत्र को देखते हुए बच्चों के चेहरे पर रौनक आ गई। वहीं पेपर के ज्यादा लेंदी होने के कारण अधिकांश छात्र पूरा प्रश्नपत्र नहीं कर पाए।
गौरतलब हो कि आज 12 कक्षा की गणित की परीक्षा थी। गणित पेपर को लेकर काफी समय से छात्र- छात्राएं काफी परेशान थे। परीक्षा की तैयारी को लेकर छात्र-छात्राएं किताबों के साथ पुराने प्रश्नपत्र की भी मदद ले रहे थे। छात्रों की परेशानी को दूर करने के लिए अध्यापक भी उनकी मदद करने के लिए लगे हुए थे। ऐसे में प्रश्नपत्र देखते हुए छात्रों के चेहरे खिल उठे।

शिक्षाविद डी के तनेजा का कहना है कि गणित का प्रश्नपत्र ज्यादा कठिन नहीं था लेकिन लम्बा काफी था। जिसकी वजह से अधिकांश छात्र पूरा प्रश्नपत्र हल नहीं कर पाए। उन्होंने कहा कि फिजिक्स के प्रश्नपत्र को भी समझने में छात्रों को थोड़ी परेशानी हुई थी। इस प्रकार की समस्या का प्रमुख कारण यह है कि प्रश्नपत्र यूनिवर्सिटी के प्रोफेसरों से तैयार कराया जाता है, जिसकी वजह से कई बार प्रश्नपत्र आउट ऑफ सिलेबस या घुमे हुए या छात्रों के हिसाब से लंबा प्रश्नपत्र बना देते हैं। जिसका खामियाजा बच्चों को उठाना पड़ता है।

अभिषेक ने कहा कि प्रश्नपत्र काफी आसान था। लेकिन प्रश्नपत्र बहुत लंबा था जिसकी वजह से 5 अंकों का प्रश्न हल नहीं कर पाए। परीक्षा से पहले जितनी टेंशन हो रही थी। प्रकाश का कहना है कि सारे प्रश्न एनसीआरटी की किताब से ही पूछे गए थे। जिन्होंने एनसीआरटी की किताब से पढ़ाई की थी उनके लिए परीक्षा में कोई परेशानी नहीं हुई।

LEAVE A REPLY