पंजाब सरकार ने खालसा विश्वविद्यालय अधिनियम रद्द किया

0
47

चंडीगढ़: पंजाब सरकार ने आज 125 साल पुराने खालसा कॉलेज को विरासत का दर्जा खोने से बचाने के लिये विवादित खालसा यूनिवर्सिटी एक्ट, 2016 को रद्द करने का फैसला किया।

मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने अमृतसर के खालसा कॉलेज की वैभवशाली विरासत के संरक्षण का वादा किया था। यह देश के सबसे पुराने शिक्षण संस्थानों में से एक है जिसे विरासत का दर्जा हासिल है।

एक आधिकारिक प्रवक्ता ने कहा कि मंत्रिमंडल ने खालसा कॉलेज सोसाइटी के इस प्रतिष्ठित संस्थान को विश्वविद्यालय में बदलकर इसके विरासत के दर्जे को नष्ट करने के कदम को भयावह बताया।

कैबिनेट ने कहा कि खालसा यूनिवर्सिटी को पिछली शिरोमणि अकाली दल-भाजपा गठबंधन सरकार द्वारा खालसा यूनिवर्सिटी एक्ट, 2016 के तहत स्थापित किया गया था। अमृतसर के लोगों और कॉलेज के पूर्व छात्रों तथा प्रबुद्ध जन के भारी विरोध के बावजूद पूर्ववर्ती सरकार ने यह फैसला लिया था।

इसमें कहा गया कि अमृतसर में अतिरिक्त विश्वविद्यालय बनाने का कोई सवाल ही नहीं जहां पहले से ही उच्च शिक्षा के लिये कई संस्थान मौजूद हैं।

(भाषा)

LEAVE A REPLY