BREAKING NEWS

J&K : घाटी में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी , लश्कर का शीर्ष कमांडर सहित 2 आतंकवादी ढेर◾खुले में नमाज पढ़ने के विरोध में उतरी भीड़, लोगों ने भजन-कीर्तन करते हुए दर्ज कराई आपत्ति◾यूपी विधानसभा चुनाव : जयंत चौधरी बोले- सपा के साथ गठबंधन को लेकर बातचीत चल रही है◾अखिलेश का भाजपा पर हमला, बोले- उन्हें सिर्फ 'जीभ चलाना' और 'जीप चढ़ाना' ही आता है ◾अब बिना आधार कार्ड वालों को भी लगेगी कोरोना की वैक्सीन, CM नीतीश ने दिए निर्देश◾ कश्मीर में आतंकियों का खूनी खेल जारी, कायर आतंकियों ने अब गोलगप्पे वाले की ली जान ◾PM मोदी 25 अक्टूबर को सिद्धार्थनगर में सात मेडिकल कालेजों का उद्घाटन करेंगे: CM योगी◾तमाम सियासी अटकलों को खारिज करते हुए तेजस्वी ने कहा- लालू बिहार आने को इच्छुक, लेकिन स्वास्थ्य नहीं दे रहा साथ◾लंबे समय बाद करीब पांच घंटे चली CWC मीटिंग, अगले साल चुना जा सकता है कांग्रेस अध्यक्ष◾लखीमपुर में मगरमच्छी आंसू बहा रहे थे भाई-बहन, क्या छत्तीसगढ़ ले जाएंगे मुंगेरी लाल के हसीन सपनों का रथ : BJP ◾अध्यक्ष बनने की मांग पर राहुल गांधी का जवाब- दबाव बनाया गया तो पुन: बन सकता हूं कांग्रेस प्रमुख ◾कांग्रेस वर्किंग कमेटी कम और 'परिवार बचाओ वर्किंग' कमेटी ज्यादा लगती है CWC की बैठक : BJP◾श्रीनगर के 5 में से 3 आतंकवादियों को हमने 24 घंटे से भी कम समय में ढेर कर दिया है: IGP विजय कुमार◾ अंडमान-निकोबार: अमित शाह ने कहा-यहां की हवाओं में हैं सावरकर और बोस, उनके साथ अन्याय हुआ◾राम वियोग में 'दशरथ' ने मंच पर ही त्याग दिए प्राण, रामलीला मंचन के दौरान हार्ट अटैक से कलाकार की मौत◾पुलवामा मुठभेड़ में ढेर हुआ लश्कर का खूंखार कमांडर उमर मुश्ताक, दो पुलिसकर्मियों की हत्या में था शामिल◾कांग्रेस केंद्रीय नेतृत्व को निशाने पर लेते हुए बोले CM शिवराज- ‘सर्कस’ जैसी हो गई है पार्टी की स्थिति◾कौन है Fletcher Patel? नवाब मलिक ने ट्वीट कर NCB से पूछे कई सवाल◾सिंघु बॉर्डर हत्या मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट के दरबार में, आंदोलनकारी प्रदर्शन की आड़ में कानून की खुलेआम धज्जियां उड़ा रहे ◾UN का दावा- लड़कियों को स्कूलों में पढ़ाई की इजाजत पर जल्द घोषणा करेगा तालिबान◾

पुलिस कस्टडी में युवक की मौत के बाद वारिसों ने किया हंगामा

लुधियाना : पुलिस की हिरासत में युवक की मौत होने के उपरांत परिजनों द्वारा लुधियाना में जमकर हंगामा। मृतक के वारिसों ने पुलिस पर आरोप लगाया कि पिछले 5 दिनों से उनका बेटा अन्य साथी के साथ झपटमारी के आरोप में अवैध हिरासत में रखा गया था। इस दौरान पुलिस ने टारचर किया तो उसकी मौत हो गई। पुलिस पर परिजनों ने आरोप लगाएं कि पुलिस चौकी के मुलाजिमों ने उनके बेटे को छोडऩे के एवज में रूपए मांगे थेे। युवक का शव सिविल अस्पताल में रखा गया है। डॉक्टरों के बोर्ड से उसका पोस्टमार्टम करवाया गया है।

जानकारी के मुताबिक जनकपुरी चौकी की हवालात में चोरी के मामले में गौरव कुमार और करण कुमार को बंद किया हुआ था। हवालात में प्रेम कॉलोनी धामियां कला ताजपुर रोड निवासी करण की मौत हो गई। इसके बारे में परिजनों को सुबह जानकारी दी गई। ये खबर सुनकर परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल था। सिविल अस्पताल में पहुंची गौरव की मां नीना और करण की मां ज्योति ने आरोप लगाया कि उनके बेटे तीन अप्रैल से ही पुलिस की हिरासत में थे। वह अगले दिन से ही उन्हें मिलते रहे हैं।

लोकसभा चुनाव : डेरा समर्थक सियासी फतवे पर चढ़ाएंगे वोटों के ‘ फूल ’

पुलिस उन्हें छोड़ देने की बात कहती रही है। करण के पिता बूटा राम ने आरोप लगाया कि उसके बेटे की मौत पुलिस की मारपीट से हुई है। यही नहीं एक कांग्रेस पार्षद और सरपंच इस पूरे मामले को पुलिस के पक्ष में करने पर लगा रहा। सरपंच ने तो बूटा राम की बेटी की शादी का खर्च तक उठाने की बात रख दी थी। एसीपी ने उसके दूसरे बेटे को नौकरी दिलाने तक का भरोसा दे दिया।

पुलिस ने इस घटना के बारे में जिला सेशन जज के समक्ष अर्जी देकर बताया। इसके बाद मजिस्ट्रेट अंकिता लूंबा खुद सिविल अस्पताल पहुंचीं। यहां पर करण के पिता, मां और दादी के बयान दर्ज किए। दूसरी तरफ सिविल अस्पताल में डॉ. रिपूदमन कौर, डॉ. कुलवंत सिंह और डॉ. च्बदू नलवा के बोर्ड ने शव का पोस्टमार्टम किया था। डॉक्टरों ने पोस्टमार्टम की रिपोर्ट को पेंडिंग रख लिया है।

इस पूरे प्रकरण में पुलिस की भूमिका सवालों के घेरे में आ गई है। कई ऐसी फोटो सामने आई हैं, जिससे साफ होता है कि करण तीन मार्च की रात को ही पुलिस ही हिरासत में था। दोनों को जनकपुरी की गली नंबर जीरो के पास से लोगों ने चोरी करते हुए पकड़ा था और इन्हें पुलिस के हवाले कर दिया था। इस दौरान वहां पर मौजूद लोगों ने इसकी वीडियो भी बनाई थीं और फोटो भी खींचीं थी।

चौकी जनकपुरी से पुलिस अधिकारी करण को सिविल अस्पताल भी लेकर गए थे, क्योंकि वह पुलिस की नाजायज हिरासत में था इसलिए उसे अस्पताल में भर्ती नहीं करवाया गया। वहां पर भी करण की फोटो पुलिस के साथ है। सिविल अस्पताल में सीसीटीवी कैमरे भी लगे हुए हैं जिसमें भी करण को उसी रात अस्पताल से लाने की फुटेज मिल सकती है। दूसरी और पुलिस ने शनिवार 6 अप्रैल की रात डेढ़ बजे के बाद दोनों के खिलाफ थाना डिवीजन नंबर 2 में एफआइआर 39, 379, 411 आइपीसी के तहत दर्ज की है। पुलिस के अनुसार इन्हें देर रात ही जनकपुरी एरिया के गिरफ्तार किया गया था और इन्हें सुबह अदालत में पेश किया जाना था।

- सुनीलराय कामरेड