BREAKING NEWS

UPSC की तर्ज पर RPSC-RSSB की भर्ती होगी पूरी, CM गहलोत ने दिए निर्देश◾उत्तर प्रदेश में कोरोना के 5287 नए मामलों की पुष्टि, संक्रमितों की संख्या 3.48 लाख के पार पहुंची◾MI vs CSK IPL 2020 : चेन्नई सुपर किंग्स ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला, जानिये प्लेइंग XI◾कोरोना वायरस: अगले हफ्ते पुणे में शुरू होगा ऑक्सफोर्ड वैक्सीन के तीसरे चरण का ट्रायल◾पत्रकार राजीव शर्मा ने जासूसी कर डेढ़ साल में कमाए 40 लाख रुपये, हर जानकारी के बदले मिले 1000 डॉलर◾भारत को कोरोना से लड़ाई में ऐतिहासिक उपलब्धि, स्वस्थ मरीजों के मामले में अमेरिका को पीछे छोड़ बना शीर्ष◾चीन के लिए रक्षा संबंधी जासूसी करने वाले पत्रकार समेत एक चीनी महिला और नेपाली युवक गिरफ्तार◾कृषि बिल को लेकर चिदंबरम का बड़ा हमला : हर पार्टी तय करे कि वह किसानों के साथ है या भाजपा के साथ◾J&K में एक साल के लिए बिजली-पानी के बिल हुए आधे, व्यापारियों के लिए 1350 करोड़ के पैकेज का ऐलान ◾आतंकियों की गिरफ्तारी के बाद राज्यपाल धनखड़ का ममता पर प्रहार, कहा - राज्य बना अवैध बम बनाने का घर◾जयपुर : ब्याज माफियाओं से परेशान होकर आभूषण व्यवसायी ने परिवार सहित लगाई फांसी ◾राहुल ने शेयर किया वीडियो, कहा- 'भारतीय राष्ट्रवाद क्रूरता और हिंसा का साथ नहीं दे सकता'◾कुलभूषण जाधव का प्रतिनिधित्व करने के लिए भारत की ''क्वींस काउंसल'' की मांग को पाक ने किया खारिज◾देश में कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या 53 लाख के पार, 85 हजार से अधिक मरीजों ने गंवाई जान◾कंगना रनौत की याचिका जुर्माने के साथ खारिज की जानी चाहिए : बीएमसी ◾World Corona : विश्व में महामारी का कहर बरकरार, संक्रमितों का आंकड़ा 3 करोड़ 3 लाख के पार ◾एनआईए ने आतंकवादी अल-कायदा मॉड्यूल का किया भंडाफोड़, 9 लोग गिरफ्तार◾नहीं थम रहा महाराष्ट्र में कोरोना का कहर, बीते 24 घंटे में 21,656 नए केस, 405 की मौत ◾दिल्ली में कोरोना का विस्फोट जारी, बीते 24 घंटे में 4,127 नए केस, 30 की मौत ◾अधीर रंजन चौधरी ने अनुराग ठाकुर पर की विवादित टिप्पणी, लोकसभा में हुआ जमकर हंगामा◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

बटाला दर्दनाक पटाखा हादसा : पोस्टमार्टम के बाद चीख-चिंखाड़ों के बीच 20 लाशों का हुआ अंतिम संस्कार ,सांसद सन्नी देओल पहुंचे सिविल अस्पताल

लुधियाना- बटाला (गुरदासपुर) : पिछले 50 सालों से कभी वैध और कभी अवैध तरीकों से चल रही बटाला की हादसाग्रस्त बारूद फैक्ट्री में लगी आंच ज्यों-ज्यों ठंडी पड़ती जा रही है त्यों-त्यों अपनों को खोने का दर्द  वारिसों में चीख-चिंखाड़ों और भारी रूदन के बीच मोजूद हर शख्स की आंखें नम थी। इस दर्दनाक हादसे के दौरान 24 के करीब बिछड़ी रूहों की शांति के लिए स्थानीय गुरूद्वारा साहिब में अरदास हुई तो मंदिरों में भी सामूहिक प्रार्थना सभाओं का आयोजन हुआ।

इसी बीच मारे गए 20 के करीब लोगों का सिविल अस्पताल बटाला में चिकित्सक पैनलों ने पोस्टमार्टम के उपरांत लाशों को पंजाब पुलिस के हवाले किया। तो पुलिस ने भी बड़ी संजीदगी से बारी-बारी लाशों के वारिसों की पहचान करते हुए उनके अपनों को सफेद कफनों में लपेटकर सौप दिया, जो 24 घंटे पहले उनके सामने जिंदा जागते इंसान के रूप में हंस-खेल रहे थे, इन मृतक देहों की मौत के आगोश में जाने के दौरान कहानियां दर्दनाक है, जिन्हें कलम के शब्दों में बयां करना मुश्किल ही नहीं बल्कि नामुमकिन है। 

कोई मृतक शख्स घटना स्थल पर बाबे नानक और जगत माता सुलखनी जी के ब्याह की तैयारियों के लिए हिस्सा लेने के लिए पटाखे खरीदने गया था, तो कोई राहगिरी के रूप में अपने गंतव्य स्थान की ओर जा रहा था कि इसी इलाके के विस्फोट रूपी मंजर का वह शिकार हो गया। 

कई लोगों के हाथ उड़े तो कईयों के पूरा धड़ सडक़ के किनारे एक ओर पड़ा, अपने दर्द की कहानी बयां करने के लिए काफी था। हालांकि स्थानीय लोगों के जितने भी हाथ आगे बढ़े वे सब वाहेगुरू के भाने को मानकर खामोश है कितु प्रशासनिक लापरवाहियों के चलते उनकी आंखों में गुस्से का आक्रोश साफ दिखाई दे रहा था। अड़ोस-पड़ोस के लोगों ने मृतक देहों पर अपने-अपने घरों में बिछने वाली चादरों से क्षतिग्रस्त लाशों को कफन के रूप में ढकने से गुरेज नही किया। 

इसी दर्दनाक मंजर के बीच फैक्ट्री मालिक के 4 भाईयों में से 3 की मौत हुई है। यह भी पता चला है कि बाबे नानक के ब्याह और दीवाली के लिए यहां बारूद जमा किया गया था, जो एक ङ्क्षचगारी के साथ ही 4 बड़े ब्लास्टों में तबदील हो गया।  बहरहाल एनडीआरएफ के जवानों ने प्रशासनिक और पुलिस सहायता के बीच समाज सेविकों की मदद से समस्त कार्यो को अंजाम दिया है। वे हौसला अफजाई के पात्र है। 

उधर आज बटाला के सिविल अस्पताल में पोस्टमार्टम के उपरांत 20 लोगों के संस्कार कर दिए जाने की खबरें मिली है। हालांकि 3 लोगों की शिनाख्त ना होने के कारण उनकी लाशें अस्पताल के मार्चरी रूम में रखी गई है। अमृतसर से पहुंचे एक शख्स सतनाम सिंह ने अपने  2 पारिवारिक सदस्यों की लाशें लापता होने के आरोप लगाए है। 

सतनाम सिंह अन्य पारिवारिक सदस्यों और जान-पहचान वालों के साथ सिविल अस्पताल बटाला पहुंचा था, उसने बताया कि वह कल पहले दिन ही पटाखा फैक्ट्री में काम पर आया था, सतनाम सिंह और अन्य ने आज एक अखबार में छपी फोटो देखी जोकि मृतक हालत में लगती थी किंतु जब वह अस्पताल पहुंचे जो वहां उन्हें अपने की लाश नहीं मिली उसने रोते हुए बताया कि अस्पताल के डॉक्टरों के मुताबिक वे इस संबंध में कोई स्पष्ट जानकारी नहीं दे पाएंगे। मौतों की जारी हुई सूची में सतनाम सिंह का नाम भी नहीं और पोसटमार्टम कमरे में पड़ी तीनों लाशों में सतनाम सिंह की मृतक देह भी नहीं है।

 

सिविल अस्पताल में डीसी और अनय प्रशासनिक अधिकारियों को पीडि़त लोगों के गुस्से का शिकार होना पड़ा, इस दौरान पंजाब पुलिस और कैप्टन अमरेंद्र सिंह की कांग्रेस सरकार के विरूद्ध जमकर नारेबाजी हुई। लोगों के आरोप थे कि समय रहते इस दुर्घटना को टाला जा सकता था। 

लोगों के मुताबिक जनवरी 2017 में जब फैक्ट्री को आग लगी थी और 2 कारीगर जख्मी हुए थे, तब स्थानीय लोगों ने इस बारूद फैक्ट्री को विरोध दर्ज करवाते हुए रिहायशी इलाके से निकाले जाने के लिए संघर्ष किया था, जब एसडीएम पृथ्वी ने जांच करने को कहा था और खानापूर्ति करके जांच ठंडे बस्ते में चली गई।

- सुनीलराय कामरेड