BREAKING NEWS

चिदंबरम ने CAB को बताया 'हिन्दुत्व का एजेंडा', कानूनी परीक्षण में नहीं टिकने का जताया भरोसा◾इसरो ने किया डिफेंस सैटेलाइट रीसैट-2BR1 लॉन्च, सेना की बढ़ेगी ताकत ◾हैदराबाद एनकाउंटर: सुप्रीम कोर्ट ने जांच के लिए पूर्व न्यायाधीश को नियुक्त करने का रखा प्रस्ताव ◾पाकिस्तान : हाफिज सईद के खिलाफ आतंकवाद वित्तपोषण के आरोप तय◾मनमोहन सिंह की सलाह पर लाया गया है नागरिकता संशोधन विधेयक : भाजपा◾कांग्रेस ने नागरिकता संशोधन विधेयक को बताया विभाजनकारी और संविधान विरूद्ध◾राज्यसभा में नागरिकता बिल पेश, अमित शाह बोले- भारतीय मुस्लिम भारतीय थे, हैं और रहेंगे◾प्रियंका का वित्त मंत्री पर वार, कहा-आप प्याज नहीं खातीं, लेकिन आपको हल निकालना होगा ◾2002 गुजरात दंगा मामले में नानावती आयोग ने PM नरेंद्र मोदी को दी क्लीन चिट ◾BJP संसदीय दल की बैठक में PM मोदी ने नागरिकता संशोधन विधेयक को बताया ऐतिहासिक◾नागरिकता संसोधन बिल राज्यसभा में पेश होने से पहले बोले राहुल- यह उत्तर पूर्व पर एक आपराधिक हमला◾हैदराबाद एनकाउंटर मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज, CP वीसी सज्जनार भी रहेंगे मौजूद◾निर्भया कांड: अजीबोगरीब दलीलों के साथ दोषी अक्षय ने सुप्रीम कोर्ट में दायर की पुनर्विचार याचिका◾राज्यसभा में आज पेश होगा नागरिकता संशोधन बिल, कांग्रेस देशभर में करेगी प्रदर्शन◾झारखंड: तबरेज अंसारी की हत्या मामले में 6 आरोपियों को हाईकोर्ट से मिली जमानत◾राज्यसभा में CAB पारित कराने के लिए रणनीति बनाने में जुटी भाजपा◾झारखंड विधानसभा चुनाव : तीसरे चरण में भाजपा, झाविमो और आजसू की प्रतिष्ठा दांव पर ◾सोनिया ने पार्टी सांसदों को दिया रात्रिभोज◾UP : चौथी बार बुंदेलियों ने मोदी को लिखी खून से चिट्ठी ◾पूर्वोत्तर में नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ व्यापक प्रदर्शन, सामान्य जनजीवन ठप पड़ा◾

पंजाब

\" पकोका \" को विरोधियों के विरुद्ध राजनैतिक हथियार के तौर पर इस्तेमाल करेगी कैप्टन सरकार : भगवंत मान

 bagwat-mann-and-captain

लुधियाना-अमृतसर  : पंजाब में तेजी से बढ़ रहे संगठित अपराध, गैंगस्टारों, कटटरपंथियों से निपटने के लिए कैप्टन सरकार ने महाराष्ट्र सरकार की तर्ज पर पंजाब में भी ‘ पकोका ’ इसी महीने की आखिर तक लागू करने का निर्णय किया तो आम आदमी पार्टी समेत विपक्षी सियासी दलों ने कड़ी विरोधता दर्ज करवानी शुरू कर दी। पंजाब कंट्रोल आफ आर्गेनाइज क्राइम एक्ट, पकोका कानून लाने के प्रस्ताव पर आम आदमी पार्टी ने गंभीर सवाल उठाते हुए सवाल दागे है। ‘आप पार्टी के प्रधान और मैंबर पार्लियामेंट भगवंत मान, सह -प्रधान और विधायक अमन अरोड़ा, मैंबर पार्लियामेंट प्रो. साधू सिंह, विपक्ष की उप नेता बीबी सरबजीत कौर माणूके, विधायक प्रो. बलजिन्दर कौर, रुपिन्दर कौर रूबी, कुलतार सिंह संधवां, नाजर सिंह मानशाहिया, हरपाल सिंह चीमा, जय कृष्ण शन सिंह रोड़ी, प्रिंसीपल बुद्धराम, अमनरजीत सिंह संधोआ, जगदेव सिंह कमालू, मीत हेयर, पिरमल सिंह धौला, कुलवंत सिंह पंडोरी, मास्टर बलदेव सिंह और मनजीत सिंह बलासपुर ने पूछा है कि कैप्टन अमरिन्दर सिंह किस मकसद और कौन से तत्वों के लिए पकोका जैसा कानून पंजाब की जनता पर थोप रहे हैं, सूबे के लोग यह जानना चाहते हैं।

क्योंकि आम आदमी पार्टी समेत पंजाब के आम-जन को यह संदेह है कि पकोका का जमकर दुरुपयोग होगा और सत्ताधारी पक्ष इस कानून को अपने विरोधियों के खिलाफ हथियार के तौर पर इस्तेमाल करेगी। अमन अरोड़ा ने कैप्टन अमरिन्दर सिंह और कांग्रेसी नेताओं को याद करवाया कि जब पिछली बादल सरकार ने पकोका का प्रस्ताव लाया था, तब ‘आप के साथ-साथ कांग्रेस ने भी यही संदेह जाहिर करते हुए अकाली-भाजपा सरकार के समकालिन पकोका प्रस्ताव का विरोध किया था।

अमन अरोड़ा ने कैप्टन सरकार पर व्यंग्य कसते हुए कहा कि यदि पकोका लाया भी जाता है तो क्या इस को जुर्म और आज हो रहे कत्लआम के विरुद्ध लागू किया जायेगा, क्योंकि पंजाब की अमन शान्ति और आपसी सद्भावना को चोट मारने वाले कातिलों में अभी तक एक भी पकड़ा नहीं गया और न ही हाई -प्रोफाइल हत्याओं की साजिश रचने वाली विरोधी ताकतों की पहचान हुई है। पंजाब और देश की सभी खुफिया और जांच एजेंसियां नाकाम साबित हुई हैं। जब हत्यारे पकड़े नहीं जा रहे, फिर पकोका किस पर लागू किया जायेगा? अरोड़ा ने एक ओर तंज कसते हुए कहा कि क्या पकोका जेलों में बंद उन गैंगस्टरों के लिए लाया जा रहा जो गृह मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की नाक तले जेल में ही जन्म दिन का जश्न मनाते हैं, हाथों में महंगे मोबाइल फोन पकडक़र नाचते गाते हैं।

‘आप नेता ने कहा कि मुख्य मंत्री के साथ-साथ गृह मंत्री के तौर पर भी कैप्टन अमरिन्दर सिंह नाकाम नेता साबित हो चुके हैं। पकोका लाने की बजाए कैप्टन अमरिन्दर सिंह को गृह मंत्री का पद छोड़ कर किसी अन्य समर्थ शख्स को सौंप देना चाहिए, जिस को पंजाब का फिक्र हो और वह पंजाब के लोगों में फैली दहश्त की भावना से मुक्त करवाने के लिए दृड़ इरादा रखता हो।

अमन अरोड़ा ने कहा कि असली हकीकत यह है कि आज अमन-कानून व्यवस्था के तौर पर पंजाब बेहद खतरनाक दौर से गुजर रहा है। अपराधी बेखौफ हैं और पुलिस तंत्र बेबस है। अब तो अपराधी तत्व भरे बाजार में किसी हत्या को अंजाम देते समय अपना मुंह छीपाना भी जरूरी नहीं समझते। हर रोज की अखबारें हत्याएं, बलात्कार, फिरौतियां, डकैतियां, माफिया और धोखाधडिय़ों के साथ भरी होती हैं, यह सब पंजाब के जंगल राज की मुंह बोलतीं तस्वीरें हैं।

अमन अरोड़ा ने कहा कि पंजाब में फैली अराजकता को रोकने के लिए किसी भी नये कानून की अपेक्षा कानून को सूबे में निचले स्तर तक लागू करने वाली पंजाब पुलिस का सियासीकरन बंद किया जाये और पुलिस को बिना किसी राजनैतिक दखल या दबाव के कानून अनुसार मैरिट पर काम करने की छुट दी जाये। अमन अरोड़ा ने कहा कि पिछली बादल सरकार की तरह कैप्टन सरकार भी पंजाब में अमन-कानून की स्थिति बहाल करने में नाकाम साबित हुई है और बादलों की तरह अपनी नाकामी से ध्यान भटकाने के लिए पकोका का राग अलापने लगी है।

- सुनीलराय कामरेड