BREAKING NEWS

PNB धोखाधड़ी मामला: इंटरपोल ने नीरव मोदी के भाई के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस फिर से किया सार्वजनिक ◾कोरोना संकट के बीच, देश में दो महीने बाद फिर से शुरू हुई घरेलू उड़ानें, पहले ही दिन 630 उड़ानें कैंसिल◾देशभर में लॉकडाउन के दौरान सादगी से मनाई गयी ईद, लोगों ने घरों में ही अदा की नमाज ◾उत्तर भारत के कई हिस्सों में 28 मई के बाद लू से मिल सकती है राहत, 29-30 मई को आंधी-बारिश की संभावना ◾महाराष्ट्र पुलिस पर वैश्विक महामारी का प्रकोप जारी, अब तक 18 की मौत, संक्रमितों की संख्या 1800 के पार ◾दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर किया गया सील, सिर्फ पास वालों को ही मिलेगी प्रवेश की अनुमति◾दिल्ली में कोविड-19 से अब तक 276 लोगों की मौत, संक्रमित मामले 14 हजार के पार◾3000 की बजाए 15000 एग्जाम सेंटर में एग्जाम देंगे 10वीं और 12वीं के छात्र : रमेश पोखरियाल ◾राज ठाकरे का CM योगी पर पलटवार, कहा- राज्य सरकार की अनुमति के बगैर प्रवासियों को नहीं देंगे महाराष्ट्र में प्रवेश◾राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने हॉकी लीजेंड पद्मश्री बलबीर सिंह सीनियर के निधन पर शोक व्यक्त किया ◾CM केजरीवाल बोले- दिल्ली में लॉकडाउन में ढील के बाद बढ़े कोरोना के मामले, लेकिन चिंता की बात नहीं ◾अखबार के पहले पन्ने पर छापे गए 1,000 कोरोना मृतकों के नाम, खबर वायरल होते ही मचा हड़कंप ◾महाराष्ट्र : ठाकरे सरकार के एक और वरिष्ठ मंत्री का कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव◾10 दिनों बाद एयर इंडिया की फ्लाइट में नहीं होगी मिडिल सीट की बुकिंग : सुप्रीम कोर्ट◾2 महीने बाद देश में दोबारा शुरू हुई घरेलू उड़ानें, कई फ्लाइट कैंसल होने से परेशान हुए यात्री◾हॉकी लीजेंड और पद्मश्री से सम्मानित बलबीर सिंह सीनियर का 96 साल की उम्र में निधन◾Covid-19 : दुनियाभर में संक्रमितों का आंकड़ा 54 लाख के पार, अब तक 3 लाख 45 हजार लोगों ने गंवाई जान ◾देश में कोरोना से अब तक 4000 से अधिक लोगों की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 39 हजार के करीब ◾पीएम मोदी ने सभी को दी ईद उल फितर की बधाई, सभी के स्वस्थ और समृद्ध रहने की कामना की ◾केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा- निजामुद्दीन मरकज की घटना से संक्रमण के मामलों में हुई वृद्धि, देश को लगा बड़ा झटका ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

चंगालीवाला मामला : लोगों के आक्रोश के आगे झुकी सरकार, छोटे कैप्टन की कोशिश रंग लाई, सख्त सुरक्षा बंदोबस्त के तहत दलित जगमेल सिंह का हुआ अंतिम संस्कार

लुधियाना-लहरागगा : पंजाब के संगरूर इलाके में स्थित गांव चंगीवाल में 37 वर्षीय जगमेल सिंह उर्फ जगगा की मृतक देह का पीजीआई चंडीगढ़ में पोस्टमार्टम के उपरांत आज गांव की शमशान घाट पर पहुंचने के उपरांत मृतक के वारिसों, रिश्तेदारों और अलग-अलग जत्थेबंदियों व प्रशासनिक अधिकारियों की मोजूदगी में अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस अवसर पर अलग-अलग मानवीय संगठनों द्वारा गगनचुंबी नारों के बीच जगमेल सिंह को अंतिम विदाई दी गई। 

संस्कार के वक्त पंजाब सरकार के साथ हुई सहमति के मुताबिक 6 लाख रूपए का चैक शिक्षामंत्री विजय इंद्र सिंगला और पंजाब की पूर्व मुख्यमंत्री बीबी राजिंद्र कौर भटठल ने परिवार को सौपा और सम्मान के तौर पर मृतक की देह पर दोशाला भी डाला। इस समय डिप्टी कमीश्रर घनश्याम थोरी, एसएसपी संदीप गर्ग, एसडीएम कालाराम कांसल, डीएसपी लहरागगा स. बूटा सिंह गिल, तहसीलदार सुरिंद्र सिंह, राजिंद्र सिंह राजा बीरकलां, सनमीक सिंह हैनरी, ओएसडी रविंद्र सिंह टुरना, पुलिस स्टेशन सदर प्रमुख सतनाम सिंह और सिटी इंचार्ज जगरूप सिंह समेत कई इलाकों के सियासी नेता, सरपंच और पंच भी पहुंचे हुए थे। 

जगमेल सिंह जगगा की मौत के बाद उसके परिवार को 50 लाख रूपए मुआवजा और उसकी विधवा मंजीत कौर को सरकारी नौकरी की मांग को लेकर शुरू हुए संघर्ष के चौथे दिन बाद मृतक का संस्कार हुआ है। जबकि जगमेल सिंह की मौत के बाद पंजाब में गरमाई जा रही सियासत और अनुसूचित जाति में बढ़ती नाराजगी से डरी पंजाब सरकार ने दाह-संस्कार के बाद राहत की सांस ली। जानकारी के मुताबिक सरकार और पीडि़त परिवार के साथ 8 शर्तो पर संस्कार हुआ है। जबकि संघर्षशील कई संगठन इस समझौते को नामंजूर कर रहे है। 

सोमवार को संगरूर से आप के सांसद भगवंत मान ने लोकसभा में इस मुददे को उठाया था और मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह के विदेशी दौरे पर होने और विपक्ष द्वारा अनुसूचित जाति के शख्स की हत्या पर लगातार घेरने से सरकारस डरी हुई थी। उन्हें डर था कि दलित की मौत से अनूसूचित जाति में पैदा हुआ आक्रोश कही पूरे राज्य में ना फैल जाएं। इसी बीच पीडि़त परिवार से समझौता करवाने में मुख्यमंत्री के विश्वासनीय सलाहकार और राजनीतिक सचिव कैप्टन संदीप सिंह संधू और एससी - बीसी कल्याण मंत्री साधु सिंह धर्मसोच ने अहम भूमिका निभाई हालांकि पीडि़त परिवार 50 लाख के मुआवजे पर अड़ा था। 

स्मरण रहे कि 7 नवंबर को जगमेल सिंह को गांव के ही दबंगों जिनमें रिंकू, अमरजीत सिंह लक्की और बिंद्र ने मकान के खंभे से बांधकर कई घंटों पीटा था और इसी मारपिटाई के दौरान मृतक के मुंह के अंदर पेशाब करने की अमानवीय कृतियों के साथ उसकी टांगों के मांस को नुक ीले प्लास के साथ खींचा था। हालात बिगडऩे पर उसे पीजीआई चंडीगढ़ में दाखिल करवाया गया, जहां 3 दिन पहले उसकी मौत हो गई। 

हालांकि इसी दौरान सरकार ने पुलिस की लापरवाही की जांच और 7 दिनों में चालान पेश करने का आश्वासन दिया है और यह भी माना है कि मृतक के मकान की मुरम्मत के लिए सवा लाख रूपए अलग से दिए जाएंगे और पीडि़त परिवार के लिए 6 माह का राशन और भोग का समस्त खर्चा सरकार उठाएंगी। मृतक के बच्चे को ग्रजुएशन तक पढ़ाई का खर्चा सरकार देंगी और सरकार पीडि़त को 20 लाख रूपए मुआवजा और पीडि़त की पत्नी को 5वीं पास होने के बावजूद घर के पास ग्रुप डी में सरकारी नौकरी दी जाएंगी।  

- सुनीलराय कामरेड