पंजाब कांग्रेस ने अंतरिम केन्द्रीय बजट में किसानों के लिए 6,000 रुपये वार्षिक सहयोग योजना की घोषणा पर शिरोमणि अकाली दल के कुछ नहीं बोलने का दावा करते हुए उसकी ‘चुप्पी’ पर शनिवार को आलोचना की।

साथ ही कांग्रेस ने अकाली दल को यह साबित करने की चुनौती दी कि इस ‘मामूली’ राशि से कृषि संकटों के समाधान में मदद मिल सकती है।

500 रुपये प्रतिमाह के सहयोग को लेकर भाजपा सरकार पर कृषक समुदाय का अपमान करने का आरोप लगाते हुये कांग्रेस ने अकाली दल से किसानों के मुद्दे पर केन्द्रीय कैबिनेट में मंत्री पद छोड़ने को कहा।

पंजाब और हरियाणा में घना कोहरा, शीतलहर की कहर जारी

यहां मीडिया से बात करते हुये कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने कहा, ‘‘हर मुद्दे पर आपको अकाली दल का बयान या ट्वीट मिल जाएगा। लेकिन, जब से बजट की घोषणा हुई है तब से उसने एक भी शब्द नहीं कहा है। ना तो (प्रकाश सिंह) बादल ‘साहेब’, सुखबीर (बादल) और ना ही मंत्री ‘साहिबा’ (हरसिमरत कौर बादल) ने इस पर कोई बयान दिया है।’’

जाखड़ ने कहा, ‘‘यह चुप्पी अपने आप में बताती है कि अकाली दल ने केन्द्र में भाजपा सरकार के सामने घुटने टेक दिये हैं।’’