BREAKING NEWS

कैबिनेट बैठक में गरीब कल्याण अन्न योजना और EPF सुविधा की अवधि बढ़ाने की दी गई मंजूरी◾पाकिस्तान का दावा, कुलभूषण जाधव ने रिव्यू पिटीशन दायर करने से किया इनकार◾MSME और बैंकों की स्थिति को लेकर राहुल ने BJP पर साधा निशाना, कहा- पहले ही दी थी चेतावनी◾कानपुर एनकाउंटर : हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे पर इनाम राशि को बढ़ाकर किया गया 5 लाख रुपए◾राजीव गांधी फाउंडेशन समेत तीन ट्रस्ट की फंडिंग की जांच के लिए MHA ने बनाई कमेटी◾विकास दुबे के खिलाफ पुलिस का एक्शन सख्त, 25 हजार का इनामी बदमाश श्यामू बाजपेयी गिरफ्तार ◾चीनी सैनिकों की वापसी का सिलसिला जारी, लद्दाख में 3 प्वाइंट्स पर पीछे हटी चीन◾देश में कोरोना से संक्रमितों का आंकड़ा साढ़े सात लाख के करीब, 20 हजार 500 से अधिक लोगों की मौत ◾World Corona : दुनियाभर में लगभग साढ़े पांच लाख लोगों की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 17 लाख के पार ◾कानपुर एनकाउंटर : गैंगस्टर विकास दुबे का करीबी अमर दुबे मुठभेड़ में मारा गया◾आर्थिक कुप्रबंधन लाखों लोगों को कर देगा तबाह, अब यह त्रासदी स्वीकार नहीं : राहुल गांधी◾योगी सरकार का बड़ा फैसला : डीआईजी एसटीएफ अनंत देव का हुआ ट्रांसफर◾ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो पाए गए कोरोना पॉजिटिव◾महाराष्ट्र : 24 घंटे में कोरोना से 224 लोगों की मौत, 5134 नये मामले ◾दिल्ली में कोरोना का कोहराम जारी, बीते 24 घंटे में 2008 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 1,02,831 तक पहुंचा◾पश्चिम बंगाल: कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते कोलकाता में फिर से लग सकता है लॉकडाउन ◾CBSE का बड़ा ऐलान, अगले साल 9वीं से 12वीं क्लास के सिलेबस में 30 फीसदी की होगी कटौती, बोर्ड ने ट्वीट कर दी जानकारी◾भारत में कोरोना टेस्टिंग का आंकड़ा पहुंचा 1 करोड़ के पार, मृत्यु दर दुनिया में सबसे कम : स्वास्थ्य मंत्रालय◾राहुल के आरोपों पर AgVa कंपनी का जवाब, कहा- वह डॉक्टर नहीं है, दावा करने से पहले करनी चाहिए थी पड़ताल◾यथास्थिति बहाल होने तक LAC से भारत को एक इंच भी पीछे नहीं हटना चाहिए : कांग्रेस◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में आपदा-प्रबंधन में कांग्रेस सरकार नाकाम : श्वेत मलिक

भारतीय जनता पार्टी की पंजाब इकाई के एवं सांसद श्वेत मलिक ने कहा है कि प्रदेश की कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार राज्य में बाढ़ प्रबन्धन को लेकर पूरी तरह विफल साबित हुई है। मलिक ने आज यहां कहा कि प्रदेश में हर वर्ष मानसून आने से पहले बाढ़ रोकथाम के लिए आपदा-प्रबंधन को लेकर व्यापक स्तर पर योजनायें बना कर संबंधित विभागों तथा अधिकारियों की जिम्मेवारियां लगाईं जाती हैं लेकिन मुख्यमंत्री ने ऐसा कुछ नहीं किया और इसका खामियाजा जनता को भुगतना पड़ा। 

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि इस बार मानसून पहले से ज्यादा सक्रिय रहा और कैप्टन सरकार आपदा प्रबंध को लेकर सतर्क नहीं रही जिसके कारण त्रासदी झेलनी पड़ी। बाढ़ से पहले यदि बचाव के उपाय किये गये होते तो जनता को भारी नुकसान से बचाया जा सकता था। अब बाढ़ प्रभावितों के लिए सहायता के लिए 100 करोड़ की मामूली राशि जारी की है। बाढ़ से इस बार कई जिलों में नदियों में कई जगह पर बाँध टूट गए जिनका पानी आसपास के सैकड़ गाँव तथा हजारों एकड़ में भर गया और खड़ी  फसलें डूब गई। 

श्री मलिक ने कहा कि कैप्टन सरकार ने रेत-बजरी के प्रबंधन तथा ठेकों में घोटाले किये हैं और इसके गवाह उनके अपने मंत्री भी हैं जो लगातार इसे मुद्दा बना कर अपनी ही सरकार के खिलाफ आवाज उठाते रहे हैं। केंद, की मोदी सरकार ने कैप्टन सरकार को आपदा प्रबंधन के वास्ते जो पैसा दिया,उसका 62,00 करोड़ रूपये सरकार के पास पड़े है और कैप्टन सरकार बाढ़ प्रभावित जनता के लिए उनमें से पैसे खर्च कर सकती है, लेकिन कैप्टन सरकार जनता के लिए कोई पैसा खर्च नहीं कर रही। 

उनके अनुसार बाढ़ प्रभावित इलाकों में पानी उतरने के बाद हालात बद से बदतर हो जायेंगे और इन इलाकों में महामारी फैल सकती है। सरकार ने मेडिकल सुविधायें और दवाओं का भी उचित प्रबंध नहीं किया है। कैप्टन सरकार ने जल्द ही इन बाढ़ प्रभावित इलाकों की जनता के लिए सही प्रबंध नहीं किये तो लोग भूख-प्यास और बीमारियों के चलते मौत का ग्रास बनने लगेंगे। उन्होंने बाढ़ प्रभावित लोगों को तुरन्त मुआवजा देने की मांग की।