BREAKING NEWS

उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के बाद विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे अखिलेश यादव, कहा- वो जिंदा रहना चाहती थी◾उन्नाव पीड़िता की मौत पर बोली स्वाति मालीवाल- सरकार बलात्कार पीड़िताओं के प्रति असंवेदनशील ◾उन्नाव बलात्कार पीड़िता की मौत पर बोली प्रियंका गांधी- यह हम सबकी नाकामयाबी है हम उसे न्याय नहीं दिला पाए◾उन्नाव रेप केस: बुजुर्ग पिता की गुहार, बेटी के गुनहगारों को मिले मौत की सजा◾उन्नाव रेप पीड़िता की दर्दनाक मौत अति-कष्टदायक : मायावती◾सीएम बनने के बाद PM मोदी से पहली बार मिले उद्धव ठाकरे, सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए मुम्बई रवाना हुए मोदी ◾झारखंड विधानसभा चुनाव : सिल्ली में जीत का 'चौका' लगा पाएंगे सुदेश महतो?◾झारखंड: विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के लिए 20 सीटों पर मतदान जारी, PM मोदी ने की लोगों से वोट डालने की अपील ◾जिंदगी की जंग हार गई उन्नाव रेप पीड़िता, सफदरजंग अस्पताल में हुई मौत◾महिलायें अपने हाथ में लें देश की बागडोर : प्रियंका गांधी वाड्रा◾हैदराबाद मुठभेड़ मामले में पुलिस ने आत्मरक्षा में गोली चलाई : येदियुरप्पा◾प्रियंका गांधी वाड्रा ने ताबड़तोड़ बैठकें कर जनमुद्दों पर सरकार को जगाने की रणनीति पर चर्चा की ◾TOP 20 NEWS 6 DEC : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾भाजपा महाराष्ट्र में सरकार नहीं बना पाई, झारखंड में भी हारेगी : पी. चिदंबरम ◾हैदराबाद गैंगरेप : एनकाउंटर पर बोले पुलिस कमिश्नर-आरोपियों ने पिस्टल छीनकर की थी फायरिंग, 2 पुलिसकर्मी भी हुए घायल◾झारखंड में बोले चिदंबरम- नाकाबिल लोगों के हाथ में होने से भारी संकट में है भारत की अर्थव्यवस्था◾राष्ट्रपति को भेजी गई निर्भया गैंगरेप के दोषी की दया याचिका, गृह मंत्रालय ने की खारिज करने की मांग◾अधीर रंजन के बयान पर स्मृति का पलटवार, लोकसभा में बोलीं-रेप को राजनीतिक हथियार बनने वाले दे रहे भाषण ◾हैदराबाद गैंगरेप: आरोपियों के एनकाउंटर पर नेताओं ने दी यह प्रतिक्रिया, जाने किसने क्या कहा◾पड़ोसी देशों में उत्पीड़न के शिकार लोगों को भारतीय नागरिकता देने से बेहतर कल सुनिश्चित होगा : PM मोदी ◾

पंजाब

बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में आपदा-प्रबंधन में कांग्रेस सरकार नाकाम : श्वेत मलिक

 shvet malik

भारतीय जनता पार्टी की पंजाब इकाई के एवं सांसद श्वेत मलिक ने कहा है कि प्रदेश की कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार राज्य में बाढ़ प्रबन्धन को लेकर पूरी तरह विफल साबित हुई है। मलिक ने आज यहां कहा कि प्रदेश में हर वर्ष मानसून आने से पहले बाढ़ रोकथाम के लिए आपदा-प्रबंधन को लेकर व्यापक स्तर पर योजनायें बना कर संबंधित विभागों तथा अधिकारियों की जिम्मेवारियां लगाईं जाती हैं लेकिन मुख्यमंत्री ने ऐसा कुछ नहीं किया और इसका खामियाजा जनता को भुगतना पड़ा। 

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि इस बार मानसून पहले से ज्यादा सक्रिय रहा और कैप्टन सरकार आपदा प्रबंध को लेकर सतर्क नहीं रही जिसके कारण त्रासदी झेलनी पड़ी। बाढ़ से पहले यदि बचाव के उपाय किये गये होते तो जनता को भारी नुकसान से बचाया जा सकता था। अब बाढ़ प्रभावितों के लिए सहायता के लिए 100 करोड़ की मामूली राशि जारी की है। बाढ़ से इस बार कई जिलों में नदियों में कई जगह पर बाँध टूट गए जिनका पानी आसपास के सैकड़ गाँव तथा हजारों एकड़ में भर गया और खड़ी  फसलें डूब गई। 

श्री मलिक ने कहा कि कैप्टन सरकार ने रेत-बजरी के प्रबंधन तथा ठेकों में घोटाले किये हैं और इसके गवाह उनके अपने मंत्री भी हैं जो लगातार इसे मुद्दा बना कर अपनी ही सरकार के खिलाफ आवाज उठाते रहे हैं। केंद, की मोदी सरकार ने कैप्टन सरकार को आपदा प्रबंधन के वास्ते जो पैसा दिया,उसका 62,00 करोड़ रूपये सरकार के पास पड़े है और कैप्टन सरकार बाढ़ प्रभावित जनता के लिए उनमें से पैसे खर्च कर सकती है, लेकिन कैप्टन सरकार जनता के लिए कोई पैसा खर्च नहीं कर रही। 

उनके अनुसार बाढ़ प्रभावित इलाकों में पानी उतरने के बाद हालात बद से बदतर हो जायेंगे और इन इलाकों में महामारी फैल सकती है। सरकार ने मेडिकल सुविधायें और दवाओं का भी उचित प्रबंध नहीं किया है। कैप्टन सरकार ने जल्द ही इन बाढ़ प्रभावित इलाकों की जनता के लिए सही प्रबंध नहीं किये तो लोग भूख-प्यास और बीमारियों के चलते मौत का ग्रास बनने लगेंगे। उन्होंने बाढ़ प्रभावित लोगों को तुरन्त मुआवजा देने की मांग की।