BREAKING NEWS

TET परीक्षा : सरकार अभ्यर्थियों के साथ-योगी, विपक्ष ने लगाया युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ का आरोप◾संसद में स्वस्थ चर्चा चाहती है सरकार, बैठक में महत्वपूर्ण मुद्दों को हरी झंडी दिखाई गई: राजनाथ सिंह ◾त्रिपुरा के लोगों ने स्पष्ट संदेश दिया है कि वे सुशासन की राजनीति को तरजीह देते हैं : PM मोदी◾कांग्रेस ने हमेशा लोगों के मुद्दों की लड़ाई लड़ी, BJP ब्रिटिश शासकों की तरह जनता को बांट रही है: भूपेश बघेल ◾आजादी के 75 वर्ष बाद भी खत्म नहीं हुआ जातिवाद, ऑनर किलिंग पर बोला SC- यह सही समय है ◾त्रिपुरा नगर निकाय चुनाव में BJP का दमदार प्रदर्शन, TMC और CPI का नहीं खुला खाता ◾केन्द्र सरकार की नीतियों से राज्यों का वित्तीय प्रबंधन गड़बढ़ा रहा है, महंगाई बढ़ी है : अशोक गहलोत◾NFHS के सर्वे से खुलासा, 30 फीसदी से अधिक महिलाओं ने पति के हाथों पत्नी की पिटाई को उचित ठहराया◾कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रॉन को लेकर सरकार सख्त, केंद्र ने लिखा राज्यों को पत्र, जानें क्या है नई सावधानियां ◾AIIMS चीफ गुलेरिया बोले- 'ओमिक्रोन' के स्पाइक प्रोटीन में अधिक परिवर्तन, वैक्सीन की प्रभावशीलता हो सकती है कम◾मन की बात में बोले मोदी -मेरे लिए प्रधानमंत्री पद सत्ता के लिए नहीं, सेवा के लिए है ◾केजरीवाल ने PM मोदी को लिखा पत्र, कोरोना के नए स्वरूप से प्रभावित देशों से उड़ानों पर रोक लगाने का किया आग्रह◾शीतकालीन सत्र को लेकर मायावती की केंद्र को नसीहत- सदन को विश्वास में लेकर काम करे सरकार तो बेहतर होगा ◾संजय सिंह ने सरकार पर लगाया बोलने नहीं देने का आरोप, सर्वदलीय बैठक से किया वॉकआउट◾TMC के दावे खोखले, चुनाव परिणामों ने बता दिया कि त्रिपुरा के लोगों को BJP पर भरोसा है: दिलीप घोष◾'मन की बात' में प्रधानमंत्री ने स्टार्टअप्स के महत्व पर दिया जोर, कहा- भारत की विकास गाथा के लिए है 'टर्निग पॉइंट' ◾शीतकालीन सत्र से पूर्व विपक्ष में आई दरार, कल होने वाली कांग्रेस नेता खड़गे की बैठक से TMC ने बनाई दूरियां ◾उद्धव ठाकरे की सरकार के दो साल के कार्यकाल में विपक्ष पूरी तरह से दिशाहीन रहा : संजय राउत◾कांग्रेस Vs कांग्रेस : अधीर रंजन चौधरी के वार पर मनीष तिवारी का पलटवार◾कल से शुरू हो रहा है संसद का शीतकालीन सत्र, पेश होंगे ये 30 विधेयक◾

बेअदबी मामले में अदालत ने पहली बार सुनाया सख्त फैसला

लुधियाना- अमृतसर  : गुरू की नगरी के नाम से विख्यात जिला अमृतसर के पुलिस स्टेशन मतेवाल के अंतर्गत गांव रामदीवाली मुसलमाना में श्री गुरु ग्रंथ साहिब और गुटका साहिब जी को गुरूद्वारा बाबा जीवन सिंह में घुस कर अगिन भेंट करने और बेअदबी करने वाले तीन आरोपियों को अतिरिक्त जिला व सत्र न्यायाधीश शिव मोहन गर्ग की अदालत ने आज 7 —7 वर्ष कैद की सजा सुनाई है। प्रत्येक आरोपी को अलग अलग धाराओं के तहत 7—7 हजार रूपये अर्थिक जुर्माना की भी सजा सुनाई गई है। यह फैसला पंजाब में हुई अब तक की बेअदबी घटनाओं में अदालत ने पहली बार किसी केस में फैसला सुनाकर दोषियों को सख्त सजा दी है।

जानकारी के अनुसार थाना मत्तेवाल पुलिस ने पिछले साल 11-12 मार्च की आधी रात को गुरूद्वारा बाबा जीवन सिंह में एक दुखद घटना घटित हुई थी और गांववासियों ने पुलिस के सहयोग के साथ इस घिनौनी कार्यवाही को अंजाम देने वाले दोषी व्यक्तियों को मौके पर काबू किया था। जानकारी के मुताबिक जिस वक्त आधी रात को इस घिनौनी कार्यवाही को अंजाम दिया जा रहा था, उस वक्त गुरूद्वारा साहिब के अंदर कुछ हलचल के उपरंात आग की लपटे देखकर बाहर संगत ने अंधेरे में एक शख्स को गुरूद्वारा साहिब से बाहर भागते देखा तो वह मौजूद लोगों को गुरूद्वारा साहिब के बाहर देखकर छुप गया, जिसके बाद संगत ने उसे काबू कर लिया। जब तक पुलिस गुरूद्वारा साहिब में कार्यवाही के लिए पहुंचती तो गुरूद्वारा साहिब के अंदर लगी आग विकराल रूप धारण का चुकी थी।

हालांकि संगत ने अपने ही स्तर पर आग पर काबू करने का काफी प्रयास किया। परंतु सुखआसन पर विराजमान श्री गुरू ग्रंथ साहिब जी के 2 पावन स्वरूप और 10 के करीब गुटका साहिब अगिन भेंट हो चुके थे। पुलिस ने इस कार्यवाह के दौरान काबू किए गए शख्स को जब कड़ाई से पूछताछ की तो उसने इस घिनौनी कार्यवाही में शामिल दो साथियों के नाम भी पुलिस को बताएं, जिन्हें पुलिस ने उनके घरों से गिरफतार करके मामला दर्ज कर लिया। गिरफतार किए गए आरोपियों में 36 वर्षीय प्रेम सिंह टीटू, 20 वर्षीय शमशेरा और राजन मसीह जो उसी गांव के रहने वाले थे।

पुलिस के मुताबिक तीनों अरोपियों के खिलाफ पहले भी गुरूद्वारा साहिब की गोलक से पैसे चोरी करने, नाजायज शराब बेचने के मामले दर्ज थे। इन पर आरोप था कि यह तीनों व्यक्ति गांव के गुरुद्वारा साहिब में घटना वाले दिन घुसे थे। जिनमें से एक आरोपी श्री गुरु ग्रंथ साहिब के अंगों को फाड़ रहा था जबकि दूसरा व्यक्ति गुटका साहिब को फाड़ रहा था और तीसरा आरोपी गुरुद्वारा साहिब की गोलक को तोड़ रहा था। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था। अदालत में चली कार्रवाई के दौरान आरोप साबित होने पर अदालत ने आरोपियों को अलग अलग धाराओं में सात सात वर्ष कैदा और सात सात हजार रूपये जुर्माना की सजा सुनाई गई।

- सुनीलराय कामरेड