BREAKING NEWS

देश भर में कोरोना का प्रकोप जारी, मरने वालों का आंकड़ा 190 के पार, 6500 लोग इससे संक्रमित◾कोरोना की चपेट में आया सऊदी का शाही परिवार, किंग सलमान आइसोलेशन में◾Coronavirus : महाराष्ट्र में 24 घंटे के भीतर 25 मौतें, राज्‍य में 1,364 लोग संक्रमित ◾कोविड-19 : राजधानी दिल्ली में कोरोना के 51 नए मामले, राज्य में संक्रमितों की संख्या 720 तक पहुंची◾डॉक्टरों के साथ दुर्व्यवहार करने वालों के खिलाफ की जाएगी सख्त कार्रवाई : CM केजरीवाल◾शिया वक्फ बोर्ड ने तबलीगी जमात पर लगाया गंभीर आरोप, कहा- 1 लाख से ज्यादा लोग मारने की बनाई थी योजना◾कोरोना वायरस : स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- देश में आवश्यक उपकरणों का स्टॉक मौजूद, PPE और वेंटिलेटर की खरीद शुरु◾देश में कोरोना फैलने के लिए अनिल देशमुख ने दिल्ली पुलिस को ठहराया जिम्मेदार◾कोरोना संकट से जारी जंग में मदद के तौर पर केंद्र सरकार ने राज्यों के लिए आपात पैकेज की दी मंजूरी◾महाराष्ट्र कैबिनेट ने उद्धव ठाकरे को MLC बनाने का लिया निर्णय, राज्यपाल को भेजेंगे प्रस्ताव ◾कोरोना संकट : ओडिशा सरकार ने 30 अप्रैल तक बढ़ाई लॉकडाउन की अवधि, केंद्र से किया ये अनुरोध◾गुजरात में कोरोना के 55 नए मरीज, अकेले अहमदाबाद के 50 लोग हुए संक्रमित◾PM मोदी ने किया ट्रम्प का समर्थन, कहा- मुश्किल वक्त ही दोस्तों को लाती है करीब◾जमात प्रमुख मौलाना साद के ठिकाने का हुआ खुलासा, पुलिस फिलहाल नहीं करेगी पूछताछ ◾झारखंड में कोरोना वायरस से 1 की मौत, मरीजों की संख्या एक दिन में तिगुनी हुई ◾Coronavirus : अमेरिका में मरने वालों की संख्या 14000 के पार, 11 भारतीयों के मौत की पुष्टि◾चीन में कोविड-19 के 63 नए मामलें सामने आए, अबतक करीब 3,335 लोगों की हुई मौत ◾पूरे विश्व कोरोना वायरस का कहर जारी, अब तक वायरस से संक्रमितों की संख्या 15 लाख से अधिक हुई ◾कोविड-19 : देश में 5,734 संक्रमित मामलों की पुष्टि वहीं 166 लोगों की अब तक मौत◾Covid-19 : दवा मिलने पर भारत के फैसले से डोनाल्ड ट्रम्प के सुर बदले नजर आए, कहा- थैंक्यू PM मोदी ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaLast Update :

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

बेअदबी मामले में अदालत ने पहली बार सुनाया सख्त फैसला

लुधियाना- अमृतसर  : गुरू की नगरी के नाम से विख्यात जिला अमृतसर के पुलिस स्टेशन मतेवाल के अंतर्गत गांव रामदीवाली मुसलमाना में श्री गुरु ग्रंथ साहिब और गुटका साहिब जी को गुरूद्वारा बाबा जीवन सिंह में घुस कर अगिन भेंट करने और बेअदबी करने वाले तीन आरोपियों को अतिरिक्त जिला व सत्र न्यायाधीश शिव मोहन गर्ग की अदालत ने आज 7 —7 वर्ष कैद की सजा सुनाई है। प्रत्येक आरोपी को अलग अलग धाराओं के तहत 7—7 हजार रूपये अर्थिक जुर्माना की भी सजा सुनाई गई है। यह फैसला पंजाब में हुई अब तक की बेअदबी घटनाओं में अदालत ने पहली बार किसी केस में फैसला सुनाकर दोषियों को सख्त सजा दी है।

जानकारी के अनुसार थाना मत्तेवाल पुलिस ने पिछले साल 11-12 मार्च की आधी रात को गुरूद्वारा बाबा जीवन सिंह में एक दुखद घटना घटित हुई थी और गांववासियों ने पुलिस के सहयोग के साथ इस घिनौनी कार्यवाही को अंजाम देने वाले दोषी व्यक्तियों को मौके पर काबू किया था। जानकारी के मुताबिक जिस वक्त आधी रात को इस घिनौनी कार्यवाही को अंजाम दिया जा रहा था, उस वक्त गुरूद्वारा साहिब के अंदर कुछ हलचल के उपरंात आग की लपटे देखकर बाहर संगत ने अंधेरे में एक शख्स को गुरूद्वारा साहिब से बाहर भागते देखा तो वह मौजूद लोगों को गुरूद्वारा साहिब के बाहर देखकर छुप गया, जिसके बाद संगत ने उसे काबू कर लिया। जब तक पुलिस गुरूद्वारा साहिब में कार्यवाही के लिए पहुंचती तो गुरूद्वारा साहिब के अंदर लगी आग विकराल रूप धारण का चुकी थी।

हालांकि संगत ने अपने ही स्तर पर आग पर काबू करने का काफी प्रयास किया। परंतु सुखआसन पर विराजमान श्री गुरू ग्रंथ साहिब जी के 2 पावन स्वरूप और 10 के करीब गुटका साहिब अगिन भेंट हो चुके थे। पुलिस ने इस कार्यवाह के दौरान काबू किए गए शख्स को जब कड़ाई से पूछताछ की तो उसने इस घिनौनी कार्यवाही में शामिल दो साथियों के नाम भी पुलिस को बताएं, जिन्हें पुलिस ने उनके घरों से गिरफतार करके मामला दर्ज कर लिया। गिरफतार किए गए आरोपियों में 36 वर्षीय प्रेम सिंह टीटू, 20 वर्षीय शमशेरा और राजन मसीह जो उसी गांव के रहने वाले थे।

पुलिस के मुताबिक तीनों अरोपियों के खिलाफ पहले भी गुरूद्वारा साहिब की गोलक से पैसे चोरी करने, नाजायज शराब बेचने के मामले दर्ज थे। इन पर आरोप था कि यह तीनों व्यक्ति गांव के गुरुद्वारा साहिब में घटना वाले दिन घुसे थे। जिनमें से एक आरोपी श्री गुरु ग्रंथ साहिब के अंगों को फाड़ रहा था जबकि दूसरा व्यक्ति गुटका साहिब को फाड़ रहा था और तीसरा आरोपी गुरुद्वारा साहिब की गोलक को तोड़ रहा था। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था। अदालत में चली कार्रवाई के दौरान आरोप साबित होने पर अदालत ने आरोपियों को अलग अलग धाराओं में सात सात वर्ष कैदा और सात सात हजार रूपये जुर्माना की सजा सुनाई गई।

- सुनीलराय कामरेड