BREAKING NEWS

जम्मू-कश्मीर के सोपोर में मुठभेड़ के दौरान सेना ने 3 आतंकवादियों को किया ढेर◾योग दिवस पर बोले PM मोदी- कोरोना महामारी के दौरान योग उम्मीद की एक किरण बना हुआ है ◾BJP ने आप पर साधा निशाना, कहा - वैक्सीनेशन पर ध्यान न देकर गुजरात और पंजाब के दौरे कर रहे केजरीवाल◾जम्मू कश्मीर के सोपोर इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़◾WTC फाइनल (NZ vs IND) : डेवोन कॉनवे का अर्धशतक, न्यूजीलैंड के 2/101◾CM योगी आदित्यनाथ ने कोरोना संक्रमण के मद्देनजर अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को घर पर ही मनाने की अपील की◾PM मोदी के साथ सर्वदलीय बैठक का न्योता मिलने के बाद कश्मीर की पार्टियों में मंथन का दौर◾फारूक अब्दुल्ला ने केंद्र के वार्ता के न्योते पर जम्मू के NC नेताओं को चर्चा के लिए श्रीनगर बुलाया◾सत्ता के नशे में चूर मोदी सरकार लोगों के प्रति अपनी जिम्मेदारी पूरी तरह भूल चुकी है : सुरजेवाला ◾UP सरकार ने तय किया हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा का परिणाम फार्मूला◾अनलॉक की ओर बढ़ रहा UP, लगभग दो महीने बाद खुलेंगे रेस्टोरेंट व मॉल, जानेें कहा और कितनी दी गई रियायत ◾भाजपा पर बरसे अखिलेश, बोले- संकीर्ण राजनीति के चलते कोविड-19 टीकाकरण अभियान की गति हुई धीमी ◾केंद्रीय एजेंसियां सता रही, विधायक की उद्धव से अपील, कहा- बहुत देर होने से पहले भाजपा के साथ मेलमिलाप करना ही ठीक रहेगा◾दिल्ली में बीते चार महीने में सबसे कम कोरोना के नए मामले आए सामने, संक्रमण दर अब 0.17 फीसदी◾WHO की अपील- कोरोना को दोबारा जोर पकड़ने से रोकने के लिए स्वास्थ्य ढांचे को मजबूत बनाएं देश◾पशुपति पारस को उनके ही संसदीय क्षेत्र में घेरने की तैयारी में जुटे चिराग, हाजीपुर से निकालेंगे 'संघर्ष यात्रा'◾राज्यों के पास 3.06 करोड़ से अधिक कोरोना टीके उपलब्ध, अब तक 27 करोड़ लोगों को लगी वैक्सीन ◾राम मंदिर जमीन मामले में रणदीप सुरजेवाला की मांग- सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में हो जांच◾दिल्ली में कल से 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खुलेंगे बार, कोरोना के दिशानिर्देशों का करना होगा पालन ◾कांग्रेस ने की ‘जी-23’ की निंदा, कहा- सुधार उस चीज पर सवाल उठाने से नहीं आता, जिसका फायदा उठाया गया हो◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

क्या ब्रिटेन प्रिंस हैरी ने पंजाब की लड़की से किया था शादी का वादा, अदालत ने सपने को किया चकनाचूर

पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय ने ब्रिटेन के प्रिंस हैरी से विवाह करने के पलविंदर कौर के सपने को चकनाचूर कर दिया। पेशे से वकील पलविंदर कौर खुद अपने मुकदमे की वकालत करने पेश हुई थीं और उन्होंने विवाह करने का ‘‘वादा पूरा नहीं करने’’ को लेकर प्रिंस हैरी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई, गिरफ्तारी वारंट की मांग की थी। 

न्यायमूर्ति अरविंद सिंह सांगवान की अदालत ने महिला वकील के प्रति सहानुभूति जतायी लेकिन उनकी याचिका आठ अप्रैल को खारिज कर दी। न्यायाधीश ने कहा, ‘‘याचिकाकर्ता की बातें सुनने के बाद मुझे यह याचिका और कुछ नहीं बल्कि प्रिंस हैरी से शादी करने का दिवास्वपन लगती है।’’ 

उन्होंने यहां तक भी कहा कि यह तथा-कथित प्रिंस हैरी हो सकता है कि पंजाब के किसी गांव के साइबर कैफे में बैठा हो। शादी के संबंध में यह कथित वादा महिला वकील से एक ई-मेल के जरिए किया गया था। 

याचिकाकर्ता नामों को लेकर भी कुछ भ्रम में हैं और उन्होंने प्रिंस हैरी की भाभी केट मिडलटन के नाम के साथ उनके नाम को मिला दिया है। महिला वकील ने ब्रिटेन निवासी प्रिंस चार्ल्स मिडलटन के बेटे प्रिंस हैरी मिडलटन के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। 

महिला ने अदालत से अनुरोध किया है कि वह ब्रिटिश पुलिस को हैरी के खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दे। साथ ही उसने प्रिंस हैरी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट की भी मांग की ताकि उनके विवाह में कोई देरी ना हो। लेकिन इन सभी दलीलों का एकल पीठ पर कोई असर नहीं हुआ। 

न्यायाधीश ने अपने फैसले में कहा, ‘‘यह याचिका व्याकरण और अनुरोध करने के ज्ञान, दोनों ही दृष्टिकोण से बहुत खराब है और इसमें याचिकाकर्ता और प्रिंस हैरी के बीच किसी ईमेल की बात की गयी है जिसमें उक्त व्यक्ति ने ईमेल भेजकर जल्दी ही विवाह करने का वादा किया है।’’ 

अदालत ने याचिकाकर्ता से पूछा कि क्या वह ब्रिटेन गयी हैं, तो उसने कहा कि नहीं वह नहीं गयी है। याचिकाकर्ता ने कहा कि बातचीत सोशल मीडिया के माध्यम से हुई है और उसने प्रिंस चार्ल्स को भी संदेश भेजा है कि उसकी उनके बेटे के साथ सगाई हो चुकी है। 

न्यायाधीश ने कहा, ‘‘यह बात सभी जानते हैं कि फेसबुक, ट्विटर आदि सोशल मीडिया साइटों पर फर्जीखाते खोले जाते हैं और ऐसी बातचीत की सत्यता पर यह अदालत भरोसा नहीं कर सकती है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इसकी पूरी-पूरी संभावना है कि यह तथा-कथित प्रिंस हैरी पंजाब के गांव के किसी साइबर कैफे में बैठा हो और अपने लिए अच्छी संभावनाएं तलाश रहा हो।’’ 

अदालत ने कहा,‘‘ अदालत को इस याचिका पर संज्ञान लेने का कोई आधार नहीं मिला है और वह याचिकाकर्ता के साथ केवल सहानुभूति ही जता सकती है कि उसने ऐसी फर्जी बातचीत को सच मान लिया। लिहाजा, याचिका खारिज की जाती है।’’