BREAKING NEWS

भाजपा ने जय श्रीराम का नारा लगाकर नेताजी का अपमान कियाः ममता बनर्जी ◾किसान संगठनों का ऐलान - बजट के दिन संसद की तरफ करेंगे कूच, यह पूरे देश का आंदोलन है◾गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर सम्बोधन में बोले कोविंद - किसानों के हित के लिए सरकार पूरी तरह समर्पित ◾प्रदूषण फैलाने वाले पुराने वाहनों पर लगाया जायेगा ‘ग्रीन टैक्स’, गडकरी ने दी मंजूरी◾पंजाब के CM अमरिंदर सिंह ने किसानों से शांतिपूर्ण तरीके से ट्रैक्टर परेड निकालने की अपील की ◾कृषि कानूनों को डेढ़ साल तक निलंबित रखने का फैसला सरकार की 'सर्वश्रेष्ठ' पेशकश : नरेंद्र सिंह तोमर◾मुंबई की किसान रैली में बोले पवार - राज्यपाल के पास कंगना के लिए समय है, किसानों के लिए नहीं◾टीकों के खिलाफ अफवाहों को रोकने और उन्हें फैलाने वालों के खिलाफ केंद्र द्वारा सख्त कार्रवाई के निर्देश ◾प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की गलत नीतियों के कारण देश में आर्थिक असमानता बढ़ी : कांग्रेस ◾PM की मौजूदगी में तानों का करना पड़ा सामना, BJP का नाम होना चाहिए ‘भारत जलाओ पार्टी’ : CM ममता ◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय बाल पुरस्कार विजेताओं से किया संवाद, जीवनी पढ़ने की दी सलाह ◾राहुल के आरोपों पर बोले CM शिवराज, कांग्रेस के माथे पर देश के विभाजन का पाप◾किसानों ने ट्रैक्टर परेड के लिए तैयार किया ब्लू प्रिंट, चाकचौबंद व्यवस्था के साथ ये है गाइडलाइन्स◾PM की वजह से देश हो गया एक कमजोर और विभाजित भारत, अर्थव्यवस्था हुई ध्वस्त : राहुल गांधी ◾महाराष्ट्र में किसानों का हल्ला बोल, कृषि कानून विरोधी रैली में उतरेंगे शरद पवार-आदित्य ठाकरे ◾सिक्किम में चीनी घुसपैठ को भारतीय सैनिकों ने किया नाकाम, चीन के 20 सैनिक जख्मी◾करीब 15 घंटे तक चली भारत और चीन के बीच वार्ता, टकराव वाले स्थानों से सैनिकों को पीछे हटाने पर हुई चर्चा ◾मध्य और उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड का प्रकोप जारी, कश्मीर में न्यूनतम तापमान में गिरावट◾Covid-19 : देश में 13203 नए मामलों की पुष्टि, पिछले आठ महीने में सबसे कम लोगों की मौत ◾TOP 5 NEWS 25 JANUARY : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

एसजीपीसी में गुटबाजी के कारण व्यापक फेरबदल से कर्मचारी निराश

अमृतसर : शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) मेंं पूर्व प्रधान जत्थेदार अवतार सिंह मक्कड़ गुट के समर्थकों को हाशिये पर लाने के लिये कमेटी में कल व्यापक फेरबदल किया गया।

सिखों की संसद कही जाने वाली एसजीपीसी संस्था को अब तक गुटबाजी से दूर समझा जाता रहा लेकिन हाल की कुछ घटनाओं से यह साबित हो गया है कि धार्मिक संस्था धड़ेबंदी से मुक्त नहीं। एसजीपीसी पर बादलों का कब्जा है तथा उनकी मर्जी से ही इसके प्रधान का चुनाव होता है। जत्थेदार मक्कड़ के स्थान पर जत्थेदार कृपाल ङ्क्षसह बडूंगर को प्रधान बनाया गया था।

जत्थेदार मक्कड़ ने आज यहां कहा कि संस्था को स्वतंत्र एवं निष्पक्ष बनाये रखने की जरूरत है क्योंकि इसके कंधों पर सिखी के प्रचार का जिम्मा है। संस्था के प्रबंध संबंधी सारे अधिकार प्रधान के पास होते हैं। बहुत बड़ी संस्था होने के कारण निष्पक्ष तौर पर इसकी अहम जिम्मेदारी योज्ञ अधिकारियों को सौंपी जानी चाहिये क्योंकि अयोज्ञ लोगों के आने से कर्मचारियों की कार्यकुशलता पर प्रभाव पड़ता है। पूर्व प्रधान के निष्ठावान पदाधिकारियों को बदल दिया गया है। उन्हें हाशिये पर लाकर अन्य स्थानों पर तबादले किये हैं। उनके सचिव रहे मंजीत सिंह को उप कार्यालय कुरूक्षेत्र में सचिव के तौर पर भेजा गया है। वह अब सिख मिशनरी के साथ हरियाणा गुरुद्वारे का काम देखेंंगे।

संस्था के सचिव अवतार सिंह को उप कार्यालय चंडीगढ़ तथा आरटीआई विभाग का जिम्मा सौंपा गया है। श्री दलजीत बेदी को संस्था के प्रकाशन, औडा सिंह को खरीद फरोख्त तथा सिख इतिहास अनुसंधान बोर्ड का प्रभार दिया है। श्री परमजीतसिंह को खेल विभाग के सचिव बनाये गये हैं। कुल मिलाकर जत्थेदार बडूंगर गुट हावी दिखायी दे रहा है।

संस्था में मुख्य सचिव से लेकर निचले पदों पर अंदरूनी खींचतान का असर कर्मचारियों पर पड़ा है। कर्मचारियों का मानना है कि पहले उनकी स्थिति बेहतर थी लेकिन जत्थेदार बडूंगर के आने के बाद उन्हें लाभ दिलाने के बजाय अलग अलग फंडों के नाम पर वेतन में कटौती की जा रही है। इससे कर्मचारियोंं में रोष भी है।वे अब सुधार की मांग कर रहे हैं तथा आम चुनावों की मांग भी उठने लगी है।

- वार्ता