BREAKING NEWS

IPL-13 : 2 बार की चैंपियन KKR का सामना 3 बार की चैंपियन CSK के साथ, जानिए दोनों संभावित टीमें ◾तेजस्वी यादव का PM मोदी को जवाब, कहा- वो देश के प्रधानमंत्री हैं, कुछ भी बोल सकते हैं◾अभिनंदन की रिहाई पर PAK के खुलासे के बाद नड्डा का राहुल पर वार, शहजादे भरोसेमंद देश की ही सुन लें◾'अश्विनी मिन्ना' मेमोरियल अवार्ड में आवेदन करने के लिए क्लिक करें ◾बीएसपी ने 7 बागी विधायकों को किया निलंबित, मायावती बोलीं-सपा को हराने ले लिए BJP को भी दे सकते हैं वोट◾गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल का निधन, CM विजय रुपाणी ने दुख व्यक्त किया◾कांपते पैर, माथे पर पसीना, हमले का डर.....अभिनंदन की रिहाई पर पाकिस्तान का सच◾10 नवंबर के बाद CM नीतीश अपने पद को नहीं रख पाएंगे बरकरार, बनेगी BJP-LJP की सरकार : चिराग◾टेरर फंडिंग मामले में श्रीनगर और दिल्ली में 9 स्थानों पर NIA की छापेमारी◾देश में कोरोना के 49,881 नए मामलों की पुष्टि, मरीजों का आंकड़ा 80 लाख के पार ◾दिल्ली में वायु गुणवत्ता का स्तर ‘गंभीर स्थिति’ की श्रेणी में दर्ज, छायी प्रदूषण की चादर ◾दुनियाभर में कोरोना महामारी का कहर बरकरार, संक्रमितों का आंकड़ा 4 करोड़ 44 लाख के पार◾Bihar Election : दूसरे, तीसरे चरण में और ताकत झोंकेगी BJP, घर-घर जाकर प्रचार के लिए बनाई जा रही रणनीति ◾आज का राशिफल ( 29 अक्टूबर 2020 )◾महामारी के बीच चुनाव आयोग ने ‘अपने भरोसे के दम’ पर बिहार चुनाव कराया : EC◾भारत ने फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों पर व्यक्तिगत हमलों की कड़ी निंदा की ◾MI vs RCB : मुंबई इंडियंस ने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को 5 विकेट से हराया◾ED ने सोना तस्करी मामले में निलंबित IAS शिवशंकर को किया गिरफ्तार◾PM का पुतला जलाये जाने वाले बयान पर भाजपा ने बताया राहुल की 'राजनीतिक औकात' ◾केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को हुआ कोरोना, ट्वीट कर दी जानकारी◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

पंजाब, हरियाणा के किसान कृषि विधेयकों के खिलाफ 25 सितम्बर को करेंगे विरोध प्रदर्शन

पंजाब और हरियाणा के किसान संसद में पारित कृषि सुधार विधेयकों के खिलाफ शुक्रवार को हड़ताल करेंगे । पंजाब बंद के लिए 31 किसान संगठनों ने हाथ मिलाया है । हरियाणा में भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) समेत कई संगठनों ने कहा है कि उन्होंने विधेयकों के खिलाफ कुछ किसान संगठनों द्वारा आहूत राष्ट्रव्यापी हड़ताल का समर्थन किया है। 

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने प्रदर्शन के दौरान किसानों से कानून-व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने और कोरोना वायरस से जुड़े सभी नियमों का पालन करने की अपील की है । 

एक बयान में सिंह ने कहा कि राज्य सरकार विधेयकों के खिलाफ लड़ाई में पूरी तरह किसानों के साथ है और धारा 144 के उल्लंघन के लिए प्राथमिकी दर्ज नहीं की जाएगी । 

मुख्यमंत्री ने कहा कि हड़ताल के दौरान कानून-व्यवस्था की दिक्कतें पैदा नहीं करनी चाहिए। उन्होंने किसानों से यह सुनिश्चित करने की अपील की है कि नागरिकों को किसी तरह की दिक्कतें नहीं हो और आंदोलन के दौरान जान-माल को किसी भी प्रकार का खतरा नहीं होना चाहिए । 

भारतीय किसान यूनियन (एकता उगराहां) महासचिव सुखबीर सिंह ने हड़ताल के समर्थन में वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों, दुकानदारों से अपनी दुकानों बंद रखने की अपील की है । 

पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने भी लोगों से किसानों का समर्थन करने और हड़ताल को सफल बनाने का अनुरोध किया है । मुख्य विपक्षी आम आदमी पार्टी पहले ही अपना समर्थन दे चुकी है जबकि शिरोमणि अकाली दल ने सड़क बंद करने की घोषणा की है । 

विधेयकों के खिलाफ किसानों ने पंजाब में कई स्थानों पर बृहस्पतिवार को तीन दिवसीय रेल रोको प्रदर्शन शुरू किया और पटरियों पर धरना दिया। 

किसान संगठनों ने एक अक्टूबर से अनिश्चितकालीन रेल रोको प्रदर्शन भी शुरू करने का फैसला किया है । 

प्रदर्शनकारियों ने आशंका व्यक्त की है कि केंद्र के कृषि सुधारों से न्यूनतम समर्थन मूल्य की व्यवस्था खत्म हो जाएगी और कृषि क्षेत्र बड़े पूंजीपतियों के हाथों में चला जाएगा। किसानों ने कहा है कि तीनों विधेयक वापस लिए जाने तक वे अपनी लड़ाई जारी रखेंगे। 

हरियाणा भाकियू के प्रमुख गुरनाम सिंह ने कहा कि उनके संगठन के अलावा कुछ अन्य किसान संगठनों ने भी राष्ट्रव्यापी हड़ताल को अपना समर्थन दिया है। 

सिंह ने कहा, ‘‘हमने अपील की है कि राज्य के राजमार्गों पर धरना होना चाहिए और अन्य सड़कों पर शांतिपूर्ण तरीके से विरोध होना चाहिए। राष्ट्रीय राजमार्गों पर धरना नहीं देना चाहिए ।’’ 

सिंह ने कहा कि हड़ताल के दौरान सुबह 10 बजे से शाम चार बजे तक किसी भी प्रकार के गैरकानूनी काम में संलिप्त नहीं होना चाहिए । 

भाकियू नेता ने कहा कि कमीशन एजेंट, दुकानदारों और ट्रांसपोर्टरों से भी हड़ताल का समर्थन करने का अनुरोध किया गया है ।