BREAKING NEWS

देश में एक्टिव केस में कमी दर्ज, कोरोना मामले साढ़े 77 लाख के पार◾BJP के फ्री कोरोना वैक्सीन पर बोली शिवसेना-तुम मुझे वोट दो, हम तुम्हें वैक्सीन देंगे◾राहुल का पीएम मोदी पर तंज- तुम्हारे दावों में बिहार का मौसम गुलाबी है, मगर आंकड़े झूठे हैं और दावा किताबी है◾TOP 5 NEWS 23 OCTOBER : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾बिहार में आज से सियासी तापमान बढ़ने की उम्मीद, चुनाव प्रचार में पीएम मोदी और राहुल गांधी की एंट्री◾World Corona : विश्व में संक्रमितों का आंकड़ा 4 करोड़ 15 लाख के पार, 11 लाख 35 हजार से अधिक की मौत◾कांग्रेस ने विकास नहीं, भ्रष्टाचार की खींची लकीरें : सिंधिया◾MP विधानसभा उपचुनाव लड़ रहे तुलसीराम सिलावट एवं गोविन्द सिंह राजपूत ने मंत्री पद से दिया इस्तीफा◾आज का राशिफल ( 23 अक्टूबर 2020 )◾बिहार : विपक्ष को पसंद नहीं BJP का घोषणापत्र, कोरोना वायरस के मुफ्त टीकाकरण पर उठाए सवाल◾PAK की ओर से आतंकी संगठनों को सुरक्षित वातावरण मुहैया कराना जाना जारी : विदेश मंत्रालय ◾SRH vs RR ( IPL 2020 ) : पांडे की आकर्षक पारी, सनराइजर्स हैदराबाद की राजस्थान रॉयल्स पर आसान जीत ◾सीएम नीतीश ने लालू की बहु ऐश्वर्या से हुए 'अनुचित व्यवहार' का मुद्दा उठाकर कसा तीखा तंज ◾पीएम मोदी 24 अक्टूबर को गुजरात में तीन अहम परियोजनाओं का करेंगे उद्घाटन◾कल से बिहार के चुनावी रण में उतरेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी, करेंगे ताबड़तोड़ रैलियां ◾जेडीयू का आरजेडी से सवाल - बड़े बड़े वादे तो कर रहे हो पर इन्हें पूरा करने के लिए पैसा कहां से लाओगे ?◾मोदी सरकार द्वारा सीमाओं को सुरक्षित किये जाने से बौखलाया - घबराया हुआ है चीन : जेपी नड्डा◾BJP के वादे पर राहुल का तंज: 'अपने राज्य के चुनाव की तारीख से जानिये कब मिलेगी फ्री कोरोना वैक्सीन'◾बिहार चुनाव के घोषणा पत्र में BJP ने किया मुफ्त कोरोना वैक्सीन का वादा, विपक्ष हुआ हमलावर◾बिहार चुनाव : JDU ने जारी किया घोषणापत्र, पूरे होते वादे-अब हैं नए इरादे का दिया नारा◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

गूगल ने पंजाब सरकार की शिकायत पर अलगाववाद को बढ़ावा देने वाली एप हटाई

गूगल ने पंजाब सरकार की शिकायत के बाद अपने प्ले स्टोर से भारत विरोधी मोबाइल एप ‘2020 सिख रेफरेंडम’ हटा दी है। 

पंजाब सरकार के एक प्रवक्ता ने मंगलवार को यहां बताया कि यह एप अब भारत में मोबाइल फोन उपभोक्ताओं के लिए गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध नहीं है। 

विदेश स्थित एक समूह और भारत द्वारा प्रतिबंधित ‘‘सिख्स फॉर जस्टिस’’ अपने ‘‘2020 सिख रेफरेंडम’ अभियान के जरिए पंजाब के अलगाव की कवायद में लगा है। 

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने इस अभियान में पाकिस्तान की खुफिया सेवा के शामिल होने का आरोप लगाया। 

इस महीने की शुरुआत में उन्होंने राज्य सरकार के अधिकारियों से गूगल से संपर्क करने और साथ ही केंद्र सरकार की एजेंसियों के साथ समन्वय करने के लिए कहा था ताकि नयी एप को हटाया जा सकें। 

गूगल को आठ नवंबर को सूचना प्रौद्योगिकी कानून की धारा 79(3)बी के तहत एक नोटिस भेजकर ‘आइसटेक’ द्वारा बनाई एप को हटाने की मांग की गई। 

एप में मोबाइल उपभोक्ताओं को अलगाववाद के लिए समर्थन दिखाने के वास्ते पंजीकरण कराने के लिए कहा जाता है। सरकार ने एक बयान में कहा कि वेबसाइट ‘‘येस2खालिस्तान’’ भी इसी उद्देश्य के लिए शुरू की गई । 

राज्य सरकार ने कहा कि गूगल इंडिया इस बात से आश्वस्त हुआ कि उसके प्लेटफॉर्म का ‘‘गैरकानूनी और राष्ट्र विरोधी गतिविधियों’’ को अंजाम देने के लिए प्रतिबंधित संगठनों द्वारा दुरुपयोग किया गया।