BREAKING NEWS

कर्नाटक सरकार ने खत्म किया कोरोना का वीकेंड कर्फ्यू, लेकिन ये पाबंदी लागू ◾नेशनल वॉर मेमोरियल में जल रही लौ में मिली इंडिया गेट की अमर जवान ज्‍योति◾UP चुनाव को लेकर बढ़ाई गई टीकाकरण की रफ्तार, मतदान ड्यूटी करने वालों को दी जा रही ‘एहतियाती’ खुराक ◾भाजपा से बर्खास्त हरक सिंह रावत ने थामा कांग्रेस का दामन, पुत्रवधू भी हुई शामिल◾त्रिपुरा ना सिर्फ नयी बुलंदियों की तरफ बढ़ रहा है बल्कि "ट्रेड कॉरिडोर’’ का केंद्र भी बन रहा है : PM मोदी ◾ASP ने जारी किया घोषणापत्र, कृषि ऋण माफी और ‘मॉब लिंचिंग’ निरोधक आदि कानून लाने का किया वादा ◾UP चुनाव: योगी को मिलेगा ठाकुर समुदाय का समर्थन? जानें SP, BSP और कांग्रेस की क्या है प्रतिक्रिया ◾LG ने वीकेंड कर्फ्यू खत्म करने का प्रस्ताव ठुकराया, निजी दफ्तरों में 50% उपस्थिति पर सहमति जताई◾यूपी : चुनाव के बाद गठबंधन को लेकर बोली प्रियंका गांधी-पार्टी इस बारे में करेगी विचार ◾15 साल से कम उम्र के बच्चों के टीकाकरण में लगेगा समय, भूषण बोले- वैज्ञानिक डेटा आने के बाद होगा फैसला ◾कांग्रेस ने जारी किया ‘युवा घोषणापत्र’, दुरुस्त होगी भर्ती की प्रक्रिया, राहुल ने किया ‘नया UP’ बनाने का वादा ◾दिल्ली में टला कोरोना का खतरा? जैन बोले- नियंत्रण में स्थिति, 3-4 दिन में मिल सकती है प्रतिबंधों में और राहत ◾गोवा चुनाव : BJP के साथ रहेंगे या थामेंगे AAP का दामन? उत्पल आज करेंगे प्रेस कॉन्फ्रेंस◾इंडिया गेट पर लगेगी सुभाष चंद्र बोस की भव्य प्रतिमा, PM मोदी ने ट्वीट कर किया ऐलान◾गुजरात : PM मोदी ने सोमनाथ मंदिर के पास बने सर्किट हाउस का किया उद्घाटन, कमरे से दिखाई देगा 'सी व्यू'◾UP चुनाव में BJP ने सियासी रण में उतारे दिग्गज सितारें, शाह और नड्डा घर-घर जाकर करेंगे पार्टी का प्रचार ◾अपर्णा का अखिलेश को जवाब, BJP में शामिल होने के बाद मुलायम सिंह से लिया आशीर्वाद◾CM फेस को लेकर हुआ कांग्रेस का पोल दे सकता है विवाद को जन्म, सिद्धू को पछाड़ टॉप पर चन्नी, जानें रिजल्ट ◾चुनाव से पूर्व राजनीति ले रही दिलचस्प मोड़, योगी के खिलाफ उनके प्रतिद्वंदी की पत्नी को मैदान में उतारेगी SP? ◾CM योगी का अखिलेश पर निशाना, बोले- पलायन नहीं प्रगति और दंगा मुक्त प्रदेश चाहती है यूपी की जनता ◾

हरीश रावत की केंद्र को चेतावनी- पंजाब की बहुमत की सरकार को गिराने की न करें कोशिश

कांग्रेस महा​सचिव और पंजाब में पार्टी मामलों के प्रभारी हरीश रावत ने शुक्रवार को केंद्र सरकार को चेतावनी दी कि वह पंजाब की बहुमत की सरकार को गिराने की कोशिश न करें। उन्होंने यह भी कहा कि ​कांग्रेस नेता नवजोत सिद्धू और मुख्यमंत्री चरनजीत सिंह चन्नी की बातचीत आगे बढ़ी है। यहां एक संवाददाता सम्मेलन में रावत ने कहा कि चन्नी दलित मुख्यमंत्री हैं और सभी पार्टियों को उनका सहयोग करना चाहिए।

भाजपा की केंद्र सरकार को चेतावनी

उन्होंने कहा, “लेकिन मैं भाजपा की केंद्र सरकार को चेतावनी देता हूं कि पंजाब की बहुमत की सरकार को गिराने की कोशिश न करें।” रावत ने यह चेतावनी ऐसे समय में दी है जब पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने हाल में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की है । उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार बहुत सारे अच्छे कदम उठा रही है जिसमें हर परिवार को 300 यूनिट बिजली मुफ्त दी जाएगी। इसके अलावा, बालू पर लगा नियंत्रण भी हटाया जाएगा।

समस्या का कोई न कोई समाधान निकल आएगा

उन्होंने पंजाब के मुख्यमंत्री चन्नी और सिद्धू के बीच तनातनी के बारे में पूछे जाने पर कहा कि समस्या का कोई न कोई समाधान निकल आएगा और दोनों नेताओं के बीच बातचीत सकारात्मक तरीके से आगे बढ़ी है। रावत ने अमरिंदर सिंह को आगाह किया कि वह भाजपा का मुखौटा न बनें। उन्होंने कहा कि वह कैप्टन के उस बयान से हैरान हैं जिसमें उन्होंने अपने ‘अपमान’ की बात की है । उन्होंने कहा, “अमरिंदर सिंह से उम्मीद थी कि वह चुनौतीपूर्ण समय में कांग्रेस और सोनिया जी को मजबूती देंगे।”

अमरिंदर सिंह को कांग्रेस के उन नेताओं से तुलना कर लेनी चाहिए थी जिन्हें उनसे काफी कम मिला

उन्होंने कहा कि वह 1980 से कांग्रेस से जुडे हैं और तीन बार पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष और दो बार मुख्यमंत्री बने हैं । उन्होंने कहा, “अपमान की बात कहने से पहले उन्हें (अमरिंदर सिंह) कांग्रेस के उन नेताओं से तुलना कर लेनी चाहिए थी जिन्हें उनसे काफी कम मिला।” रावत ने कहा कि कांग्रेस विधायक दल की बैठक तब बुलाई गई जब 43 विधायकों ने कैप्टन के खिलाफ बगावती तेवर दिखाने शुरू किए और इस बैठक की सूचना उन्होंने स्वयं अमरिंदर सिंह को दी थी।

अमरिंदर ऐसे बयान कहीं किसी दवाब में तो नहीं दे रहे हैं

इस संबंध में उन्होंने आशंका जाहिर करते हुए कहा कि अमरिंदर ऐसे बयान कहीं किसी दवाब में तो नहीं दे रहे हैं। उन्होंने कैप्टन को भाजपा के जाल में न फंसने के प्रति आगाह भी किया । हांलांकि, यह पूछे जाने पर कि क्या कांग्रेस अमरिंदर सिंह की वापसी के लिए कोई प्रयास करेगी, रावत ने इस मसले पर कुछ भी कहने से इंकार कर दिया ।

जानिये कैसे 70 साल पहले जेआरडी टाटा से सरकार ने ली थी AIR INDIA, अब फिर हुई एयरलाइन की घर वापसी