BREAKING NEWS

सोनभद्र घटना : ममता ने भाजपा पर साधा निशाना ◾मोदी-शी की अनौपचारिक शिखर बैठक से पहले अगले महीने चीन का दौरा करेंगे जयशंकर ◾दीक्षित के बाद दिल्ली कांग्रेस के सामने नया नेता तलाशने की चुनौती ◾अन्य राजनेताओं से हटकर था शीला दीक्षित का व्यक्तित्व ◾जम्मू कश्मीर मुद्दे के अंतिम समाधान तक बना रहेगा अनुच्छेद 370 : फारुक अब्दुल्ला ◾दिल्ली की सूरत बदलने वाली शिल्पकार थीं शीला ◾शीला दीक्षित के आवास पहुंचे PM मोदी, उनके निधन पर जताया शोक ◾शीला दीक्षित कांग्रेस की प्रिय बेटी थीं : राहुल गांधी ◾जीवनी : पंजाब में जन्मी, दिल्ली से पढाई कर यूपी की बहू बनी शीला, फिर बनी दिल्ली की मुख्यमंत्री◾शीला दीक्षित ने दिल्ली एवं देश के विकास में दिया योगदान : प्रियंका◾शीला दीक्षित के निधन पर दिल्ली में 2 दिन का राजकीय शोक◾Top 20 News 20 July - आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने शीला दीक्षित के निधन पर जताया दुख ◾दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित का निधन, PM मोदी सहित कई नेताओं ने जताया दुख◾दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का 81 साल की उम्र में निधन◾लाशों पर राजनीति करना कांग्रेस की पुरानी परंपरा : स्वतंत्र देव सिंह◾प्रियंका की हिरासत पर पंजाब के CM अमरिंदर सिंह ने जताया विरोध◾सोनभद्र हत्याकांड : पीड़ित परिवार से मुलाकात के बाद प्रियंका गांधी ने खत्म किया धरना ◾हम हथकंडों से डरने वाले नहीं, दलितों और आदिवासियों के लिए लड़ाई जारी रहेगी : राहुल◾कांग्रेस ने योगी सरकार पर साधा निशाना, कहा - उप्र में ''जंगल राज'' सोनभद्र में हुई संस्थागत हत्याएं◾

पंजाब

हरपाल चीमा ने नवजोत सिंह सिद्धू को ‘आप’ में आने का दिया न्योता, सिद्धू को जी आया नूं.. कहते हुए कहा कि आप में शामिल होने पर मिलेगा पूरा मान-सम्मान

लुधियाना : पंजाब की कांग्रेसी सियासत में उथल-पुथल के पूर्व अनुमानों से आधारित आम आदमी पार्टी ने सूबे में सियासी जमीन पक्की करने के इरादे से कांग्रेस की कैप्टन सरकार से नाराज चल रहे केबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को आम आदमी पार्टी में आने का न्यौता दिया है। 

आप आगु और पंजाब विधानसभा में प्रतिपक्ष नेता हरपाल चीमा ने पंजाब सरकार के नए बने पॉवर मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को लुधियाना में एक संवाददाता सम्मेलन के जरिए जी आया नूं कहते हुए कहा कि ‘आप’ के दरवाजे सभी ईमानदार आगुओं के लिए खुले है। इस अवसर पर विधानसभा में विरोधी पक्ष की उपनेता बीबी सर्वजीत कौर मानकु और डॉक्टर तेजपाल सिंह गिल भी मोजूद थे। 

लोकसभा चुनाव के बाद से ही कांग्रेस में हाशिए पर चल नवजोत सिंह सिद्धू का मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ सीधे तौर पर अनबन चल रही है। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने जब से उनके विभाग में फेरबदल किया है, तब से सिद्धू चुप्पी साधे हुए हैं। यही नहीं अब उनके राजनीतिक भविष्य पर भी सवाल खड़े होने लगे हैं। लोक इंसाफ पार्टी के प्रमुख सिमरजीत सिंह बैंस और पीडीए के प्रमुख सुखपाल सिंह खैहरा सिद्धू को अपनी पार्टी में आने का न्योता दे चुके हैं। जबकि नवजोत सिंह सिद्धू प्रियंका गांधी और राहुल गांधी समेत सोनिया गांधी का साथ नहीं छोडऩा चाहते लेकिन सियासी करवटों के बीच उनका भविष्य कैसा होगा, यह तो वक्त ही बताएंगा। 

बहरहाल अब आम आदमी पार्टी भी सिद्धू पर डोरे डालने लगी है। शनिवार को लुधियाना पहुंचे आम आदमी पार्टी के विधायक व विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष हरपाल सिंह चीमा ने नवजोत सिंह सिद्धू को पार्टी में शामिल होने का न्योता दे दिया। उन्होंने कहा कि सिद्धू को पार्टी में पूरा मान सम्मान दिया जाएगा। हरपाल चीमा ने कहा कि ईमानदार लोगों के लिए आम आदमी पार्टी के दवारजे हमेशा खुले हैं। हरपाल सिंह चीमा लोकसभा चुनाव में हुई हार पर मंथन करने लुधियाना पहुंचे थे।

आम आदमी पार्टी लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद फिर से संगठन को मजबूत करने पर जोर देगी। संगठन को मजबूत करने के लिए शनिवार को पार्टी के प्रमुख नेताओं ने लुधियाना सर्किट हाउस में बैठक की। बैठक में पहले तो लोकसभा चुनाव में मिली हार के कारणों पर चर्चा की गई। जिसमें यह बात सामने आई कि लुधियाना में पार्टी संगठनात्मक तौर पर कमजोर हो चुकी है। क्योंकि चुनाव के दिन खासकर शहरी क्षेत्रों में तो पार्टी के बूथ भी नहीं लग पाए थे। वहीं दूसरी तरफ ऐन मौके पर जिला प्रधान व यूथ विंग के प्रधान ने पार्टी को अलविदा कह दिया था। जिसके कारण संगठनात्मक ढांचा पूरी तरह से चरमरा गया।

इस बैठक में फैसला लिया गया कि अब विधानसभा चुनाव पर फोकस किया जाए। इसके लिए सबसे पहले संगठन को मजबूत किया जाए। उसके बाद ही आगे की तैयारी की जाए। हरपाल सिंह चीमा ने बताया कि पार्टी पदाधिकारियों के साथ बैठक की गई। जिसमें अलग अलग बिंदुओं पर चर्चा की गई। उन्होंने कहा कि जल्दी ही लुधियाना शहरी के जिला प्रधान की नियुक्ति की जाएगी और उसके बाद कार्यकर्ता विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुट जाएंगे। उन्होंने बताया कि पार्टी का फोकस विधानसभा चुनाव 2022 पर है।

- रीना अरोड़ा